ताज़ा खबर
 

काफी धार्मिक हैं देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी, 24 घंटे में तीन मंदिरों में जाकर टेका था मत्था

अक्टूबर 2018 में मुकेश अंबानी अपनी पत्नी नीता अंबानी और मां कोकिलाबेन अंबानी के साथ सिद्धिविनायक मंदिर पहुंचे थे, जहां उन्होंने सिद्धिविनायक मंदिर में बेटी ईशा अंबानी की शादी का प्रथम निमंत्रण दिया था।

Author Edited By यतेंद्र पूनिया नई दिल्ली | Updated: September 17, 2020 8:44 AM
mukesh ambaniछोटे बेटे अनंत अंबानी के साथ मुकेश अंबानी

देश के सबसे रईस शख्स मुकेश अंबानी कारोबार के अलावा अकसर धार्मिक गतिविधियों के लिए भी वक्त निकालते रहे हैं। यहां तक बेटी ईशा अंबानी की शादी से पहले भी उन्होंने पहला निमंत्रण भगवान के दरबार में ही दिया था। उन्होंने नवंबर 2018 में एक ही दिन में तीन मंदिरों में जाकर मत्था टेका था और बेटी की शादी का निमंत्रण दिया था। आंध्र प्रदेश के तिरुमला स्थित तिरुपति वेंकट मंदिर में जाकर मत्था टेका था और ईश्वर को बेटी की शादी का आमंत्रण दिया था। यहां पूजा-अर्चना करने के बाद केरल के गुरुवयूर मंदिर गए थे। मुकेश अंबानी ने निजी विमान से ही यह यात्रा की थी और उनके साथ छोटे बेटे अनंत अंबानी भी थे। गुरुवयूर मंदिर में अंबानी करीब ने करीब 15 मिनट बिताए थे और यहां भी भगवान के चरणों में बेटी के निमंत्रण का कार्ड रखा था।

इसके पश्चात वह बेटी ईशा के लिए आशीर्वाद मांगने रामेश्वरम मंदिर पहुंचे थे, जो तमिलनाडु में स्थित है। यहां उन्होंने मंदिर की शिल्पकला की जमकर सराहना की थी। उन्होंने तीनों ही मंदिरों में 55,000 रुपये का दान किया था। इससे पहले अक्टूबर 2018 में मुकेश अंबानी अपनी पत्नी नीता अंबानी और मां कोकिलाबेन अंबानी के साथ सिद्धिविनायक मंदिर पहुंचे थे, जहां उन्होंने सिद्धिविनायक मंदिर में बेटी ईशा अंबानी की शादी का प्रथम निमंत्रण दिया था। मुकेश अंबानी परिवार के साथ अक्सर मंदिरों के दर्शन करते रहते हैं। मुकेश अंबानी परिवार के साथ केदारनाथ बद्रीनाथ धाम के दर्शन करने भी जाते रहे हैं।

मुकेश अंबानी के अलावा उनके छोटे भाई अनिल अंबानी भी बेहद आध्यात्मिक प्रवृत्ति हैं। वह भी अकसर वेंकटेश्वर मंदिर जाते रहे हैं। यही नहीं अनिल अंबानी ने केदारनाथ और बदरीनाथ धाम की सफाई के लिए भी अपना योगदान दिया था। अंबानी भाईयों के अलावा उनकी मां कोकिलाबेन अंबानी भी धार्मिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेती रही हैं। वह खुद कई बार मोरारी बापू और रमेशभाई ओझा की कथा आयोजित करा चुकी हैं। यही नहीं इन दोनों ही धार्मिक गुरुओं को परिवार को अपना गुरु मानता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सभी सरकारी कंपनिया मिलकर भी मुकेश अंबानी के साम्राज्य के बराबर नहीं, रिलायंस ने बनाया रिकॉर्ड
2 एयरपोर्ट के ठेके हासिल करने के बाद नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के कॉन्ट्रैक्ट की रेस में अडानी ग्रुप, जानें- क्या है प्लान
3 एयर इंडिया को नहीं मिल रहे खरीददार, हमेशा के लिए बंद भी कर सकती है मोदी सरकार, जानें- क्या है प्लान
ये पढ़ा क्या?
X