ताज़ा खबर
 

पीएम नरेंद्र मोदी ने 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान, लोकल चीजों को खरीदने का किया आह्वान

20 lakh crore relief package updates: पीएम मोदी ने कहा कि संकट के समय इस लोकल ने ही हमें बचाया है। लोकल सिर्फ हमारी जरूरत नहीं है बल्कि हमारी जरूरत है। समय ने हमें सिखाया है कि लोकल को हमें अपना जीवन मंत्र बनाना ही होगा। आज जो हमें ग्लोबल ब्रैंड लगते हैं, वे भी कभी इसी तरह से लोकल थे।

20 lakh crore relief package announced: पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया गया। आत्मनिर्भर भारत अभियान का ऐलान किया। पीएम मोदी ने कहा कि भारत को ग्लोबल सप्लाई चेन में स्थान दिलाने के लिए इस बड़े पैकेज का ऐलान किया गया। पीएम मोदी ने कहा कि ये आर्थिक पैकेज आत्मनिर्भर भारत अभियान की अहम कड़ी के तौर पर काम करेगा। इससे देश के किसान, मजदूर और मध्यम वर्ग से लेकर उद्योगों तक को नई ऊर्जा मिलेगी। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों जो आरबीआई के फैसले थे और आज जिस आर्थिक पैकेज का ऐलान हो रहा है उसे जोड़ दे तो यह करीब 20 लाख करोड़ रुपये का है। ये पैकेज भारत की जीडीपी का करीब-करीब 10 प्रतिशत है।

करीब 33 मिनट के अपने संबोधन में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि ऐसे समय में जब दुनिया की बड़ी शक्तियां हिल गई हैं, तब हमने देश के गरीब भाईयों और बहनों की संकल्पशक्ति के दर्शन किए। रेहड़ी-पटरी वालों, मजदूरों और घरों में काम करने वाले गरीब तबके के लोगों ने बड़ा त्याग किया है। अब हमारा कर्तव्य है कि उन्हें आगे बढ़ाया जाए, उन्हें संबस दिया जाए। इसलिए सरकार ने हर तबके लिए कुछ महत्वपूर्ण पैकेज का ऐलान किया है।

मोदी बोले, कभी आज के ग्लोबल ब्रैंड भी लोकल थे: संकट के समय इस लोकल ने ही हमें बचाया है। लोकल सिर्फ हमारी जरूरत नहीं है बल्कि हमारी जरूरत है। समय ने हमें सिखाया है कि लोकल को हमें अपना जीवन मंत्र बनाना ही होगा। आज जो हमें ग्लोबल ब्रैंड लगते हैं, वे भी कभी इसी तरह से लोकल थे। लेकिन उन देशों के लोगों ने जब उनका इस्तेमाल किया तो वे प्रोडक्ट लोकल से ग्लोबल बन गए। आज से हर भारतवासी को अपने लोकल के लिए वोकल बनना है। हमें न सिर्फ लोकल प्रोडक्ट्स खरीदने हैं बल्कि उनका गर्व से प्रचार भी करना है।

अब एक ही मंत्र है आत्मनिर्भर भारत: पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि यह आर्थिक पैकेज हमारे कुटीर उद्योग, गृह उद्योग, हमारे लघु-मंझोले उद्योग के लिए है, जो करोड़ों लोगों की आजीविका का साधन हैं, जो आत्मनिर्भर भारत के हमारे संकल्प का मजबूत आधार हैं। उन्होंने कहा कि इस पैकेज में भूमि, श्रम, नकदी और कानून सभी पर बल दिया गया है। उन्होंने आत्मनिर्भरता का मंत्र देते हुए कहा कि विश्व की आज की स्थिति हमें सिखाती है कि इसका मार्ग एक ही है- आत्मनिर्भर भारत।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबाजानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिएइन तरीकों से संक्रमण से बचाएंक्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चीन से कंपनियों के भारत से फायदा होना तय नहीं, अभिजीत बनर्जी बोले- गरीबों के हाथों में रकम देने से आएगी अर्थव्यवस्था में गति
2 7th Pay Commission: इस राज्य के कर्मचारियों के 6 भत्तों को सरकार ने हमेशा के लिए किया खत्म, कहा- राजस्व की कमी है
3 किस्तों में छूट खत्म होने के बाद कैसे भर पाएंगे लोन, 86 पर्सेंट कर्जधारक हैं परेशान: सर्वे में खुलासा
राशिफल
X