ताज़ा खबर
 

बीएसई के आईपीओ प्रस्ताव को सेबी की मंजूरी, ₹1500 करोड़ जुटाने की उम्मीद

बंबई शेयर बाजार में करीब 9,000 शेयरधारक हैं जिनमें मूल रूप से शेयर ब्रोकर ही शेयरधारक हैं।

Author नई दिल्ली | January 3, 2017 5:43 PM
बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई)

एशिया के सबसे पुराने बंबई शेयर बाजार (बीएसई) को पूंजी बाजार नियामक सेबी से शेयरों का प्रारम्भिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) लाने की मंजूरी मिल गयी है। बीएसई को आईपीओ से 1,500 करोड़ रुपए जुटाने की उम्मीद है। बीएसई के इस बहुप्रतिक्षित आईपीओ में उसके मौजूदा शेयर धारकों द्वारा 2,99,55,434 शेयरों की बिक्री पेशकश की उम्मीद है। शेयरों की यह संख्या उसके कुल शेयरों का
30 प्रतिशत है। बीएसई के मौजूदा शेयरधारकों में बजाज होल्डिंग्स इनवेस्टमेंट, काल्डवैल इंडिया होल्डिंग्स, आकासिया बानयान पार्टनर्स, सिंगापुर एक्सचेंज, अमेरिकी निवेशक जार्ज सोरोस की मॉरीशस स्थित इकाई क्वांटम फंड और फारेन फंड एटीकस शामिल हैं। एक्सचेंज ने सितंबर में पूंजी बाजार नियामक के पास आईपीओ लाने के लिये दस्तावेज दाखिल कर दिये थे। बीएसई को इस संबंध में 30 दिसंबर को सेबी की ओर से टिप्पणी प्राप्त हो गई थी। किसी भी कंपनी के लिये आईपीओ लाने के लिये यह जरूरी होता है।

सूत्रों के अनुसार बीएसई का आईपीओ 1,500 करोड़ रुपए का हो सकता है जिसमें प्रति शेयर पेशकश मूल्य 500 रुपए हो सकता है। बंबई शेयर बाजार में करीब 9,000 शेयरधारक हैं जिनमें मूल रूप से शेयर ब्रोकर ही शेयरधारक हैं। पिछले कई सालों में कुछ विदेशी निवेशक और घरेलू वित्त संस्थानों ने भी बीएसई के शेयर हासिल किये हैं। आईपीओ के जरिये उन्हें बाहर निकलने का रास्ता मिलेगा। बीएसई के शेयर एनएसई में सूचीबद्ध होंगे। सेबी के नियम के मुताबिक किसी एक्सचेंज के शेयर उसी एक्सचेंज में सूचीबद्ध नहीं हो सकते। प्रतिद्धंदी एनएसई ने भी पिछले सप्ताह ही आईपीओ के लिये मसौदा पत्र सेबी को सौंपा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App