ताज़ा खबर
 

अनिल अंबानी बोले- हमारी रिलायंस कम्‍युनिकेशंस और मुकेश की जियो में हो गया है ‘वर्चुअल मर्जर’

मुकेश अंबानी की नई कंपनी रिलायंस जियो इंफोकॉम और रिलांयस कम्‍युनिकेशंस के बीच अपने मोबाइल स्‍पेक्‍ट्रम बांटने पर सहमति बन गई है।

Author मुंबई | September 27, 2016 6:06 PM
आपस में संसाधन बांटेंगी जियो- रिलायंस कम्‍युनिकेशंस, अनिल अंबानी बोले- धीरूभाई के सपनों को पूरा करने के लिए साथ हैं दोनों भाई।

अरबपति अनिल अंबानी ने अपनी कंपनी रिलायंस कम्‍युनिकेशंस और बड़े भाई मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो के साथ’आभासी विलय’ प्रभावी होने का ऐलान किया है। मुंबई के बिड़ला मातोश्री में अपनी चार कंपनियों की सालाना आम बैठक के दौरान शेयरहोल्‍डर्स को संबोधित करते हुए अनिल ने यह बात कही। 57 साल के अंबानी ने कहा, ”दोनों भाई धीरूभाई के सपनों को पूरा करने के लिए एक साथ काम कर रहे हैं।” इस पर शेयरहोल्‍डर्स ने खड़े होकर उनका सम्‍मान किया। उनका मतलब अपने पति धीरूभाई अंबानी से था, जिन्‍होंने रिलायंस समूह की स्‍थापना की थी। धीरूभाई के निधन के बाद कई साल तक अनिल और मुकेश के बीच अनबन रही थी। एजीएम में बोलते हुए अनिल ने कहा- ”हमारे पास 2जी, 3जी और 4जी स्‍पेक्‍ट्रम है, साथ ही रिलायंस जियो के बसाद स्‍पेक्‍ट्रम ट्रेडिंग और समझौते भी किए गए हैं। सभी व्‍यवहारिक उद्देश्‍यों के लिए हमने रिलायंस कम्‍युनिकेशंस और रिलायंस जियो के बीच आभासी विलय पूरा कर लिया है।” अनिल ने बताया कि उनकी कंपनी ने 4जी सेवाओं को शुरू करने के 90 दिनों के भीतर 10 लाख उपभोक्‍ता जोड़ लिए हैं।

मुकेश अंबानी की नई कंपनी रिलायंस जियो इंफोकॉम और रिलांयस कम्‍युनिकेशंस के बीच अपने मोबाइल स्‍पेक्‍ट्रम बांटने पर सहमति बन गई है। रिलायंस कम्‍युनिकेशंस के मोबाइल टावर इस्‍तेमाल करने के लिए जियो ने पहले ही समझौता कर रखा है। इस डील से रिलायंस कम्‍युनिकेशंस को लागत कम करने में मदद मिलेगी। जहां अन्‍य टेलिकॉम कंपनियों को बाजार में बने रहने के लिए स्‍पेक्‍ट्रम पर भारी खर्च करना पड़ेगा, अंबानी ने दावा किया कि वह अपनी कंपनी पर भारी कर्ज को साल भर के भीतर ही 75 प्रतिशत से ज्‍यादा कम कर लेंगे। एयरसेल के रिलायंस कम्‍युनिकेशंस में विलय के बाद, अंबानी ने कहा कि अब उनकी कंपनी देश के 12 सर्किलों में टॉप ऑपरेटर बन जाएगी।

READ ALSO: इस आसान ट्रिक से जानिए आपके फोन में जियो सिम काम करेगी या नहीं

अनिल अंबानी ने मंगलवार (27 सितंबर) को अपने बेटे अनमोल को कंपनी का नया डायरेक्टर बनाने की घोषणा की। अनिल अंबानी ने अपने बेटे को “भाग्यशाली” बताते हुए कहा कि जब से वो कंपनी से जुड़े हैं उसके स्टॉक में 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है और ये “अनमोल प्रभाव” है जो आगे भी जारी रहेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 रिलायंस कैपिटल का खुदरा ऋण वृद्धि पर बड़ा दांव
2 भारतीय पर्यटकों के लिए ई-वीज़ा शुरू करने की सोच रहा है रूस
3 भारत ने छीना एमएफएन का दर्जा तो लड़खड़ा सकती है पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था