ताज़ा खबर
 

सेंसेक्स में 7 अंक की मामूली गिरावट, निफ्टी 8897 पर बंद

घरेलू बाजार में सेंसेक्स के 16 शेयरों में गिरावट जबकि 14 में मजबूती रही।

Author मुंबई | March 3, 2017 6:34 PM
शेयर बाज़ार में शुक्रवार (3 मार्च) की स्थिति। (पीटीआई ग्राफिक्स)

बाजार में पिछले छह सप्ताह में साप्ताहिक आधार पर पहली बार गिरावट दर्ज की गयी। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स शुक्रवार (3 मार्च) को 7.34 अंक या 0.03 प्रतिशत की हल्की गिरावट के साथ 28,832.45 अंक पर बंद हुआ। दोनों सूचकांक में शुक्रवार को समाप्त हुए सप्ताह में गिरावट दर्ज की गई। पिछले छह सप्ताह में यह पहला मौका है जब शेयर बाजारों में साप्ताहिक आधार पर गिरावट दर्ज की गयी है। तीस शेयरों वाला सेंसेक्स एक समय न्यूनतम स्तर 28,176.21 अंक पर पहुंच गया लेकिन बाद में इसमें सुधार हुआ और अंत में यह मामूली 7.34 अंक या 0.03 प्रतिशत की गिरावट के साथ 28,832.45 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स में गुरुवार को 145 अंक की गिरावट दर्ज की गयी थी। हाल की तेजी के बाद निवेशकों ने मुनाफावसूली की जिससे बाजार में गिरावट आयी।

इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 2.20 अंक या 0.02 प्रतिशत की हल्की गिरावट के साथ 8,897.55 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 8,860.10 से 8,907.10 अंक के दायरे में रहा। साप्ताहिक आधार पर बीएसई सेंसेक्स में 60.52 अंक या 0.20 प्रतिशत तथा निफ्टी में 41.95 अंक या 0.46 प्रतिशत की गिरावट आयी। इसके साथ पांच सप्ताह से जारी तेजी पर विराम लगा। दिल्ली के एक एनएसई ब्रोकर मनोज चोररिया ने कहा, ‘बाजार कारोबार के दौरान न्यूनतम स्तर से बाहर आया। इसका कारण मजबूत बुनियाद के चलते निवेशकों की निचले स्तर पर शेयरों की लिवाली रही।’ एशिया के दूसरे बाजारों में गिरावट के कारण वैश्विक स्तर पर रुख कमजोर रहा।

जापान का निक्केई 0.49 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग सूचकांक 0.64 प्रतिशत तथा चीन का शंघाई कंपोजिट सूचकांक 0.36 प्रतिशत नीचे रहा। इसके अलावा दक्षिण कोरिया, ताइवान और सिंगापुर के बाजारों में भी गिरावट रही। लंदन का एफटीएसई 0.35 प्रतिशत, फ्रांस का सीएसी-40 सूचकांक 0.27 प्रतिशत तथा फ्रैंकफर्ट डीएएक्स 0.52 प्रतिशत शुरूआती कारोबार में नीचे रहे। घरेलू बाजार में सेंसेक्स के 16 शेयरों में गिरावट जबकि 14 में मजबूती रही। एचडीएफसी में 1.89 प्रतिशत की गिरावट रही। उसके बाद एशियन पेंट्स का स्थान रहा जो 1.34 प्रतिशत नीचे आया। नुकसान में रहने वाले अन्य शेयरों में आईटीसी, आईसीआईसीआई बैंक, एसबीआई, मारुति सुजुकी, महिंद्रा एंड महिंद्रा, भारती एयरटेल तथा टीसीएस शामिल हैं।

वहीं दूसरी तरफ रिलायंस इंडस्ट्रीज में 2.04 प्रतिशत की तेजी आयी और मई 2008 के बाद यह उच्च स्तर पर पहुंच गया। गेल में सर्वाधिक 3.56 प्रतिशत की तेजी रही। चीनी उत्पादन में 19 प्रतिशत की गिरावट की खबर से चीनी कंपनियों के शेयर चमक में रहे। चीनी उत्पादन विपणन वर्ष 2016-17 के पहले पांच महीने में 19 प्रतिशत घटकर 1.62 करोड़ टन रहने का अनुमान जताया गया गया है। धामपुर शुगर, द्वारिकेश शुगर, के एम शुगर, अपर गंगेज शुगर और शक्ति शुग 11.82 प्रतिशत तक मजबूत हुए।

वर्ल्ड बैंक की CEO ने की नोटबंदी की तारीफ; कहा- "भारत की अर्थव्यवस्था पर होगा सकरात्मक असर"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App