Share market Closed as Sensex Down-शुरुआती मज़बूती के बावजूद बाजार टूटा, सेंसेक्स तीन महीने के निचले स्तर पर - Jansatta
ताज़ा खबर
 

शुरुआती मज़बूती के बावजूद बाजार टूटा, सेंसेक्स तीन महीने के निचले स्तर पर

बीएसई का तीस शेयर आधारित सेंसेक्स 143.63 अंक टूटकर 27,529.97 अंक पर बंद हुआ जो कि आठ जुलाई के बाद का इसका निचला स्तर है।

Author मुंबई | October 17, 2016 9:21 PM
शेयर बाजार (फाइल फोटो)

वैश्विक बाजारों से कमजोर रुख के बीच बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स सोमवार (17 अक्टूबर) को शुरुआती मजबूती को कायम नहीं रख पाया और लगभग 144 अंक की गिरावट दिखाता हुआ लगभग तीन महीने के निचले स्तर पर बंद हुआ। कारोबारियों का कहना है कि टीसीएस व इन्फोसिस सहित प्रमुख कंपनियों के वित्तीय परिणाम निवेशकों को प्रभावित करने में विफल रहे। बीएसई का तीस शेयर आधारित सेंसेक्स 143.63 अंक टूटकर 27,529.97 अंक पर बंद हुआ जो कि आठ जुलाई के बाद का इसका निचला स्तर है। शुक्रवार को सेंसेक्स 30 अंक चढ़कर बंद हुआ था। एनएसई का निफ्टी भी 63 अंक टूटकर 8,520.40 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 8615.40 और 8,506.15 अंक के दायरे में रहा।

विश्लेषकों का मानना है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था के बारे में फेडरल रिजर्व की प्रमुख जेनेट येलन की टिप्पणी से भी बाजार प्रभावित हुआ। जेनेट से संकेत दिया है कि अर्थव्यवस्था में नई जान फूंकने के लिए आक्रामक कदमों की जरूरत है। इससे वैश्विक बाजारों में कमजोरी का रुख रहा। पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में बढोतरी के चलते भारत पेट्रोलियम, इंडियन आयल व हिंदुस्तान पेट्रोलियम के शेयर में गिरावट देखने को मिली।

जियोजित बीएनपी परिबा फिनांशल सर्विसेज के प्रमुख बाजार रणनीतिकार आनंद जेम्स ने कहा,‘ वैश्विक बाजारों में बेचैनी तथा एफआईआई की सतत बिकवाली से कारोबार धारणा प्रभावित हुई।’ बैंकिंग के अलावा सभी अन्य खंडवार शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। सूचकांक आधारित 30 में से 24 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। बिकवाली दबाव से महिंद्रा एंड महिंद्रा का शेयर 3.22 प्रतिशत, हीरो मोटोकार्प का 2.24 प्रतिशत, एशियन पेंट्स का शेयर 2.07 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक का 1.87 प्रतिशत, बजाज आटो का 1.80 प्रतिशत, एलएंडटी का शेयर 1.71 प्रतिशत व आरआईएल का शेयर 1.67 प्रतिशत टूटा। चीन, हांगकांग व जापान के शेयर में नरमी का रुख देखने को मिला।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App