ताज़ा खबर
 

‘5-6 साल पहले संकट में थी अर्थव्यवस्था, हमने किया सुधार’, CAA पर हंगामे के बीच बोले पीएम मोदी

पीएम ने कहा कि ऐसा पहली बार नहीं है कि देश की अर्थव्यवस्था में उतार चढ़ाव आए हो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। फोटो: BJP/Twitter

एक तरफ देश में नागरिकता (संशोधित) कानून (CAA) पर हंगामा मचा हुआ है तो दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर अपने विचार रखें। उन्होंने कहा है कि देश में वो सामर्थ्य है कि वो सुस्त पड़ चुकी अर्थव्यवस्था से बाहर निकाल सकता है। पीएम ने कहा कि ऐसा पहली बार नहीं है कि देश की अर्थव्यवस्था में उतार चढ़ाव आए हो। एसोचैम के एक कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन के दौरान उन्होंने पहले की सरकारों को भी अर्थव्यवस्था पर काम न करने के लिए जिम्मेदार ठहराया।

उन्होंने कहा ‘पांच-छह साल पहले हमारी अर्थव्यवस्था खतरनाक दर से गुजर रही थी लेकिन हमारी सरकार ने इसे न केवल स्थिर किया है, बल्कि इसके लिए अनुशासन लाने के भी प्रयास किए हैं। देश की अर्थव्यवस्था में उतार चढ़ाव पहले भी आये हैं, लेकिन देश में वो सामर्थ्य है कि वो हर बार ऐसी परिस्थिति से बाहर निकला है और पहले से ज्यादा मजबूत होकर निकला है।’

उन्होंने कहा ‘जब 2014 से पहले के वर्षों में अर्थव्यवस्था तबाह हो रही थी, उस समय अर्थव्यवस्था को संभालने वाले लोग किस तरह तमाशा देख रहे थे, ये देश को कभी नहीं भूलना चाहिए। तब अखबारों में किस तरह की बात होती थी, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की साख कैसी थी, इसे सभी भली-भांति जानते हैं।’

पीएम ने कहा ‘अर्थव्यवस्था को पारदर्शी और मजबूत बनाने के लिए, उद्योग जगत के लिए किये जा रहे हर फैसले पर सवाल उठाना ही अब कुछ लोगों का राष्ट्रीय कर्तव्य बन गया है। देश में कारोबार को सुगम बनाने के लिये कंपनी अधिनियम के प्रावधानों को आपराधिक कार्रवाई से मुक्त करने पर काम किया जा रहा है। कॉरपोरेट कर की दरों में हुई हालिया कटौती ने इसे कंपनियों के लिये सर्वकालिक निचले स्तर पर ला दिया है।

हालांकि उन्होंने कहा कि श्रमिकों का भी ध्यान रखा जाना चाहिए। कंपनी पंजीकृत करने में पहले कई महीनों का समय लगता था, जिसे अब घटाकर महज कुछ घंटे पर ले आया गया है। बेहतर बुनियादी संरचना ने हवाईअड्डों और बंदरगाहों पर कानूनी प्रक्रिया में लगने वाले समय को कम किया है।’

Next Stories
1 लगातार चौथे दिन शेयर बाजार ने लगाई छलांग, ऐतिहासिक 41,800 से ऊपर पहुंचा सेंसेक्स
2 नए साल में रसोईघर का बजट और बिगाड़ेगी महंगाई
3 GST काउंसिल बैठक: लॉटरी पर 28 प्रतिशत की दर से लगेगा एकसमान टैक्स, जुलाई 2017 से जीएसटीआर-1 नहीं भरने वालों को जुर्माने से छूट
ये पढ़ा क्या?
X