ताज़ा खबर
 

आपूर्ति बढ़ने-मांग कमजोर होने से दाल की कीमतों में गिरावट

अरहर और इसकी दाल दड़ा किस्म की कीमतें सप्ताहांत में गिरावट के साथ क्रमश: 8,000 रुपए और 10,800-12,500 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई

Author नई दिल्ली | July 31, 2016 8:34 PM
पिछले वित्त वर्ष (2015-16) में करीब 55 लाख टन दाल का आयात किया गया था। (पीटीआई फोटो)

ऊंचे स्तर पर फुटकर विक्रेताओं की मांग में आई गिरावट के बीच बढ़ते कीमतों को रोकने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बाद बाजार में आपूर्ति बढ़ने के कारण बीते सप्ताह दिल्ली के थोक दाल दलहन बाजार में कमजोरी का रुख रहा और दलहन कीमतों में गिरावट आई। बाजार सूत्रों ने कहा कि सरकार द्वारा बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने के बाद बाजार में दलहनों की आपूर्ति बढ़ने तथा बाजार में उपलब्धता बढ़ने के कारण मुख्यत: दलहन कीमतों में गिरावट आई। उन्होंने कहा कि इसके अलावा मौजूदा स्तर पर फुटकर विक्रेताओं की मांग में गिरावट से भी कीमतों में कमी आई।

इस बीच, भारत ने दलहन की घरेलू आपूर्ति बढ़ाने और बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने के लिए सरकार के स्तर पर दलहनों का आयात करने की व्यवस्था को म्यांमा और कुछ अफ्रीकी देशों के साथ वार्ता कर रहा है। पहले ही दीर्घावधि के लिए दलहनों का आयात करने और घरेलू स्तर पर मांग की कमी को पूरा करने के ध्येय से मोजाम्बिक के साथ एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए गए हैं। राष्ट्रीय राजधानी में उड़द और इसकी दाल छिलका स्थानीय की कीमत गिरावट के साथ सप्ताहांत में क्रमश: 9,600-11,000 रुपए और 9,800-9,900 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई, जो पिछले सप्ताहांत क्रमश: 10,100-11,600 रुपए और 10,400-10,500 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई थी। इसकी दाल बेहतरीन क्वालिटी और धोया की कीमत भी गिरावट के साथ क्रमश: 9,900-10,400 रुपए और 10,300-10,600 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई जो पिछले सप्ताहांत क्रमश: 10,500-11,000 रुपए और 10,900-11,200 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई थीं।

अरहर और इसकी दाल दड़ा किस्म की कीमतें सप्ताहांत में गिरावट के साथ क्रमश: 8,000 रुपए और 10,800-12,500 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई जो पिछले सप्ताहांत क्रमश: 8,500 रुपए और 11,300-13,000 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई थीं। मूंग और इसकी दाल छिलका स्थानीय की कीमतें भी गिरावट के साथ क्रमश: 5,100-5,700 रुपए और 5,650-6,050 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई जो पिछले सप्ताहांत क्रमश: 5,500-6,100 रुपए और 6,050-6,450 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई थीं। इसकी दाल धोया स्थानीय और बेहतरीन क्वालिटी की कीमतें 400-400 रुपए की गिरावट दर्शाती सप्ताहांत में क्रमश: 6,050-6,550 रुपए और 6,550-6,750 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुईं। मसूर छोटी और बोल्ड की कीमतें भी 50-50 रुपए की गिरावट के साथ क्रमश: 6,100-6,400 रुपए और 6,150-6,450 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुईं।

गिरावट के आम रुख के अनुरूप चना, चना दाल स्थानीय और बेहतरीन क्वॉलिटी की कीमतों को प्रतिरोध का सामना करना पड़ा और इनकी कीमतें गिरावट के साथ क्रमश: 8,500-8,700 रुपए, 8,800-9,000 और 9,100-9,200 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुईं जो पिछले सप्ताहांत क्रमश: 8,800-9,300 रुपए, 9,000-9,200 और 9,300-9,400 रुपए प्रति क्विंटल पर बंद हुई थीं। काबुली चना छोटी किस्म की कीमत भी गिरावट के साथ 9,900-10,300 रुपए पर बंद हुई जो पिछले सप्ताहांत 10,000-10,500 रुपये प्रति क्विंटल पर बंद हुई थीं। बेसन शक्तिभोग और राजधानी की कीमत भी गिरावट के साथ क्रमश: 3,820-3,820 रुपए पर बंद हुई जो पिछले सप्ताहांत 3,900-3,900 रुपए प्रति 35 किग्रा का बैग थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App