ताज़ा खबर
 

देश में जल्द खुलेंगे नए पेट्रोल पंप, रिलायंस समेत कई कंपनियां देंगी डीलरशिप, यहां देखें पूरी लिस्ट

पेट्रोलियम मंत्रालय ने 7 कंपनियों को पेट्रोलियम उत्पादों की रिटेल बिक्री की मंजूरी दी है। इसका मकसद ग्रामीण क्षेत्रों में पेट्रोल पंपों की उपलब्धता बढ़ाना है।

एथेनॉल के प्रयोग को बढ़ाने पर जोर (Photo-PTI)

यदि आप पेट्रोल पंप खोलकर खुद का कारोबार करने के बारे में सोच रहे हैं तो आपका इंतजार जल्द खत्म हो सकता है। मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज समेत कई तेल कंपनियां आने वाले दिनों में पेट्रोल पंप डीलरशिप के लिए आवेदन मंगा सकती है। दरअसल, पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस मंत्रालय ने सात कंपनियों को देश में ऑटो फ्यूल बेचने की मंजूरी दी है।

देश में पेट्रोलियम उत्पादों के रिटेल कारोबार को ज्यादा प्रतियोगी बनाने के लिए सरकार ने 2019 में गाइडलाइंस में बदलाव किया था। इन बदलावों के तहत अब मंत्रालय ने रिलायंस इंडस्ट्रीज समेत 7 कंपनियों को ऑटो फ्यूल की रिटेल बिक्री के लिए मंजूरी दी है। मुकेश अंबानी ने फ्यूल रिटेलिंग कारोबार को अपनी सब्सिडियरी रिलायंस बीपी मोबिलिटी को ट्रांसफर कर दिया था। साथ ही पेट्रोलियम से केमिकल्स कारोबार को फिर से संगठित किया गया। इस कारण मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज को फिर से ऑटो फ्यूल के रिटेल कारोबार की मंजूरी लेनी पड़ी है।

पेट्रोलियम मंत्रालय ने इन कंपनियों को दी मंजूरी
1- रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL)
2- इंडियन मोलासिस कंपनी (IMC)
3- असम गैस कंपनी
4- ऑनसाइट एनर्जी
5- एमके एग्रोटेक
6- आरबीएमएल सॉल्यूशंस इंडिया
7- मानस एग्रो इंडस्ट्रीज एंड इंफ्रास्ट्रक्चर

5 साल में कम से कम 100 पेट्रोल पंप खोलने होंगे: 2019 के संशोधित नियमों के तहत मंजूरी पाने वाली कंपनियों को 5 साल में कम से कम 100 रिटेल आउटलेट यानी पेट्रोल पंप खोलने होंगे। इनमें से कम से कम 5% पेट्रोल पंप रिमोट क्षेत्रों यानी ग्रामीण क्षेत्र में होने चाहिए। संशोधित नियमों के अनुसार, फ्यूल रिटेलिंग का कारोबार करने वाली कंपनियों की नेटवर्थ कम से कम 250 करोड़ रुपए होनी चाहिए। यदि कंपनियां रिटेल और बल्क सेल्स का कारोबार करना चाहती हैं तो उनकी नेटवर्थ कम से कम 500 करोड़ रुपए होनी चाहिए।

कैसे मिलेगी डीलरशिप?: यदि आप पेट्रोल पंप की डीलरशिप लेना चाहते हैं तो आपको संबंधित कंपनियों की वेबसाइट पर नजर बनाए रखनी होगी। मंत्रालय से मंजूरी मिलने के बाद यह कंपनियां डीलरशिप के आवेदन की प्रक्रिया शुरू करेंगी। जब कंपनियां आवेदन मंगाएंगी, तब आप डीलरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं। रिलायंस और एस्सार पेट्रोलियम (अब नायरा एनर्जी) जैसी निजी कंपनियां समय-समय पर डीलरशिप के लिए आवेदन मंगाती रहती हैं। डीलरशिप से जुड़ी ज्यादा जानकारी संबंधित कंपनियों की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

देश में 90% पेट्रोल पंप सरकारी कंपनियों के पास: कोविड-19 महामारी की मार के बाद अब देश में पेट्रोल-डीजल की डिमांड बढ़ रही है। जानकारों को उम्मीद है कि 2020 के मुकाबले इस साल पेट्रोल-डीजल की ज्यादा खपत रहेगी। देश के 90% पेट्रोल पंप सरकारी कंपनियों के पास हैं। यह कंपनियां भी पेट्रोल पंप डीलरशिप के लिए आवेदन मंगाती हैं। शेष पेट्रोल पंप रिलायंस इंडस्ट्रीज और एस्सार पेट्रोलियम से जुड़े हैं। अभी भी देश के ग्रामीण क्षेत्रों में पेट्रोल पंपों की सुगम उपलब्धता नहीं है।

Next Stories
1 अमेजन की दो दिवसीय प्राइम-डे सेल 26 जुलाई से, स्मार्टफोन-ज्वैलरी समेत 2400 नए आइटम लॉन्च होंगे
2 जोमैटो के आईपीओ की सफलता पर हर्ष गोयनका ने कसा तंजा, ट्वीट कर कहा- मैं खाने पर 40% डिस्काउंट दूंगा
3 नौकरी की तलाश करने वालों के लिए अच्छी खबर, जानिए जून में कौन-कौन से सेक्टर में बढ़ा रोजगार
आज का राशिफल
X