ताज़ा खबर
 

दुनियाभर के बाजारों में दिखा ब्रेक्जिट का असर, 31 साल के न्यूनतम स्तर पर पहुंचा पौंड

ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन से बाहर होने की संकेतों के बीच पौंड का मूल्‍य डॉलर की तुलना में शुक्रवार को नौ प्रतिशत तक गिर गया।

Author हांगकांग | June 24, 2016 5:38 PM
ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन से बाहर होने की संकेतों के बीच पौंड का मूल्‍य डॉलर की तुलना में शुक्रवार को नौ प्रतिशत तक गिर गया। (AP Photo)

ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से बाहर निकलने के पक्ष में जनमत आने के बाद शुक्रवार (24 जून) को पौंड 31 साल के न्यूनतम स्तर तक गिर गया और मुद्रा, इक्विटी तथा तेल बाजारों में अफरा-तफरी का माहौल रहा जिससे वैश्विक स्तर पर अनिश्चितता की लहर दौड़ गई। पौंड स्टर्लिंग एक समय 10 प्रतिशत टूटकर 1.3229 डॉलर पर आ गया जो 1985 से अब तक का न्यूनतम स्तर है जबकि कारोबारियों के सुरक्षित निवेश की ओर रुख करने से डॉलर पिछले ढाई साल में पहली बार येन के मुकाबले 100 येन के स्तर से नीचे आ गया।

ब्रेक्जिट के फैसले के बीच बाजारों में शुक्रवार (24 जून) को आया उतार-चढ़ाव 2008 के वित्तीय संकट से अब तक के सबसे खराब कारोबारी दिन में से रहा। यूरोपीय संघ की बड़ी तीन अर्थव्यवस्थाओं में एक, ब्रिटेन चार दशक के बाद अब इस संगठन से बाहर निकल जाएगा। ऐसी भी आशंका है कि अन्य यूरोपीय संघ के सदस्य भी जनमत संग्रह के लिए आगे बढ़ सकते हैं और यह अपनी स्थापना के 60 साल के बाद से समूह के भविष्य के लिए सबसे बड़ा खतरा है।

ईटीएक्स कैपिटल के कारोबार प्रमुख जो रंडल ने कहा, ‘यूरोपीय संघ से बाहर निकलने के अभियान की विजय से बाजार को अब तक का सबसे बड़ा झटका लगा। इस मतदान की गूंज विश्व भर में महसूस की गई।’ उन्होंने वाल स्ट्रीट के बैंका का हवाला देते हुए कहा, ‘परिसंपत्ति मूल्य के लिहाज से नुकसान की मात्रा आकलन मुश्किल है लेकिन यह कम से कम लीमन संकट के बाद की किसी भी घटना के मुकाबले बड़ा होगा।’ लीमन के धराशायी होने से वैश्विक वित्तीय संकट बढ़ा था।

डॉलर थोड़े समय के लिए 99.02 येन पर आ गया और नवंबर 2013 के बाद से यह पहली बार 100 येन से नीचे आया है। बैंक ऑफ जापान ने कहा कि वह भारी उठा-पटक से निपटने के लिए वित्तीय बाजारों में नकदी डालने के लिए तैयार है जबकि बैंक ऑफ इंग्लैंड ने कहा कि वह
संकट को आगे बढ़ने से रोकने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगा।

इस घटनाक्रम के बीच तोक्यो का बाजार आठ प्रतिशत, सिडनी 3.2 प्रतिशत, सोल 3.1 प्रतिशत गिरा। इधर शांघाई 1.3 प्रतिशत टूटा जबकि ताइपेई, वेलिंगटन, मनीला और जकार्ता में भी भारी नुकसान दर्ज हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App