ताज़ा खबर
 

शेयर बाजार अपडेट, 18 जनवरी 2018: सेंसेक्स अब तक सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंचा, निफ्टी में भी अच्छी बढ़त

Sensex, Nifty, NSE, BSE Share/Stock Price Today: शेयर मार्केट खुलते ही सेंसेक्स में करीब 400 अंको की बढ़त देखी गई वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी में भी 100 अंकों की बढ़त देखी गई। सेंसेक्स 17 जनवरी को 310 अंकों की बढ़त के साथ बंद हुआ था।

बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज। (Express Photo)

सेंसेक्स ने गुरुवार (18 जनवरी) को मार्केट खुलते ही रिकॉर्ड बना दिया। शेयर बाजार खुलते ही सेंसेक्स अब तक के अपने सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। वहीं निफ्टी भी बढ़त में पीछे नहीं रहा। शेयर बाजार खुलते ही सेंसेक्स करीब 400 अंको की बढ़त के साथ 35,466 पर पहुंच गया। वहीं निफ्टी भी करीब 100 अंकों की बढ़त के साथ 10,880 के स्तर पर पहुंच गया। आपको बता दें कि बुधवार (17 जनवरी) को सेंसेक्स 310 अंकों की बढ़त के साथ पहली बार 35,000 अंक के स्तर से ऊपर बंद हुआ था। वहीं चौतरफा लिवाली से एनएसई निफ्टी भी अब तक के उच्चतम स्तर पर बंद हुआ था। तीस शेयरों वाला सेंसेक्स बुधवार को 310.77 अंक या 0.89 प्रतिशत की बढ़त के साथ 35,081.82 अंक पर बंद हुआ था। इससे पहले, 16 जनवरी को बीएसई का तीस शेयर आधारित सेंसेक्स 72 अंक टूटकर 34,771.05 अंक पर बंद हुआ था। वहीं 15 जनवरी को यह 34,843.51 अंक के रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ था। कारोबार के दौरान यह 35,118.61 अंक तक चला गया था। सेंसेक्स 17 कारोबारी दिन में 34,000 से 35,000 अंक पर पहुंच गया है। सेंसेक्स 26 दिसंबर को 34,000 अंक पर पहुंचा था।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी बुधवार (17 जनवरी) को 88.10 अंक या 0.82 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10,788.55 अंक पर बंद हुआ था। इससे पहले 16 जनवरी को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 41.10 अंक की गिरावट दिखाता हुआ 10,700.45 अंक पर बंद हुआ था। वहीं 15 जनवरी को यह 10,782.65 अंक के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा था। कारोबार के दौरान निफ्टी 10,803 अंक तक चला गया था। कारोबारियों के अनुसार सरकार ने चालू वित्त वर्ष में अतिरिक्त कर्ज की जरूरत को 50,000 करोड़ रुपए से कम कर 20,000 करोड़ रुपए कर दिया है।

अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 16 जनवरी को 693.17 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 246.38 करोड़ रुपए के शेयर बेचे। 16 जनवरी को बाजार में गिरावट के बाद बाजार सूत्रों का कहना था कि अन्य एशियाई बाजारों से मजबूत संकेतों तथा ब्लूचिप कंपनियों के बेहतर वित्तीय परिणामों से बाजार धारणा को बल मिला। इसके साथ ही औद्योगिक उत्पादन वृद्धि के बेहतर आंकड़ों का भी बाजार पर अनुकूल असर पड़ा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App