ताज़ा खबर
 

पीएम वय वंदना योजना: बुजुर्ग दंपती को मिल सकती है 18,500 रुपये की मासिक पेंशन, जानें- कैसे मिल सकता है फायदा

इस स्कीम के तहत अब मासिक 18,500 रुपये की पेंशन मिलेगी। हाल ही में सरकार ने इस स्कीम की अवधि को मार्च, 2023 तक के लिए बढ़ा दिया है। इससे पहले यह स्कीम 31, मार्च 2020 को समाप्त हो गई थी।

पीएम वय वंदना योजना के तहत जानें कैसे उठा सकते हैं फायदा

वरिष्ठ नागरिकों के लिए केंद्र सरकार की अहम पेंशन स्कीम प्रधानमंत्री वय वंदना योजना अब नए अवतार में पेश की गई है। इस स्कीम के तहत अब मासिक 18,500 रुपये की पेंशन मिलेगी। हाल ही में सरकार ने इस स्कीम की अवधि को मार्च, 2023 तक के लिए बढ़ा दिया है। इससे पहले यह स्कीम 31, मार्च 2020 को समाप्त हो गई थी। इस स्कीम में निवेश के लिए एलआईसी के दफ्तर जाना होगा या फिर वेबसाइट से भी यह काम हो सकता है। ऐसे दौर में जब बैंकों में फिक्स्ड डिपॉजिट की दर लगातार कम हो रही है, तब यह स्कीम बेहद अहम है। फिलहाल इस स्कीम के तहत 31 मार्च, 2021 तक जमा की गई रकम पर 7.4 फीसदी सालाना की दर से ब्याज मिलेगा। इसके बाद फाइनेंशल ईयर 2022 और 2023 के लिए बाद में ब्याज की दर का निर्धारण किया जाएगा।

कम से कम 60 वर्ष और उससे अधिक आयु वाले सीनियर सिटिजंस के लिए शुरू की गई इस स्कीम के तहत अधिकतम 15 लाख रुपये की रकम जमा की जा सकती है और उस पर अधिकतम 9,250 रुपये की पेंशन मिलेगी। इस तरह से यदि पति और पत्नी दोनों ही इस स्कीम में निवेश करते हैं तो उन्हें हर महीने 18,500 रुपये की नियमित आय 10 साल तक होगी। इस स्कीम के तहत मासिक, त्रैमासिक, छमाही या फिर सालाना पेंशन ली जा सकती है। 60 साल की आयु के बाद इस स्कीम में 10 साल के लिए निवेश किया जा सकता है। आइए जानते हैं, इस स्कीम में कितने निवेश पर मिलेगी कितनी पेंशन…

सालाना पेंशन के लिए न्यूनतम और अधिकतम निवेश
न्यूनतम निवेश: 1,56,658 रुपये
अधिकतम निवेश : 14,49,086 रुपये

छमाही पेंशन
न्यूनतम निवेश: 1,59,574 रुपये
अधिकतम निवेश : 14,76,064 रुपये

तिमाही पेंशन
न्यूनतम निवेश: 1,61,074 रुपये
अधिकतम निवेश : 14,89,933 रुपये

मासिक पेंशन
न्यूनतम निवेश: 1,62,162 रुपये
अधिकतम निवेश : 15,00,000 रुपये

जानें, कितनी मिलेगी न्यूनतम और अधिकतम पेंशन
मिनिमम पेंशन
प्रति माह 1,000 रुपये
तिमाही 3,000 रुपये
छमाही 6,000 रुपये
सालाना 12,000 रुपये

अधिकतम पेंशन
प्रति माह 9,250 रुपये
तिमाही 27,750 रुपये
छमाही 55,500 रुपये
सालाना 1,11,000 रुपये

क्‍लिक करें Corona Virus, COVID-19 और Lockdown से जुड़ी खबरों के लिए और जानें लॉकडाउन 4.0 की गाइडलाइंस

Next Stories
1 भारत आने से बचने के लिए अब यह तरकीब अपना रहा विजय माल्या, जानें- कितने दिन टल सकता है प्रत्यर्पण
2 कोरोना कंटेनमेंट जोन में रहने वाले अपने कर्मचारियों को रेलवे ने दी यह बड़ी राहत, ऑफिस आने की जरूरत नहीं
3 क्यों न हो पलायन? 76 फीसदी मजदूरों को नहीं मिली अप्रैल की सैलरी, और बिगड़ सकते हैं रोजगार के हालात
ये पढ़ा क्या?
X