scorecardresearch

Anand Mahindra Tweet: शेयर बाजार में भारी गिरावट को देख बोले आनंद महिंद्रा “21वीं सदी के विश्व युद्ध में आपका स्वागत है”

Anand Mahindra Tweet : महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा सोशल मीडिया पर आम जनता के बीच समाजिक और आर्थिक मुद्दों पर अपनी राय रखने के लिए जाने जाते हैं।

Anand Mahindra| Anand Mahindra Tweets|share Market fall
महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा(फाइल फोटो)

शेयर बाजार में गिरावट का दौर है, जिससे निवेशकों को बड़ी संख्या में नुकसान हो रहा है। इस गिरावट का मुख्य कारण रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध को बताया जा रहा है। बाजार की इस गिरावट पर देश के दिग्गज उद्योगपति और महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने सोशल मीडिया पर चिंता जाहिर की और इसे 21वीं सदी का विश्व युद्ध बताया।

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट किया “यह आश्चर्य की बात नहीं है क्योंकि दुनिया प्रभावी तौर पर एक जंग में है। शारीरिक लड़ाई तो एक देश में हो सकती है, लेकिन राजनीतिक, आर्थिक, साइबर, सोशल मीडिया और उपयोगी संसाधनों के बीच लड़ाई की रेखा खींच दी गई है और वैश्विक है। 21वीं सदी के विश्व युद्ध में आपका स्वागत है।”

शेयर बाजार में भारी गिरावट: रूस यूक्रेन युद्ध के कारण शेयर बाजार में भारी गिरावट हुई है। आज बाजार में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का मुख्य सूचकांक निफ़्टी50 15,900 के स्तर के नीचे खुला जबकि बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) सूचकांक का सेंसेक्स 1200 अंक की गिरावट के साथ 53,100 अंक पर खुला। इस कारोबारी सत्र के दौरान शेयर बाजार में गिरावट बढ़कर दोपहर 2:32 बजे सेंसेक्स में 1632 अंक और निफ़्टी50 में 444 अंक हो गई।

कच्चे तेल में आया उबाल: रूस विश्व में कच्चे तेल का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है। ऐसे में रूस के युद्ध में जाने के बाद दुनिया में कच्चे तेल की आपूर्ति प्रभावित हुई है। अमेरिका और पश्चिमी देशों द्वारा लगाए प्रतिबंधों के कारण रूस अपना 65 फीसदी तेल दुनिया के बाजारों में बेच नहीं पा रहा है, जिस कारण आज सोमवार को अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत अपने 14 साल के सबसे उच्चतम स्तर 130 डॉलर प्रति बैरल को छू गई।इसके अलावा एलमुनियम, कॉपर, स्टील अन्य धातुओं की कीमत में तेजी देखी जा रही है।

इस बात से सहमत हुए : आनंद महिंद्रा के ट्वीट का जवाब देते हुए प्रफुल नाम के ट्वीटर यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा “हमारी अर्थव्यवस्था और विश्व में शांति लाने के लिए इस समय भारत को एक शक्तिशाली भूमिका निभानी होगी। पिछले 2 सालों में दुनिया महामारी के दौर से गुजरी है और अब हम यह युद्ध नहीं चाहते हैं” जिसका जवाब देते हुए लिखा कि “सहमत हूँ”।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.