Petrol and Diesel will become cheaper by 1 rupees - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पेट्रोल व डीजल पर उत्पाद शुल्क 1.50 रुपए लीटर बढ़ा

नई दिल्ली। वित्तीय घाटे से चिंतित सरकार ने आज पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क 1.50–1.50 रुपए लीटर बढ़ा दिया। इससे सरकार को 13,000 करोड़ रुपए का अतिरिक्त राजस्व जुटाने में मदद मिलेगी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के लगातार गिरते दाम से यह स्थिति बनी है। अगस्त के बाद से पेट्रोल के दाम लगातार […]

Author November 13, 2014 4:20 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर।

नई दिल्ली। वित्तीय घाटे से चिंतित सरकार ने आज पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क 1.50–1.50 रुपए लीटर बढ़ा दिया। इससे सरकार को 13,000 करोड़ रुपए का अतिरिक्त राजस्व जुटाने में मदद मिलेगी।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के लगातार गिरते दाम से यह स्थिति बनी है। अगस्त के बाद से पेट्रोल के दाम लगातार छह बार घटे हैं जबकि पिछले एक महीने में डीजल के दाम दो बार घटे हैं। ऐसी संभावना थी कि इस सप्ताहांत दोनों ईंधन के दाम में और कमी की जा सकती है।

लेकिन, अब जबकि सरकार ने राजस्व बढ़ाने के लिए उत्पाद शुल्क में वृद्धि का निर्णय किया है तो संभावित कटौती का असर नहीं दिखेगा।

सरकार की अधिसूचना के अनुसार सामान्य यानी बिना ब्रांड वाले पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 1.20 रुपए से बढ़ाकर 2.70 रुपए लीटर कर दिया गया है। वहीं सामान्य डीजल पर उत्पाद शुल्क 1.46 रुपए से बढ़ाकर 2.96 रुपए प्रति लीटर कर दिया गया है।

वहीं प्रीमियम यानी ब्रांडेड पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 2.35 रुपए से बढ़ाकर 3.85 रुपए लीटर तथा ब्रांडेड डीजल पर उत्पाद शुल्क मौजूदा 3.75 रुपए से बढ़ाकर 5.25 रुपए प्रति लीटर कर दिया गया है।

राजकोषीय घाटा बढ़ने से चिंतित सरकार ने हाल ही में अपने खर्चों में मित्तव्ययिता बरतने के लिए सरकारी अधिकारियों की विदेश यात्रा पर अंकुश लगाने सहित कई उपायों की घोषणा की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App