ताज़ा खबर
 

सिर्फ 500 रुपये में खुल जाएगा PPF अकाउंट, जानिए आपके लिए क्यों है जरूरी

PPF अकाउंट, भारत सरकार द्वारा समर्थित होता है। यही वजह है कि रिस्क.फ्री, गारंटीड रिटर्न और कैपिटल प्रोटेक्शन जैसी चीजें मिलती हैं।

ppf, ppf account, interest rateपीपीएफ अकाउंट, भारत सरकार द्वारा समर्थित होता है। (Photo-indian express )

आमतौर पर लोग भविष्य की नहीं सोचते हैं, उन्हें इसका खामियाजा बाद में भुगतना पड़ता है। कई ऐसी स्कीम हैं, जिसमें निवेश कर आप भविष्य को सुरक्षित कर सकते हैं। इन्हीं में से एक पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) स्कीम है।

PPF अकाउंट को खोलने के लिए आपको सिर्फ 100 रुपये खर्च करने होंगे। वहीं, इसमें एक वित्तीय वर्ष में कम से कम 500 रुपये और अधिक से अधिक 5 लाख रुपये निवेश किया जा सकता है। एक पीपीएफ अकाउंट की न्यूनतम समय अवधि 15 साल होती है। मतलब ये कि एक बार अकाउंट खुलने के बाद निवेश 15 साल तक के लिए लॉक हो जाता है। अकाउंट होल्डर्स अपने अकाउंट की समय अवधि को और 5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं।

आपको बता दें कि पीपीएफ अकाउंट, भारत सरकार द्वारा समर्थित होता है। यही वजह है कि रिस्क.फ्री, गारंटीड रिटर्न और कैपिटल प्रोटेक्शन जैसी चीजें मिलती हैं। कहने का मतलब ये है कि मामूली रिस्क में आप इस अकाउंट को खोल सकते हैं। वर्तमान में, पीपीएफ इंटरेस्ट रेट 7.1% कर दिया गया है। आपको बता दें कि सरकार तिमाही आधार पर इस इंटरेस्ट की समीक्षा करती है।

PPF अकाउंट में निवेश की गई रकम के साथ ही उस पर मिलने वाले इंटरेस्ट को निकालने पर टैक्स नहीं लगता है। कुछ परिस्थ्तियों में 5 साल पूरा होने के बाद आप अकाउंट को बंद करने का विकल्प चुन सकते हैं। इन परिस्थितियों में मेडिकल इमरजेंसी शामिल है।

इसके अलावा, ऊंची शिक्षा के लिए भी इसे समय से पहले बंद करने की इजाजत दी जाती है। PPF को लेकर इस तरह नहीं सोचना चाहिए कि इसमें साल में कभी एक बार पैसा डालना है। PPF में निवेश को लेकर कुछ छोटी बातों या यूं कहे टिप्स को ध्यान में रखे, तो इसका अधिक फायदा मिल सकता है।

Next Stories
1 DHFL को खरीदने की रेस में मुकेश अंबानी के समधी सबसे आगे, वोटिंग में अमेरिकी कंपनी को पछाड़ा
2 ‘एक देश, एक राशन कार्ड’ सुधार को पूरा करने वाला 11वां राज्य बना तमिलनाडु , मोदी सरकार ने लॉन्च की थी स्कीम
3 RIL और TCS के बीच कड़ी टक्कर, मुकेश अंबानी की कंपनी के लिए अहम होगा सोमवार का दिन, जानिए क्यों
ये पढ़ा क्या?
X