ताज़ा खबर
 

Share Market crashes: बाजार खुलते ही शेयर मार्केट हुआ धड़ाम, BSE सेंसेक्स 1,100 अंक लुढ़का, निफ्टी में 300 से ज्यादा की गिरावट

Share Market crashes: बीएसई सेंसेक्स 1100 अंकों की बड़ी गिरावट के साथ खुला, जबकि निफ्टी में भी 300 से ज्यादा अंकों की गिरावट आई। करीब पौने 10 बजे सेंसेक्स 1070 की गिरावट के साथ 38675 के स्तर पर था।

खुलते ही शेयर बाजार में मचा हाहाकार

Share Market crashes: दुनिया भर के शेयर बाजारों में गिरावट का असर भारत में भी देखने को मिला है। शुक्रवार को बाजार खुलते ही बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के बीएसई सेंसेक्स में जोरदार गिरावट देखने को मिली है। बीएसई सेंसेक्स 1100 अंकों की बड़ी गिरावट के साथ खुला, जबकि निफ्टी में भी 300 से ज्यादा अंकों की गिरावट आई। करीब पौने 10 बजे सेंसेक्स 1070 की गिरावट के साथ 38675 के स्तर पर था। इसके अलावा निफ्टी की बात करें तो यह 322 अंक लुढ़ककर 11,310 के स्तर पर है। शेयर मार्केट के जानकारों के मुताबिक इतनी बड़ी गिरावट के चलते 5 मिनट में ही शेयर बाजार में लगे 5 लाख करोड़ रुपये डूब गए।

यह गिरावट किसी एक सेक्टर की कंपनियों के शेयरों के लुढ़कने के चलते नहीं आई है बल्कि बैंकिंग से लेकर ऑटो तक तमाम क्षेत्रों में कमजोरी देखने को मिली है। वोडाफोन आइडिया, यस बैंक, टाटा मोटर्स, जीएमआर इन्फ्रास्ट्रक्चर, भारतीय स्टेट बैंक, इंडियाबुल्स हाउसिंग, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड, पंजाब नेशनल बैंक, वेदांता और अशोल लेलैंड समेत तमाम कंपनियों के शेयर बुरी तरह लुढ़के हैं।

शेयर मार्केट के जानकारों का कहना है कि कोरोना वायरस के चलते एशिया के बड़े शेयर बाजार जापान के निक्केई और चीन के शंघाई मार्केट में बड़ी गिरावट आई है। इसके अलावा यूरोप और मध्य पूर्व के देशों तक इस संक्रमण के फैलने से यूरोपीय और अमेरिकी बाजार में भी सुस्ती देखने को मिली है। पूरी दुनिया के शेयर बाजारों में बिकवाली के दौर का असर भारतीय मार्केट पर भी देखने को मिल रहा है।

हालांकि एक तरफ जहां शेयर मार्केट में लगातार गिरावट का दौर जारी है, वहीं सोने की कीमतों में तेजी से इजाफा हो रहा है। कोरोना के चलते निवेशक सोने को सबसे सुरक्षित मानकर चल रहे हैं। बुलियन मार्केट के जानकारों का भी कहना है कि सोने की कीमतों में ग्रोथ का सिलसिला अभी थमने वाला नहीं है और यह लंबा चलेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 Employee’s Provident Fund Organisation: प्रोविडेंट फंड पर ब्याज में कटौती की तैयारी, इस साल इन्क्रीमेंट भी कम होने की आशंका
2 Scheme for Farmer’s in India: 10 साल में डेढ़ गुना से ज्यादा बढ़ गई किसानों की कमाई, 2022 तक होगी दोगुनी?
3 2,000 Rupee notes in circulation: एटीएम में कम हो रहे 2000 रुपए के नोट, आया वित्त मंत्री न‍िर्मला सीतारमण का बयान