ताज़ा खबर
 

मुकेश अंबानी की कंपनी पर 3 लाख करोड़ का कर्ज! जानें रिलायंस प्रमुख की सालाना सैलरी

Reliance Industries chairman Mukesh Ambani: रिलायंस का कंज्यूमर बिजनेस- रिलायंस जियो और रिलायंस रिटेल तेजी से बढ़ रहे हैं। इनसे होने वाला मुनाफा, कुल मुनाफे का पांचवां हिस्सा है।

Reliance Industries, RIL, Mukesh Ambani, Debt, Money, Saudi Aramco, Mitsui OSK, Reliance Jio, Reliance Retail, RIL core business, oil, रिलायंस, रिलायंस इंडस्ट्रीज, मुकेश अंबानीरिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी। (Photo: REUTERS)

Reliance Industries chairman Mukesh Ambani: रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी 19 अप्रैल को 62 साल के हो गए। भारत के सबसे धनी व्यक्ति मुकेश की जिंदगी कई लोगों के लिए प्रेरणास्त्रोत है। टाइम मैग्जीन ने उन्हें दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची में स्थान दिया है। उनकी कंपनी भारत की सबसे अधिक पैसे वाली कंपनी है, जिसकी पूंजी 8.5 ट्रिलियन रुपये है। हालांकि, उनकी कंपनी के ऊपर करीब 3 लाख करोड़ रुपये का कर्ज भी है।

रिपोर्ट के अनुसार, रिलायंस इंडस्ट्री अपने रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स बिजनेस का 25 प्रतिशत हिस्सा सऊदी अरामको कंपनी को बेचने के लिए बातचीत कर रही है। सिर्फ यही नहीं, कंपनी ने बुधवार को बताया वह जापानी शिपिंग समूह मित्सुई OSK लाइन्स में भी अपने हिस्सेदारी बेच रही है। पिछले साल इसने अपनी अमेरिकी शेल यूनिट को बेच दिया था।

रिलायंस को इस समय पैसे की काफी जरूरत है। वजह ये है कि कंपनी के ऊपर करीब 45 बिलियन डॉलर (करीब 3 लाख करोड़ रुपये) का कर्ज है। पिछले कुछ सालों में जब कंपनी ने टेलिकॉम सेक्टर में प्रवेश किया, कर्ज लगातार बढ़ता गया। रिपोर्ट के अनुसार, यदि सऊदी अरामको कंपनी के साथ डील हो जाती है तो कंपनी का एक तिहाई (15 बिलियन डॉलर) कर्ज कम हो जाएगा।

रिलायंस को तेल के व्यवसाय से इतना पैसा मिलता है, कि वे अपने कर्ज की भारपाई कर सकता है, लेकिन अब इसमें पहले जितना मुनाफा नहीं है। वजह ये है कि इसके मार्जिन में ज्यादा की बढ़ोत्तरी नहीं हुई है। दूसरे शब्दों में कहें तो इस व्यवसाय में पहले जितना फायदा नहीं रहा। वहीं, दूसरी ओर इसके कंज्यूमर बिजनेस- रिलायंस जियो और रिलायंस रिटेल तेजी से बढ़ रहे हैं। इनसे होने वाला मुनाफा, कुल मुनाफे का पांचवां हिस्सा है। हालांकि, इन व्यवसायों के लिए काफी मात्रा में धन की जरूरत है, जो आरआईएल के मुख्य व्यवसाय, तेल में हिस्सेदारी की बिक्री से आ सकता है।

अब बात करते हैं, मुकेश अंबानी के वेतन है। उनका वेतन वर्ष 2009 से ही 15 करोड़ रुपये फिक्स है। वर्ष 2007 में मनीलाइफ के साथ एक बातचीत में अंबानी ने कहा था कि बाहरी तौर पर उनके जीवन में बदलाव आया है, लेकिन व्यक्तिगत रूप से वे पहले की तरह ही हैं।

Next Stories
1 टैक्स डिपार्टमेंट के रडार पर 2 करोड़ से ज्यादा लोग, लग सकता है मोटा जुर्माना! कहीं आप भी तो नहीं?
2 7th Pay Commission: इन कर्मचारियों की होगी चांदी, मिलेगा 30 हजार तक का लाभ; पर कैसे
3 भाजपा नेताओं की मदद से बदले गए पुराने नोट: सिब्बल
ये पढ़ा क्या?
X