ताज़ा खबर
 

जॉइंट होम लोन फायदेमंद क्यों है, जानिए किन बातों का रखना होता है ध्‍यान

होम लोन के सभी सह-आवेदक ब्याज और मूलधन के पुनर्भुगतान में अपने योगदान के अनुसार स्वतंत्र रूप से कर लाभ उठा सकते हैं।

Joint Home Loan से आम लोगों को कई तरह के फायदे मिलते हैं। (Photo : FE Twitter)

होम लोन आवेदनों का आकलन करते समय लेंडर्स क्रेडिट स्कोर, आय, रोजगार प्रोफ़ाइल और स्थिरता, आयु और मासिक ऋण दायित्वों पर विचार करते हैं। इनमें से किसी भी पात्रता मानदंड को पूरा ना कर पाने के कारण आपका होम लोन आवेदन खारिज हो सकता है। सीमित चुकौती क्षमता के मामले में आप वांछित राशि को सुरक्षित करने में भी विफल हो सकते हैं। लेकिन संयुक्त रूप से होम लोन लेने से मदद मिल सकती है.

जॉइंट होम लोन का लाभ उठाते समय ध्यान रखने योग्य कुछ महत्वपूर्ण बिंदु नीचे दिए गए हैं। लेकिन पहले, आइए समझते हैं कि होम लोन सह-आवेदक कौन हो सकता है। होम लोन का सह-उधारकर्ता आपके करीबी संबंधों में से एक हो सकता है। जब जॉइंट होम लोन के लिए पात्र संबंधों की पहचान करने की बात आती है तो ऋणदाता आमतौर पर अपने स्वयं के मानदंडों का पालन करते हैं। सामान्य तौर पर, वे ज्यादातर पति-पत्नी, बच्चों, माता-पिता या रक्त संबंधियों को जॉइंट होम लोन के लिए सह-आवेदक बनने की अनुमति देते हैं। कुछ लेंडर्स भाई-बहनों और अविवाहित भागीदारों को संयुक्त गृह ऋण आवेदकों के रूप में स्वीकार नहीं करते हैं।

लोन की एलिलिबिलिटी को बढ़ाता है : एक सह-आवेदक को अपने स्वयं के आय स्रोत और अच्छे क्रेडिट प्रोफाइल के साथ जोड़ने से आपकी समग्र ऋण पात्रता में वृद्धि हो सकती है। चूंकि सह-आवेदक होम लोन के भुगतान के लिए समान रूप से उत्तरदायी है, यह ऋणदाता के लिए ऋण जोखिम को कम करता है और इस प्रकार होम लोन लेने की आपकी संभावना में सुधार करता है। चूंकि ईएमआई की सामर्थ्य का मूल्यांकन करते समय सह-आवेदक की आय पर भी विचार किया जाता है, सह-आवेदक को जोड़ने से आपको बड़ी ऋण राशि प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।

वैसे अधिकांश होम लोन लेंडर्स उन लोगों को कर्ज देते हैं जो 70साल की उम्र से पहले अपना होम लोन चुका दें। 60 की उम्र के आवेदकों का या तो आवेदन रिजेक्‍ट हो जाता है या फिर उन्‍हें कम अवधि के लिए होम लोन दिया जाता है। जिसकी वजह ऐसे लोगों की ईएमआई काफी बड़े अमाउंट की हो जाती है। ऐसे मामलों में, एक युवा सह-आवेदक को जोड़ने से लंबी अवधि के साथ होम लोन लेने में मदद मिल सकती है।

हाई टैक्‍स बेनिफिट्स : होम लोन के प्राथमिक आवेदक के साथ-साथ सह-आवेदक दोनों स्वतंत्र रूप से ब्याज और मूलधन के पुनर्भुगतान में उनके योगदान के अनुसार टैक्‍स बेनिफिट्स प्राप्त कर सकते हैं। धारा 24बी के तहत स्व-अधिकृत संपत्ति के लिए टैक्‍स कंपोनेंट के भुगतान पर 2 लाख रुपए तक की कर कटौती का दावा प्राथमिक आवेदक और सह-आवेदक एवं दोनों के द्वारा किया जा सकता है। इसी तरह, वे होम लोन के मूल घटक को चुकाने के लिए धारा 80 सी के तहत अलग से 1.5 लाख रुपए तक की कर कटौती का लाभ उठा सकते हैं। याद रखें, सह-उधारकर्ता तभी कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं, जब वह संबंधित संपत्ति का सह-मालिक भी हो।

महिलाओं के लिए कम ब्याज दरें : कई होम लोन लेंडर्स महिला सह-आवेदकों के साथ किए गए गृह ऋण आवेदनों पर 5 बेसिस प्‍वाइंट्स की ब्याज दर पर रियायत देते हैं। यह देखते हुए कि इस 5 बीपीएस रियायत के परिणामस्वरूप लंबी अवधि में बड़ी बचत हो सकती है, यदि ऋणदाता ऐसी ब्याज दर रियायत प्रदान करता है तो परिवार की महिला सदस्य को होम लोन सह-आवेदक के रूप में शामिल किया जाना चाहिए।

अपनी होम लोन पात्रता बढ़ाने के अन्य तरीके : कम एलटीवी अनुपात का विकल्प चुनें क्योंकि यह ऋणदाता के क्रेडिट जोखिम को कम करता है, जिससे होम लोन अप्रूवल की संभावना में सुधार होता है। इसके अलावा, उधारदाताओं को आवेदकों की कुल ईएमआई दायित्वों की आवश्यकता होती है, जिसमें नए होम लोन भी शामिल हैं, जो उनकी मासिक आय के 50-55 प्रतिशत के भीतर होना चाहिए। इसलिए, उक्त सीमा को पार करने वाले लंबी चुकौती अवधि का विकल्प चुनकर अपने ईएमआई दायित्वों को कम कर सकते हैं।

Next Stories
1 इन 5 इक्विटी फंड कैटेगरी ने 10 साल में कराई सबसे ज्‍यादा कमाई
2 एलन मस्‍क के प्रोफाइल पिक बदलने से इस क्रि‍प्‍टोकरेंसी की चमकी किस्‍मत, जानिए कितनी करा रही है कमाई
3 पेंशन से जुड़े नियमों में हो सकता है बड़ा बदलाव, जानि‍ए किस तरह से हो सकेगी कमाई
ये पढ़ा क्या?
X