ताज़ा खबर
 

शेयर बाजार अपडेट, 25 जनवरी 2018: 111 प्वॉइंट्स टूटकर 36050 पर बंद हुआ सेंसेक्स, निफ्टी भी लुढ़का

Sensex, Nifty, NSE, BSE Share/Stock Price Today: निवेशकों की कुल धारणा सतर्कता की है और आम बजट को लेकर वे देखो और इंतजार करो की नीति अपना रहे हैं।

Author मुंबई | January 25, 2018 4:50 PM
बुधवार को शेयर बाजार में गिरावट आई।

बंबई शेयर बाजार में गुरुवार को छह दिन से जारी तेजी के सिलसिले पर ब्रेक लगा और सेंसेक्स 111 अंक टूटकर रिकॉर्ड स्तर से फिसलकर 36,050.44 अंक पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 16.35 अंक या 0.15 प्रतिशत के नुकसान से रिकॉर्ड स्तर से नीचे आ गया और 11,069.65 अंक पर बंद हुआ। निवेशकों की कुल धारणा सतर्कता की है और आम बजट को लेकर वे देखो और इंतजार करो की नीति अपना रहे हैं। गणतंत्र दिवस पर शुक्रवार को बाजार बंद रहेगा।

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स गुरुवार को शुरुआती कारोबार में 36,247.02 अंक तक गया। बाद में नकारात्मक रुख से यह 36,000 अंक के स्तर से नीचे 35,823.35 अंक तक आया। डेरिवेटिव सौदों के निपटान की वजह से निवेशकों ने रिकॉर्ड स्तर पर मुनाफा काटा जिससे बाजार में गिरावट आई। हालांकि, शॉर्ट कवरिंग से यह कुछ सुधरा और अंत में 111.20 अंक या 0.31 प्रतिशत के नुकसान से 36,050.44 अंक पर बंद हुआ। इससे पिछले छह सत्रों में सेंसेक्स 1,390.53 अंक चढ़ा था।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी लगातार नकारात्मक दायरे में रहने के बाद दिन के निचले स्तर 11,009.20 अंक तक आया। अंत में यह 16.35 अंक या 0.15 प्रतिशत के नुकसान से 11,069.65 अंक पर बंद हुआ। शेयर बाजारों में लगातार आठवीं साप्ताहिक बढ़त दर्ज हुई। साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 538.86 अंक या 1.51 प्रतिशत लाभ में रहा। वहीं निफ्टी साप्ताहिक आधार पर 174.95 अंक या 1.60 प्रतिशत लाभ में रहा।

बता दें कि शेयर बाजारों में मिले-जुले रुख के बीच सेंसेक्स और निफ्टी का रिकॉर्ड बनाने का सिलसिला बुधवार को भी था। कंपनियों के बेहतर तिमाही नतीजों से शेयर बाजार नई ऊंचाई पर पहुंच गए लेकिन दूरसंचार क्षेत्र के शेयरों पर बिकवाली का दबाव था। रिलायंस जियो ने कुछ प्लान पर अतिरिक्त डाटा देने की घोषणा की है। इससे दूरसंचार कंपनियों के शेयर 6.5 प्रतिशत तक नीचे आ गए थे। इस घोषणा के बाद दूरसंचार क्षेत्र में शुल्कों को लेकर संघर्ष और तेज होगा। मंगलवार को जनवरी के डेरिवेटिव अनुबंधों के निपटान से पहले भी बाजार को रफ्तार मिली थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App