ताज़ा खबर
 

Jio Mart लाने की तैयारी में मुकेश अंबानी, Amazon, Flipkart को टक्‍कर देगा Reliance?

बिना किसी न्यूनतम ऑर्डर मूल्य के मुफ्त होम डिलीवरी, बिना किसी सवाल के रिटर्न और तेज डिलिवरी का वादा जैसी सुविधाएं JioMart में दी जाएंगी।

महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में जीओ मार्ट को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू किया गया है। प्रतीकात्मक तस्वीर।

ई-कॉमर्स के दिग्गज Amazon, Flipkart को पछाड़ने के लिए रिलायंस ने बड़ी तैयारी कर ली है। मुकेश अंबानी की स्वामित्व वाली रिलायंस ने JioMart लॉन्च करने का फैसला किया है। रिलायंस JioMart को ‘Desh Ki Nayi Dukaan’ के नाम से प्रचारित कर रहा है। ऑनलाइन शॉपिंग के लिए JioMart अभी नवी मुंबई, थाणे और कल्याण इलाके में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर उपलब्ध है। रिलायंस रिटेल के अधिकारियों ने साफ कर दिया है कि कंपनी जल्दी ही JioMart की उपस्थिति को बड़े पैमाने पर ले जाएगी।

नये वेंचर में 50,000 से अधिक किराना उत्पादों की पेशकश की जायेगी। बिना किसी न्यूनतम ऑर्डर मूल्य के मुफ्त होम डिलीवरी, बिना किसी सवाल के रिटर्न और तेज डिलिवरी का वादा जैसी सुविधाएं JioMart में दी जाएंगी। यह लुभावना ऑफर देकर रिलायंस उन ग्राहकों को आकर्षित करेगी, जो फिलहाल किराना उत्पादों की खरीदारी अमेजन और फ्लिपकार्ट से करते हैं। शुरुआत में जियोमार्ट पर दैनिक स्टेपल, साबुन, शैंपू और अन्य घरेलू सामान जैसे उत्पाद मिलने की संभावना है। अपने ई-कॉमर्स परिचालन कारोबार को शुरू करने के लिए रिलायंस रिटेल ने जियोमार्ट के लिए प्री-रजिस्ट्रेशन लेना भी शुरू कर दिया है।

शुरुआती तौर पर रिलायंस ने अपने सभी जिओ उपभोक्ताओं को छूट का लाभ जल्द से जल्द उठाने के लिए आमंत्रण भेजा है। इतना ही नहीं कंपनी जल्दी ही JioMart app भी लॉन्च करने वाली है। रिलायंस रिटेल अपने कर्मचारियों के लिए पहले ही फूड और ग्रॉसरी एप का बिटा वर्जन लांच कर चुकी है और इसके टेस्टिंग का काम चल रहा है।

रिलायंस करीब 2 सालों से अपने कॉमर्स प्लान पर काम कर रही थी। अभी रिलायंस के Supermarkets, Hypermarkets और Wholesale जैसे स्टोर मौजूद हैं। कंपनी की तरफ से कहा गया है कि ई कॉमर्स में आने के बाद वो नई तकनीक का इस्तेमाल करेगी। इंडिया ब्रांड इक्विटी फाउंडेशन ने देशभर में स्मार्टफोन के बढ़ते इस्तेमाल एवं अन्य पहलुओं को ध्यान में रखते हुए अनुमान जाहिर किया है कि भारत का ई-कॉमर्स मार्केट 2026 तक 200 अरब डॉलर का हो जाएगा।

Next Stories
1 7th Pay Commission: पश्चिम बंगाल में शिक्षकों की बढ़ेगी सैलरी! उच्च शिक्षा विभाग ने किया पे-स्केल रिवीजन का ऐलान
2 अमेरिका ने लगाया था प्रतिबंध अब भारतीय कंपनियों को टक्कर देगी ये चीनी कंपनी, 5G ट्रायल के लिए मोदी सरकार ने दी अनुमति
3 नई सुरक्षा स्याही से रुकेगी नोटों की जालसाजी
ये पढ़ा क्या?
X