ताज़ा खबर
 

DHFL को खरीदने की रेस में मुकेश अंबानी के समधी सबसे आगे, वोटिंग में अमेरिकी कंपनी को पछाड़ा

पीरामल एंटरप्राइजेज के मुखिया अजय पीरामल हैं। अजय पीरामल रिश्ते में मुकेश अंबानी के समधी हैं। अजय पीरामल के बेटे आनंद की मुकेश अंबानी की बेटी ईशा से शादी हुई है।

Mukesh ambani, RIL, ajay piramalअजय पीरामल रिश्ते में मुकेश अंबानी के समधी हैं (Photo-indian express )

कर्ज संकट से जूझ रही डीएचएफएल के लिए पीरामल एंटरप्राइजेज की बोली को कर्जदाताओं द्वारा मतदान की प्रक्रिया खत्म होने के साथ सबसे अधिक वोट मिले।

सूत्रों ने बताया कि पीरामल की बोली को 94 प्रतिशत वोट मिले, जबकि अमेरिका स्थित कंपनी ऑकट्री की बोली को 45 प्रतिशत वोट प्राप्त हुए। कर्जदाताओं की समिति (सीओसी) इस बारे में अंतिम निर्णय लेने के लिए एक बार बैठेगी और अपनी सिफारिशों को एनसीएलटी के पास भेजेगी। पिछले महीने बोली की प्रक्रिया के पांचवें और अंतिम दौर की समाप्ति के बाद पीरामल एंटरप्राइजेज और ऑकट्री, दोनों ने दावा किया था कि उनकी बोली सबसे ऊंची है।

सूत्रों के मुताबिक बोलीदाताओं ने 35,000 से 37,000 करोड़ रुपये के बीच बोली लगाई है। आपको यहां बता दें कि पीरामल एंटरप्राइजेज के मुखिया अजय पीरामल हैं। अजय पीरामल रिश्ते में मुकेश अंबानी के समधी हैं। दरअसल, अजय पीरामल के बेटे आनंद की मुकेश अंबानी की बेटी ईशा से शादी हुई है।

83,873 करोड़ रुपये का बकाया: जुलाई 2019 में कंपनी पर बैंकों का 83,873 करोड़ रुपये का बकाया था। मार्च 2020 में कंपनी की परिसम्पत्तियां (दिए गए कर्ज के बकाए) 79,800 करोड़ रुपये थी । इसमें से 63 प्रतिशत एनपीए हो चुकी थीं। इसमें 10,083 करोड़ रुपये का सबसे बड़ा बकाया भारतीय स्टेट बैंक का है।

इसके अलावा बैंक आफ इंडिया के (4,125 करोड़ रुपये), केनारा बैंक (2,681 करोड़ रुपये), एनएचबी (2,434 करोड़ रुपये), यूनियन बैंक (2,378 करोड़ रुपये), सिंडीकेट बैंक (2,229 करोड़ रुपये), बैंक आफ बड़ौदा (2,075 करोड़), इंडियन बैंक (1,552 करोड़), सेंट्रल बैंक (1,389 करोड़), आईडीबीआई बैंक (999 करोड़) और एचडीएफसी बैंक (361 करोड़ रुपये) बकाया हैं।

रिलायंस-फ्यूचर सौदे के खिलाफ अमेजन का एक और पत्र : इस बीच, अमेरिका की ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ने बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) से 24,713 करोड़ रुपये के फ्यूचर-रिलायंस सौदे की समीक्षा स्थगित करने का आग्रह किया है।

कंपनी ने सौदे को दिल्ली उच्च न्यायालय में दी गयी खुद की चुनौती के आधार पर सेबी से अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) नहीं देने का भी आग्रह किया। अमेजन इससे पहले भी सेबी को पत्र लिखकर ऐसा आग्रह कर चुकी है। यह पिछले साल अक्टूबर से अब तक अमेजन के द्वारा सेबी के चेयरमैन अजय त्यागी को भेजा गया आठवां पत्र है। (इनपुट : भाषा)

Next Stories
1 ‘एक देश, एक राशन कार्ड’ सुधार को पूरा करने वाला 11वां राज्य बना तमिलनाडु , मोदी सरकार ने लॉन्च की थी स्कीम
2 RIL और TCS के बीच कड़ी टक्कर, मुकेश अंबानी की कंपनी के लिए अहम होगा सोमवार का दिन, जानिए क्यों
3 Snapdeal पर फर्जी मिलता है सामान? 4 भारतीय शॉपिंग कॉम्पलेक्स के साथ USTR की बदनाम मार्केट्स लिस्ट में है नाम
ये पढ़ा क्या?
X