ताज़ा खबर
 

रेलवे का फैसला: 11 नवंबर तक वेटिंग टिकट कैंसिल करने पर नहीं मिलेगा कैश

रेलवे में 11 नंवबर तक 500 और 1000 रुपए के नोट चलाए जा सकते हैं। सरकार के इस फैसले के बाद टिकटों की बुकिंग के लिए नकदी के लेनदेन में काफी बढ़ोतरी हुई थी।
सांकेतिक तस्वीर।

रेलवे के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने 11 नंवबर तक रेलवे टिकट बुकिंग के संबंध में बयान जारी किया है। उन्होंने कहा कि 11 नंवबर तक वेटिंग टिकट वालों को रिफंड कैश में नहीं मिलेगा। लोगों के रिफंड का पैसा अकाउंट में भेजा जाएगा। दरअसल 11 नंवबर तक 500 और 1000 रुपए के नोट रेलवे टिकट बुकिंग के लिए वैध करार दिए जाने के बाद टिकटों की बुकिंग के लिए नकदी के लेनदेन में काफी बढ़ोतरी हुई थी। जिसके बाद रेलवे ने यह फैसला लिया है। रेलवे प्रवक्ता ने कहा कि किसी अकाउंट में बड़ा कैश रिफंड होता है तो उसकी जांच की जाएगी।

इस संबंध में रेलवे ने एक विज्ञप्ति जारी करके कहा है कि 8 नवंबर को सरकार द्वारा 500 रुपए और 1000 रुपए को नोट के संबंध में जारी किए गए आदेश के बाद रेलवे स्टेशन कैश में रिफंड देने की स्थिति में नहीं हैं। इसलिए रेलवे ने अपनी रिफंड प्रक्रिया में बदलाव किया है। इसके लिए यात्रियों को नीचे दिए गए नियम के मुताबिक रिफंड दिया जाएगा-

500, 1000 के नोट बदलवाने जा रहे हैं? रखें इन बातों का ध्यान

1. स्टेशन पर किसी भी तरह का कैश रिफंड नहीं दिया जाएगा। इसकी जगह रिफंड के लिए आवेदन करने वाले यात्रियों को स्टेशन की ओर से डिपॉजिट स्लिप दी जाएगी। इस स्लिप का इस्तेमाल रिफंड एप्लाई करने के लिए किया जा सकेगा।

2. यात्रियों का फंड अकाउंट में ट्रांसफर किया जाएगा। जिसके लिए यात्री को अपना बैंक अकाउंट नंबर और IFSC कोड नंबर रेलवे को देना होगा। यदि रिफंड की कीमत 50 हजार रुपए से ज्यादा है तो यात्री को पैन कार्ड की कॉपी जमा करानी होगी।

फिलहाल इन जगहों पर चला सकते नोट:

बता दें कि सरकार ने शुरू में कहा था कि 11 नवंबर की मध्यरात्रि तक सरकारी अस्पतालों, रेलवे टिकट खिड़कियों, सार्वजनिक परिवहन, हवाईअड्डों पर टिकट काउंटर, दूध केंद्रों, श्मशान एवं कब्रिस्तान और पेट्रोल पंपों पर 500 और 1000 रुपए के नोट चलाए जा सकते हैं। हालांकि बाद में इस सूची को बढ़ाते हुए सरकार ने कहा कि 11 नवंबर की मध्यरात्रि तक मेट्रो रेल, राजमार्गों पर टोल के भुगतान, डॉक्टरों के पर्चों पर सरकारी और निजी दवा की दुकानों से दवाओं की खरीद, रेलवे कैटरिंग, पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के नियंत्रण में चलने वाले स्मारकों के टिकट और एलपीजी गैस सिलेंडर बुकिंग केंद्रों पर भी पुराने नोटों को स्वीकार किया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.