Provident Fund Balance check: कंपनी ने आपका पीएफ जमा किया या नहीं, जानें- कैसे एक मेसेज से चलेगा पता

Provident Fund Deposit and Balance: ईपीएफओ उस स्थिति में भी खाताधारकों को मेसेज भेजता है, जब एंप्लॉयर की ओर से उसका हिस्सा जमा न किया गया हो। कंपनियां 15 तारीख तक अपने हिस्से का पीएफ जमा करती हैं।

PF Balance check
आसानी से जानें, कंपनी ने पीएफ में कितना जमा किया

प्रोविडेंट फंड में जमा होने वाली रकम के लिए कर्मचारी का हिस्सा तो उसकी सैलरी से हर महीने कट जाता है, लेकिन कंपनी अलग से अपना हिस्सा जमा करती है। कई बार खाताधारक को यह जानकारी ही नहीं मिल पाती कि आखिर उसकी कंपनी नियमित तौर पर पीएफ में अपना हिस्सा जमा कर रही है या नहीं। यदि आप भी यह जानना चाहते हैं तो यह बेहद आसान है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन यानी EPFO की ओर से एसएमएस सुविधा भी दी जाती है, जिससे आप इस बारे में पता लगा सकते हैं। आइए जानते हैं, कैसे आप जान सकते हैं PF में जमा राशि…

15 तारीख तक कंपनियां जमा करती हैं अपना हिस्सा: दरअसल आपकी बेसिक सैलरी का 12 फीसदी हिस्सा कंपनी आपके पीएफ अकाउंट में जमा करती है। इतना ही हिस्सा कर्मचारी की सैलरी से कटता है। आपका हिस्सा कितना कटा और कंपनी ने कितना जमा किया, यह जानकारी ईपीएफओ की ओर से मेसेज के जरिए दी जाती है। 2018 के बाद से ईपीएफओ उस स्थिति में भी खाताधारकों को मेसेज भेजता है, जब एंप्लॉयर की ओर से उसका हिस्सा जमा न किया गया हो। कंपनियां 15 तारीख तक अपने हिस्से का पीएफ जमा करती हैं।

जानकारी पाने को मोबाइल नंबर कराएं अपडेट: यदि आप भी यह जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो आपको पीएफ अकाउंट के UAN के साथ मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी को भी अपडेट करना होगा। पीएफ मामलों के जानकार कहते हैं कि आमतौर पर यह मेसेज बेहद अनियमित होते हैं। इस पर ईपीएफओ का तर्क है कि हमारा ऐसे सबस्क्राइबर्स पर ज्यादा फोकस है, जिनकी सैलरी कम है। इसकी वजह यह है कि आमतौर पर ऐसे लोगों की तकनीक तक पहुंच कम है और वे अन्य माध्यमों से जानकारी नहीं ले पाते। इसलिए उन्हें मेसेज के जरिए जानकारी दी जाती है।

मिस्ड कॉल से भी जान सकते हैं बैलेंस: ईपीएफओ के मुताबिक अन्य लोग उमंग एप, मिस्ड कॉल और मेसेज के जरिए जानकारी ले सकते हैं। यदि आप अपने पीएफ बैलेंस को जानना चाहते हैं तो आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर मिस कॉल करना होगा। अब यदि आपने नंबर ही रजिस्टर्ड नहीं कराया है तो फिर सबसे पहले आपको यही काम करना चाहिए।

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट