ताज़ा खबर
 

सेंसेक्‍स ने पहली बार पार किया 31 हजार का आकंड़ा, निफ्टी भी 9 हजार के पार

कारोबार के बीच में सूचकांक का पिछला उच्चस्तर 30,793.43 अंक था।

गुरुवार को सेंसेक्स में उछाल देखने को मिली।

रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा स्टील और आईटीसी के शेयरों में हुई वृद्धि के कारण बीएसई के सेंसेक्स और एनएसई के निफ्टी क्रमश: 31,000 और 9,600 अंक के नए उच्चतम स्तर को छू लिया। बाजार बंद होने के समय सेंसेक्स 278.18 अंकों की तेजी के साथ 31,028.21 पर तथा निफ्टी 85.35 अंकों की तेजी के साथ 9,595.10 पर बंद हुआ। बाजार विश्लेषकों का कहना है कि तिमाही नतीजों, रुपये में मजबूती और सुधार को लेकर सरकार की प्रतिबद्धता तथा बेहतर मॉनसून की उम्मीद के कारण बाजार में तेजी आई है। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 15.74 अंकों की तेजी के साथ 30,765.77 पर खुला और 278.18 अंकों या 0.90 फीसदी की बढ़त के साथ 31,028.21 पर बंद हुआ। दिन भर के कारोबार में सेंसेक्स ने 31,074.07 के ऊपरी और 30,745.57 के निचले स्तर को छुआ। बीएसई के मिडकैप सूचकांक में 2.06 फीसदी और स्मॉलकैप सूचकांक में 1.60 फीसदी तेजी दर्ज की गई।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसी) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 2 अंकों की गिरावट के साथ 9,507.75 पर खुला और 85.35 अंकों या 0.90 फीसदी की तेजी के साथ 9,595.10 पर बंद हुआ। दिन भर के कारोबार में निफ्टी ने 9,604.90 के ऊपरी और 9,495.40 के निचले स्तर को छुआ। बीएसई के 19 में से 18 सेक्टरों में तेजी रही। धातु (3.40 फीसदी), ऊर्जा (2.20 फीसदी), आधारभूत सामग्री (2.11 फीसदी), तेल और गैस (2.08 फीसदी) और औद्योगिक (1.83 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। बीएसई के एक सेक्टर – स्वास्थ्य सेवाएं (0.76 फीसदी) में गिरावट देखी गई।

बीएसई में कारोबार का रुझान सकारात्मक रहा। कुल 1,822 शेयरों में तेजी और 851 में गिरावट रही, जबकि 175 शेयरों के भाव में कोई बदलाव नहीं हुआ। एचडीएफडी सिक्युरिटीज के प्रमुख (खुदरा शोध) दीपक जासानी ने आईएएनएस को बताया, “शुक्रवार को शेयर बाजार नई ऊंचाइयों पर पहुंच गया। इसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) और आईटीसी के शेयरों में आई तेजी की प्रमुख भूमिका रही। वहीं, बीएसई का मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांक भी नई ऊंचाइयों पर बंद हुआ।”

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य बाजार विश्लेषक आनंद जेम्स ने कहा, “रुपये की मजबूती ने निवेशकों का उत्साह बढ़ाया है। तनावग्रस्त संपत्तियों (फंसे हुए कर्जो) को लेकर होने वाली आरबीआई की बैठक के कारण बैंकिंग शेयरों में तेजी आई है। जबकि फार्मा क्षेत्र अभी भी संघर्ष कर रहा है।” शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपये में 17 पैसे की बढ़ोतरी हुई और यह 64.44-45 के स्तर पर बंद हुआ, जबकि गुरुवार को यह 64.61 पर बंद हुआ था।

ट्रेड स्मार्ट ऑनलाइन के संस्थापक-निदेशक विजय सिंघानिया का कहना है कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व की 2-3 मई को हुई नीतिगत बैठक के मिनट्स ने निवेशकों का उत्साह बढ़ाया है। उन्होंने कहा, “फेड रिजर्व ने संकेत दिया है कि दरों में बढ़ोतरी से पहले और अधिक आंकड़े का इंतजार करेगी। इसके निवेशकों ने लघु अवधि में निवेश बढ़ा दिया है।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 BSNL ने शुरु की सैटेलाइट सर्विस, बिना नेटवर्क के भी फोन पर कर सकेंगे फोन बात
2 HSBC की रिपोर्ट: जीएसटी लागू होने से महंगाई मीटर पर नहीं पड़ेगा कोई असर, जीडीपी भी 40 से 80 बेसिक प्वाइंट ही बढ़ेगी
3 28 साल में पहली बार मूडीज ने ग‍िराई चीन की रेटिंग