पतंजलि की रुचि सोया ने साल भर में डबल कर दिया इंवेस्टर्स का पैसा, आने वाला है शानदार ऑफर

रुचि सोया के एफपीओ को सेबी की मंजूरी मिल चुकी है। कंपनी एफपीओ लाने से पहले ही निवेशकों को कमाई करा रही है। साल भर में कंपनी का शेयर लगभग दोगुना हो चुका है।

Ruchi Soya FPO
रुचि सोया के शेयर साल भर में करीब दो गुना हो गए हैं। (PTI Photo)

दिवालिया होने के बाद बाबा रामदेव (Baba Ramdev) के पतंजलि समूह (Patanjali Group) का हिस्सा बन चुकी रुचि सोया का एफपीओ (Ruchi Soya FPO) जल्दी ही पेश होने वाला है। कंपनी इससे पहले भी निवेशकों को फायदा करा रही है। पिछले साल भर में कंपनी ने अपने निवेशकों का पैसा डबल कर दिया है।

एक साल में 92 प्रतिशत चढ़ा रुचि सोया का शेयर

ठीक एक साल पहले यानी 14 सितंबर 2020 को रुचि सोया का शेयर (Ruchi Soya Share) 541.75 रुपये पर था। 14 सितंबर 2021 को यह 1041.70 रुपये पर बंद हुआ। इस तरह कंपनी का शेयर एक साल में 92.28 प्रतिशत चढ़ गया है। इस साल जून में एक समय कंपनी का शेयर 1377 रुपये तक पहुंच गया था।

सेबी ने अगस्त में दी थी एफपीओ की मंजूरी

रुचि सोया को बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) ने इसी साल अगस्त में एफपीओ लाने की मंजूरी दी है। कंपनी एफपीओ से 4,300 करोड़ रुपये तक की पूंजी जुटाने की तैयारी में है। इससे कंपनी अपने कर्ज कम करेगी। इस एफपीओ के बाद पतंजलि समूह का आईपीओ (Patanjali IPO) भी पेश किए जाने की संभावना है। बाबा रामदेव ने इस महीने की शुरुआत में एक योग कार्यक्रम में भी इसका जिक्र किया था।

रुचि सोया के पास है न्यूट्रीला ब्रांड

रुचि सोया के पास अभी देश भर में 22 मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट हैं, जिनकी दैनिक क्षमता 11 हजार टन है। इनमें से अभी 16 प्लांट परिचालन में हैं। कंपनी के पास 100 सेल डिपो, 4763 डिस्ट्रिब्यूटर और 4.57 लाख से अधिक रिटेल आउटलेट का नेटवर्क है। कंपनी खाद्य तेल समेत कई एफएमसीजी प्रोडक्ट बनाती और बेचती है। न्यूट्रीला (Neutrela) इसका प्रमुख ब्रांड है।

इसे भी पढ़ें: रिलायंस है भारत में काम करने की सबसे अच्छी जगह, टॉप50 में कोई इंडियन कंपनी नहीं

31 हजार करोड़ के पास है रुचि सोया का एमकैप

रुचि सोया को जून तिमाही में 173.53 करोड़ रुपये का मुनाफा प्राप्त हुआ था। इस दौरान कंपनी की रेवेन्यू 5,266.16 करोड़ रुपये रही थी। कंपनी ने अभी सितंबर तिमाही का वित्तीय परिणाम जारी नहीं किया है। कंपनी का एमकैप (MCap) अभी 31 हजार करोड़ रुपये के पास है। यह अभी बीएसई के मिडकैप (BSE Midcap) में लिस्टेड है।

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट