ताज़ा खबर
 

जीतने वाले घोड़े पर दांव लगाना हमेशा अच्छा होता है, असल बात उसे सबसे पहले पहचानना है: मुकेश अंबानी

आरआईएल के चेयरमैन मुकेश अंबानी के अनुसार उन्हें टेक्नोलॉजी से प्रेम है और इसीलिए वो मोबाइल इंटरनेट कारोबार में आए हैं।

2 सितंबर को विभिन्न अखबारों में आया रिलायंस जियो का विज्ञापन।

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने मोबाइल इंटरनेट की दुनिया में जिस धमाकेदार तरीके से अपने 4-जी जियो सेवा को लॉन्च किया और काफी किफायती टैरिफ प्लान पेश किया उसके बाद से ही कंपनी के जियो में किए गए बड़े निवेश को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। शायद इन्हीं चर्चाओं का असर है कि खुद कंपनी के चैयरमैन मुकेश अंबानी ने मोबाइट इंटरनेट के कारोबार में उतरने और इतने बड़े निवेश के कारण स्पष्ट किए हैं। माना जा रहा है कि रिलायंस ने इस परियोजना में 1,50,000 करोड़ रुपये निवेश किए हैं। मुकेश अंबानी ने 1 सितंबर को 4-जी मोबाइल इंटरनेट सेवा रिलायंस जियो के लॉन्च की घोषणा की। रिलायंस का दावा है कि जियो दुनिया की सबसे सस्ती मोबाइल इंटरनेट सेवा है। 5 सितंबर से ये फोन आम उपभोक्ताओं को मिलना शुरू हो गया है।

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए एक इंटरव्यू में मुकेश अंबानी ने कहा है कि उन्हें टेक्नोलॉजी में विशेष रुचि है। टेक्नोलॉजी प्रेम के कारण ही 70 के दशक में रिलायंस के टेक्सटाइल सेक्टर की सबसे बड़ी कंपनी होने के बावजूद उन्होंने केमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और ऊर्जा क्षेत्र में काम करना शुरू किया और अपने टेक्नोलॉजी प्रेम के कारण ही वो मोबाइल इंटरनेट के कारोबार में आए हैं।

मुकेश अंबानी ने अखबार से कहा, “मुझे यकीन है कि आज से 50 साल बाद जब आप इतिहास लिखेंगे तो जो एक तकनीकी मानव सभ्यता को बदल देगी वो है मोबाइल इंटरनेट। 2011 में अपस्पष्ट था। 2002 में ज्यादा अस्पष्ट था। लेकिन आज मुझे कोई संदेह नहीं, पूरी दुनिया को कोई संदेह नहीं कि मोबाइल इंटरनेट से जिंदगी बदल सकती है, दुनिया बदल सकती है। ये जरूर है कि आने वाले वक्त में इसमें कई शाखाएं फूटेंगी लेकिन बुनियादी टेक्नोलॉजी के तौर पर इसमें अपार संभावनाएं हैं। और जो लोग थोड़ा खतरा उठाते हैं वही उसका फल पाते हैं।”

जब अखबार ने पूछा कि यानी इस कारोबार में आने के बारे में आपके विचार पूरी तरह स्पष्ट थे? तो अंबानी ने कहा, “कारोबार में, जीतने वाले घोड़े पर दांव लगाना हमेशा अच्छा होता है। लेकिन असल चुनौती सबसे पहले ये जान लेना है कि जीतने वाला घोड़ा कौन है। हमने किसी और से पहले देख लिया था कि मोबाइल इंटरनेट ही जीतने वाला घोड़ा है। मोबाइल इंटरनेट ने पूरी दुनिया को जीता है। पिछले 10 साल में मोबाइल इंटरनेट पर दांव लगाने वाली कंपनियां सबसे ज्यादा फायदे में रही हैं।”

Reliance Jio: जानिए “सबसे सस्‍ता इंटरनेट” और मुफ्त वॉयस कॉलिंग देकर भी कैसे मुनाफा कमाएगी मुकेश अंबानी की कंपनी

मुकेश अंबानी मानते हैं कि भारत के पास डिजिटल वर्ल्ड में विश्व का अग्रणी देश बनने का मौका है और ये काम कोई एक व्यक्ति नहीं कर सकता बल्कि सबको मिलकर करना होगा। अंबानी ने अखबार से कहा है, “ये वक्त है हम सबके साथ आने का और हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 1.2 अरब भारतीयों को डिजिटल इंडिया देने के विज़न को पूरा करने समय है।”

रिलायंस ने दिसंबर तक जियो की सेवाएं मुफ्त उपलब्ध कराने की घोषणा की है। दिसंबर के बाद वॉयस कॉल, एसएमएस इत्यादि सेवाओं को कोई शुल्क नहीं लगेगा। उपभोक्ताओं को केवल इंटरनेट डाटा का शुल्क देना होगा। जियो लॉन्चिगं की घोषणा के अगले ही दिन देश के प्रमुख अखबारों में जियो के विज्ञापन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर के इस्तेमाल पर सोशल मीडिया में काफी विवाद मचा था। आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने भी इस विज्ञापन पर सवाल उठाया। तब विज्ञापन से जुड़े आरोपों को खारिज करते हुए अंबानी ने कहा था, “वह मेरे भी प्रधानमंत्री हैं।”

अंग्रेजी अखबार इकॉनमिक टाइम्स को दिए इंटरव्यू में मुकेश अंबानी ने सफाई देते हुए कहा था, “प्रधानमंत्री ने देश को डिजिटल इंडिया का विज़न दिया, जिससे मैं खुद भी काफी प्रेरित हुआ हूं। हमारी यह सर्विस इस विज़न को, देश को और 120 करोड़ भारतीयों को समर्पित है और इसमें कोई राजनीति नहीं है।”


Reliance Jio Welcome Offer: All You Need To Know by Jansatta

रिलायंस जियो से मुकाबला करने के लिए सस्ते प्लान लाएगी बीएसएनएल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App