जिस कंपनी से अनिल अंबानी ने लड़ी थी कानूनी जंग, उससे TCS ने की ये डील

एरिक्सन स्वीडिश कंपनी है और इसकी वजह से अनिल अंबानी को जेल जाने तक की नौबत आ गई थी।

anil ambani, tcs, anil ambani debtअनिल अंबानी को जेल जाने की आ गई थी नौबत

स्वीडन की कंपनी एरिक्सन और टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) के बीच एक अहम डील हुई है। एरिक्सन वही कंपनी है, जिससे रिलायंस ग्रुप के मुखिया अनिल अंबानी की लंबी कानूनी लड़ाई चली थी।

क्या हुई है डील: टाटा ग्रुप की टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) ने एरिक्सन को अपने क्लाउड आधारित रिसर्च और डेवलपमेंट डिजिटल वर्कप्लेस के निर्माण और परिचालन में मदद करने का ऐलान किया है। इससे एरिक्सन की ग्लोबली रिसर्च और डेवलपमेंट टीमों को कहीं से और कभी भी सुरक्षित तरीके से ऑटोमेटेड पहुंच उपलब्ध होगी। आपको बता दें कि एरिक्सन स्वीडिश कंपनी है और इसकी वजह से अनिल अंबानी को जेल जाने तक की नौबत आ गई थी। आइए जानते हैं पूरे किस्से को..

क्या था मामला: इस कानूनी लड़ाई की नींव 2014 में रख दी गई थी। दरअसल, एरिक्सन ने अनिल अंबानी के रिलायंस ग्रुप की कंपनी आरकॉम का टेलीकॉम नेटवर्क संभालने के लिए 7 साल की डील की थी। डील तो पूरी नहीं हो सकी लेकिन आरकॉम पर एरिक्सन का करीब 1100 करोड़ का बकाया हो गया था।

एरिक्सन इस बकाये रकम को वापस चाहती थी लेकिन अनिल अंबानी की कंपनी की ओर से नहीं दिया गया। ऐसे में एरिक्सन ने सुप्रीम कोर्ट तक का दरवाजा खटखटाया। सुप्रीम कोर्ट ने भी एरिक्सन के पक्ष में फैसला सुनाते हुए अनिल अंबानी को बकाया चुकाने के लिए कहा लेकिन आरकॉम समय पर तय राशि देने में नाकाम रही।

इसे सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना मानते हुए चार सप्ताह की मोहलत दी। अनिल अंबानी को चार हफ्ते में रकम चुकानी थी,ऐसा नहीं करने की स्थिति में उन्हें जेल की हवा खानी पड़ सकती थी। बिगड़ते हालात को देखते हुए बड़े भाई मुकेश अंबानी ने अनिल की मदद की। (ये पढ़ें—अनिल अंबानी का कारोबार चला रहे अडानी)

इसी के साथ मुकेश अंबानी ने छोटे भाई अनिल अंबानी को जेल जाने से बचा लिया। इस पूरे घटनाक्रम के बाद अनिल अंबानी ने अपने भाई मुकेश और भाभी नीता अंबानी को शु​क्रिया भी कहा। (ये पढ़ें—मित्तल और अंबानी की कंपनी के बीच हुई डील!)

कर्ज में डूबे अनिल अंबानी: आपको बता दें कि अनिल अंबानी कर्ज के जाल में फंसे हुए हैं। अनिल अंबानी के रिलायंस ग्रुप की कई बड़ी कंपनियां बिक्री प्रक्रिया से गुजर रही हैं। बीते तीन महीनों में अनिल अंबानी ने तीन बड़ी संपत्तियों की बिक्री कर कर्ज कम किया है।

Next Stories
1 अनिल अंबानी पर SEBI के जुर्माने का असर! रिलायंस ग्रुप के निवेशकों को हो गया बड़ा नुकसान
2 बाजार में सुस्त पड़ी रामदेव के कंपनी की रफ्तार, तीन महीनों में 13 निवेशकों ने की शिकायत
3 गौतम अडानी को हुआ बड़ा नुकसान, दो दिन में इतनी कम हो गई दौलत
यह पढ़ा क्या?
X