ताज़ा खबर
 

SBI ने फिक्स डिपॉजिट पर बढ़ाया ब्याज दर, जानें किस अवधि में सबसे ज्यादा फायदा

बैंक ने एक करोड़ से कम के फिक्स डिपॉजिट पर लागू किए गए नए रेट 30 जुलाई 2018 से लागू कर दिए हैं। एसबीआई ने एक साल से अधिक की मेच्योरिटी के साथ एफडी पर ब्याज दर में बढ़ोतरी की है।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फाइल फोटो)

देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने बैंक सावधि जमा या एफडी पर ब्याज दरें बढ़ा दी हैं, अब अन्य बैंक भी इससे प्रेरणा लेकर दरें बढ़ा सकते हैं। बैंक ने एक करोड़ से कम के फिक्स डिपॉजिट पर लागू किए गए नए रेट 30 जुलाई 2018 से लागू कर दिए हैं। एसबीआई ने एक साल से अधिक की मेच्योरिटी के साथ एफडी पर ब्याज दर में बढ़ोतरी की है। बैंक एक साल से ज्यादा और 2 साल से कम की मेच्योरिटी के लिए एफडी पर 6.70% की ब्याज दर की पेशकश कर रहा है, पहले यह ब्याज दर 6.65% थी। वहीं अब 2 साल से ज्यादा और 3 साल से कम समय की एफडी पर बैंक 6.75 फीसदी का ब्याज दे रहा है। पहले यह ब्याज दर 6.65 फीसदी थी।

इसके अलावा बैंक 3 से 5 साल के डिपॉजिट पर 6.80 फीसदी की ब्याज दे रहा है। वहीं यह ब्याज दर पहले 6.70 फीसदी थी। वहीं 5 साल से 10 साल की एफडी पर बैंक अब 6.85 फीसदी की ब्याज दे रही है जबकि पहले यह ब्याज दर 6.75 फीसदी की थी। स्टेट बैंक की टैक्स सेविंग डिपॉजिट पर भी ब्याज दर बढ़ा दी गई है। टैक्स सेविंग FD कम से कम 5 साल की है। इस एफडी पर 80सी के तहत टैक्स में छूट दी जाती है। इस पर भी ब्याज दर में बढ़ोतरी की गई है। पहले इस तरह की एफडी पर 6.75 फीसदी ब्याज मिलता था और अब 6.85 फीसदी मिलेगा।

सीनियर सिटीजन के लिए भी फिक्स डिपॉजिट पर मिलने वाले ब्याज दर में बदलाव किया गया है। 1 से 2 साल के लिए किए गए फिक्स डिपॉजिट पर 7.20 फीसदी का ब्याज दिया जा रहा है। यह दर पहले 7.15 फीसदी थी। वहीं 2 से 3 साल के लिए FD पर 7.25 फीसदी दिया जा रहा है। यह पहले 7.15 फीसदी दिया जाता था। 3 से 5 साल के लिए 7.30 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है। यह दर पहले 7.20 फीसदी दिया जा रहा है। इसके अलावा 5 साल से ज्यादा के डिपॉजिट पर 7.35 फीसदी का ब्याज दिया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App