ताज़ा खबर
 

अटका 6 लाख मजदूरों का प्रोविडेंट फंड, आधार और UAN में मेल न होने के चलते बढ़ा संकट, अपनी ही पूंजी पाने में बेबस

Provident Fund withdrawal: 6 लाख मजदूरों का पीएफ लटका हुआ है। इसकी वजह उनके यूनिवर्सल अकाउंट नंबर और आधार की डिटेल में अंतर पाया जाना है। इसके चलते बीते 6 महीनों से पीएफ की राशि इनके खाते में नहीं ट्रांसफर हो सकी है।

6 लाख मजदूरों का पीएफ अटका

Provident Fund withdrawal: कोरोना के संकट के बीच सरकार ने भले ही कर्मचारियों को बड़ी राहत देते हुए 75 फीसदी तक की पीएफ राशि निकालने की अनुमति दी है, लेकिन 6 लाख मजदूरों के लिए यहां भी मुसीबत पैदा हो गई है। इंडियन स्टाफिंग फेडरेशन के मुताबिक कुल 33 लाख अस्थायी वर्कर ऐसे हैं, जिनका पीएफ खाता है। हालांकि इनमें से 6 लाख मजदूरों का पीएफ लटका हुआ है। इसकी वजह उनके यूनिवर्सल अकाउंट नंबर और आधार की डिटेल में अंतर पाया जाना है। इसके चलते बीते 6 महीनों से पीएफ की राशि इनके खाते में नहीं ट्रांसफर हो सकी है। फेडरेशन ने आशंका जताई कि मजदूरों को इस कागजी समस्या के चलते अपनी ही जमा पूंजी देने से इनकार किया जा सकता है।

बता दें कि सरकार ने कोरोना वायरस के संकट के चलते हुए लॉकडाउन से लोगों को उबारने के लिए पिछले सप्ताह कई बड़े ऐलान किए थे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रोविडेंट फंड की 75 फीसदी राशि को निकालने की अनुमति भी कर्मचारियों को दिए जाने का ऐलान किया था। उनका कहना था कि इससे कोरोना के संकट में नौकरी या सैलरी में किसी तरह की समस्या आने पर लोगों को बड़ी मदद मिल सकेगी।

PF कमिश्नर को पत्र लिख मांगी राहत: स्टाफिंग फेडरेशन ने सेंट्रल प्रोविडेंट फंड कमिश्नर सुनील बड़थ्वाल को पत्र लिखकर आधार और यूएएन को लिंक किए जाने के प्रावधान में कुछ राहत देने की अपील की है। फेडरेशन ने कहा है कि अगले कुछ महीनों के लिए यह राहत दी जाए ताकि आर्थिक संकट के दौर में मजदूरों को कम से कम परेशानी का सामना करना पड़े।

श्रम मंत्रालय ने जारी की अधिसूचना: वित्त मंत्री के ऐलान के बाद शनिवार को श्रम मंत्रालय की ओर से प्रोविडेंट फंड की 75 फीसदी तक की निकासी की अनुमति देने वाली अधिसूचना जारी कर दी गई थी। यही नहीं एंप्लॉयीज प्रोविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशन ने भी अपनी वेबसाइट पर ऑनलाइन 75 फीसदी तक पीएफ क्लेम करने का फीचर जारी कर दिया है।

15 हजार से कम सैलरी वालों के खाते में सरकार जमा करेगी रकम: सरकार ने 15 हजार से कम सैलरी पाने वाले खाताधारकों के अकाउंट में अगले तीन महीने यानी जून तक अपनी ओर से पीएफ जमा करने का भी ऐलान किया है। मोदी सरकार ने कहा है कि वह 12 फीसदी कर्मचारी का हिस्सा और 12 फीसदी कंपनी का हिस्सा खाते में अपनी ओर से जमा करेगी। बता दें कि देश भर में करीब 6 करोड़ पीएफ खाताधारक हैं।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 पंजाब नेशनल बैंक ने जारी किया नया लोगो, 1 अप्रैल से ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और युनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के विलय के साथ होगा नया अवतार
2 जून तिमाही में सिर्फ 2.3 फीसदी होगी जीडीपी ग्रोथ, इंडिया रेटिंग्स ने 2021 के अनुमान में की बड़ी कटौती, 3.6 पर्सेंट की गति से आगे बढ़ेगी अर्थव्यवस्था
3 आईसीआईसीआई बैंक ने लॉकडाउन में लॉन्च की वॉट्सऐप बैंकिंग, जानें- कैसे घर बैठे पा सकते हैं हर जानकारी