Petroleum Minister GST Row: Dharmendra Pradhan speaks on GST and Demonetisation by Narendra modi govt - GST, नोटबंदी पर बोले केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान- नया जूता भी तीन दिन काटता है - Jansatta
ताज़ा खबर
 

GST, नोटबंदी पर बोले केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान- नया जूता भी तीन दिन काटता है

केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने कहा, "जीएसटी हो या नोटबंदी, इसको लेकर रोजगार प्रभावित होने की जो हवा खड़ी की गई, वह ठीक नहीं है।"

शपथ ग्रहण के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ कैबिनेट मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान (फोटो-पीटीआई)

केंद्रीय पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने मंगलवार को जीएसटी और नोटबंदी का जिक्र करते हुए कहा कि ‘नया जूता भी तीन दिन काटता है, फिर सैटिल हो जाता है।’ मध्यप्रदेश के एक दिनी दौरे पर आए प्रधान ने इंदौर में संवाददाताओं के सवालों का जवाब देते हुए यह माना कि नोटबंदी व जीएसटी से शुरुआत में लोगों को दिक्कत हुई और कहा, “जीएसटी हो या नोटबंदी, इसको लेकर रोजगार प्रभावित होने की जो हवा खड़ी की गई, वह ठीक नहीं है। आप भी जब नया जूता पहनते हैं, तो शुरू में तीन दिन वह काटता है और चौथे दिन सैटिल हो जाता है।” कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा जीएसटी को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ बताए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा, “भगवान से प्रार्थना करूंगा कि उन्हें सदबुद्धि दे, उनकी सरकारों ने जीएसटी लाने की बहुत कोशिशें कीं, पिछले दिनों तक उन्हें यह परेशानी थी कि उनकी पार्टी को श्रेय क्यों नहीं दिया जा रहा, हमने तो उन्हें श्रेय दिया है।”

राहुल गांधी का नाम लिए बिना प्रधान ने उनके पिछले बयान का हवाला देते हुए कहा, “जो व्यक्ति अपनी ही पार्टी के प्रधानमंत्री को नॉनसेंस कह दे, वह कुछ भी कह सकता है। वह इस तरह के शब्दों के प्रयोग के आदी हैं, भारत की जनता उन्हें समझ चुकी है।” प्रधान इससे पहले, उज्जैन पहुंचे और अपनी पत्नी के साथ महाकाल के दरबार में पूजा-अर्चना की, पंचामृत से शिवलिंग को स्नान कराया और फूल चढ़ाए।

यहां संवाददाताओं द्वारा जीएसटी को लेकर राहुल गांधी के बयान पर प्रतिक्रिया मांगे जाने पर उन्होंने कहा, “जो लोग हताश, निराश हो जाते हैं, वे असभ्यता और गाली-गलौज की भाषा पर उतर आते हैं। उन्हें देश की राजनीति का ज्ञान नहीं है, समझ नहीं है, गुजरात की जनता उन्हें सबक सिखाएगी।”

उन्होंने आगे कहा, “ये वे लोग हैं, जिन्होंने पीढ़ी दर पीढ़ी शासन करके इस देश को बर्बाद किया है और अभी वे घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं। उन्हें जनता भली-भांति समझती है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App