ताज़ा खबर
 

पीएनबी घोटाला: मेहुल चोकसी ने टीवी डिबेट का हवाला दे कहा- रद्द करें गैर जमानती वारंट, मेरी जान को है खतरा

पीएनबी धोखाधड़ी: चोकसी ने गैरजमानती वारंट रद्द कराने के लिए टीवी बहस फोन-इन का हवाला दिया

Author September 21, 2018 6:56 PM
पीएनबी घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी और नीरव मोदी।

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) धोखाधड़ी मामले में सहआरोपी और भगोड़े आभूषण कारोबारी मेहुल चोकसी ने शुक्रवार को यहां विशेष सीबीआई अदालत से उनके खिलाफ जारी गैरजमानती वारंट रद्द करने का अनुरोध किया। चोकसी ने दावा किया कि उन्हें लगता है कि भारत वापस लौटने से उनका जीवन खतरे में पड़ सकता है।
इस साल 22 मई को सीबीआई द्वारा 12,636 करोड़ रुपये के पीएनबी धोखाधड़ी मामले में दायर दूसरे आरोपपत्र पर संज्ञान लेने के बाद विशेष अदालत ने चोकसी के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया था।

चोकसी ने अपने वकील संजय एबोट के जरिये शु्क्रवार को दायर आवेदन में कहा कि सुरक्षा को लेकर उनकी ंिचताएं धोखाधड़ी पर एक हालिया टेलीविजन चर्चा के दौरान हुई बातचीत पर आधारित हैं। उन्होंने अदालत से कहा कि वह एक राष्ट्रीय टेलीविजन समाचार चैनल पर उस चर्चा देखकर ‘‘हैरान’’ थे जिसमें दो कॉलरों ने धोखाधड़ी के संबंध में अपनी राय साझा करने के लिए कॉल किया था ।

चोकसी ने याचिका में दावा किया कि कॉलरों ने ‘‘सुझाव दिया कि मेहुल चोकसी को खोजने के लिए एक विशेष टीम गठित होनी चाहिए और उन्हें भारत वापस लाकर उनकी गोली मारकर हत्या कर देनी चाहिए।’’ चोकसी ने दावा किया कि कॉलरों ने कहा कि इस तरह का व्यवहार समाज में कड़ा संदेश देगा और यह भविष्य में धोखाधड़ी तथा वित्तीय घोटालों को रोकेगा। चोकसी ने अपनी याचिका में दावा किया कि समाचार प्रस्तोता और पैनल में शामिल लोगों ने कॉलर द्वारा की गई टिप्पणियों पर आपत्ति नहीं जताई।

चोकसी ने कुछ आडियो और वीडियो सीडी भी भेजीं। उन्होंने अदालत से उनके खिलाफ जारी गैरजमानती वारंट रद्द करने का अनुरोध किया। विशेष अदालत ने अब सीबीआई को सुनवाई की अगली तारीख यानी तीन अक्तूबर तक इस आवेदन पर अपना जवाब देने का निर्देश दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App