वित्त मंत्री के साथ बैठक से पहले RBI ने लिया बड़ा फैसला, शहरी सहकारी बैकों पर होगा ये असर

आरबीआई ने शहरी सहकारी बैकों को मजबूत बनाने के लिये दृष्टिकोण पत्र तैयार करने को लेकर सोमवार को एक समिति गठित की।

rbi, rbi news, bankनिर्मला सीतारमण RBI के केंद्रीय निदेशक मंडल की बजट-पश्चात पहली बैठक को संबोधित करेंगी। (Photo-indian express )

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण कल यानी मंगलवार को भारतीय रिजर्व बैंक के केंद्रीय निदेशक मंडल की बैठक में शामिल होंगी। इस बैठक से पहले रिजर्व बैंक ने एक अहम फैसला लिया है।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने शहरी सहकारी बैकों को मजबूत बनाने के लिये दृष्टिकोण पत्र तैयार करने को लेकर सोमवार को एक समिति गठित की। आरबीआई के पूर्व डिप्टी गवर्नर एन एस विश्वनाथन की अध्यक्षता वाली समिति शहरी सहकारी बैंकों के मसले के समाधान के लिये उपाय सुझाएगी। साथ ही क्षेत्र में उनकी मजबूत स्थिति के लिये उनकी संभावनाओं का भी आकलन करेगी।

समिति को सौंपे गये नियम एवं शर्तों के अनुसार उसे एक गतिशील और मजबूत शहरी सहकारी बैंक क्षेत्र के लिये दृष्टिकोण पत्र तैयार करना है। यह सबकुछ सहयोग के साथ-साथ जमाकर्ताओं के हितों और प्रणाली से जुड़े मुद्दों को ध्यान में रखते हुए किया जाएगा। समिति को अपनी रिपोर्ट आरबीआई को तीन महीने में देनी है।

आठ सदस्यीय समिति में नाबार्ड (राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक) के पूर्व चेयरमैन हर्ष कुमार भानवाला भी शामिल हैं। समिति मौजूदा नियामकीय और निगरानी व्यवस्था की भी समीक्षा करेगी और क्षेत्र को मजबूत बनाने के लिये सुझाव देगी।

मंगलवार को वित्तमंत्री की बैठक: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण भारतीय रिजर्व बैंक के केंद्रीय निदेशक मंडल की बजट-पश्चात पहली बैठक को मंगलवार को संबोधित करेंगी। वह केंद्रीय बैंक के निदेशकों को बजट की मूल भावना, मुख्य दिशा और राजकोषीय स्थिति मजबूत करने की योजनाओं की जानकारी दे सकती हैं।

सीतारमण ने पहली फरवरी को प्रस्तुत 2021-22 के बजट में राजकोषीय घाटा सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 6.8 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है। इस घाटे को मार्च 2026 में समाप्त वित्त वर्ष तक 4.5 प्रतिशत पर लाने का लक्ष्य है।

कोविड-19 महामारी से प्रभावित चालू वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा जीडीपी के 9.5 प्रतिशत तक पहुंचने का अनुमान है। बजट में अगले वित्त वर्ष के दौरान 12 लाख करोड़ रुपये का बाजार से कर्ज जुटाने का लक्ष्य रखा है।

Next Stories
1 कर्ज से उबरने में जुटी वोडाफोन-आइडिया, इस मामले में रिलायंस Jio को छोड़ चुकी है पीछे
2 7th pay commission latest news: होली से पहले कर्मचारियों को मिल गई सौगात, अभी मार्च तक होगा ये एलान!
3 रिलायंस इंडस्ट्रीज की राह पर चल पड़ी ONGC, इस काम के लिए बना रही अलग कंपनी
ये पढ़ा क्या?
X