ताज़ा खबर
 

एसबीआई के यह पांच म्‍यूचुअल फंड करा सकते हैं एफडी से ज्‍यादा कमाई, जानिए कितना मिलेगा ब्‍याज

म्‍यूचुअल फंड में वैसे लांग टर्म में निवेश की सलाह दी जाती है, लेकिन अगर आप एक साल के लिए भी निवेश करते हैं तो एफडी से ज्‍यादा कमाई कराते हैं। आज हम आपको स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया के पांच ऐसे में म्‍यूचुअल फंड के बारे में बताएंगे जिन्‍होंने बीते एक साल में अच्‍छा रिटर्न दिया है।

तीन महीने में 5 म्‍यूचुअल फंड ने बैंक एफडी के मुकाबले 5 गुना से ज्‍यादा रिटर्न दिया है। जिसमें एक फंड एसबीआई का शामिल है। ( Express Photo by Anand Singh )

एसबीआई डेट फंड्स द्वारा डेट और मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट्स का निवेश किया जाता है। ये फंड निवेशकों को आयमें स्थिरता लाने के साथ-साथ उनके रुपयों को सुरक्षा प्रदान करते हैं। लंबी अवधि के लिए निवेश करने वाले निवेशकों के लिए भी यह फंड काफी अच्‍छे हैं। एसबीआई म्यूचुअल फंड में भारत के कुछ बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले डेट फंड हैं। सर्वश्रेष्ठ एसबीआई योजनाओं को उनके पिछले प्रदर्शन, एयूएम और अन्य कारकों के आधार पर चुना गया है। जो निवेशक निवेश करना चाहते हैं, वे इन फंडों में ऐसा कर सकते हैं और स्थिर आय बनाने के लिए डेट मार्केट से लाभ उठा सकते हैं।

डेट म्यूचुअल फंड आपके पैसे का एक बड़ा हिस्सा फिक्स्ड-इनकम सिक्योरिटीज जैसे सरकारी बांड, डिबेंचर, कॉरपोरेट बांड और अन्य मनी-मार्केट इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश करता है। डेट म्यूचुअल फंड ऐसे आउटलेट में निवेश करके निवेशकों के लिए जोखिम तत्व को काफी कम करते हैं। यह अपेक्षाकृत सुरक्षित निवेश विकल्प है जो आपको धन बनाने में मदद कर सकता है। आइए आपको भी बताते हैं किे आख‍िर एसबीआई के ऐसे कौन से फंड हैं।

एसबीआई मैग्नम मीडियम ड्यूरेशन फंड डायरेक्ट : एसबीआई मैग्नम मीडियम ड्यूरेशन फंड का डायरेक्ट रिटर्न पिछले साल के दौरान 6.67 फीसदी रहा है। अपने डेब्यू के बाद से इसने हर साल औसतन 9.98 फीसदी का रिटर्न दिया है। फंड का व्यय अनुपात 0.68 फीसदी है, और आप इसमें न्यूनतम 1000 रुपए से निवेश शुरू कर सकते हैं। फंड की शीर्ष होल्डिंग्स भारतीय रिजर्व बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, महिंद्रा रूरल हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड, टाटा रियल्टी और इंफ्रास्ट्रक्चर में हैं। लिमिटेड, फ्लोमेटेलिक इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के पास है। एसबीआई मैग्नम मीडियम ड्यूरेशन फंड का एयूएम 9,412 करोड़ रुपए है।

एसबीआई बैंकिंग एंड पीएसयू फंड : 17 जुलाई, 2021 तक इस फंड का एयूएम 14,078 करोड़ रुपए और एनएवी 2,597.98 रुपए था। एसबीआई बैंकिंग और पीएसयू फंड डायरेक्ट-ग्रोथ पर 1 साल का रिटर्न 4.16 फीसदी है। इसने अपनी स्थापना के बाद से प्रति वर्ष औसतन 8.77 फीसदीका रिटर्न दिया है। फंड की शीर्ष होल्डिंग ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्प लिमिटेड, भारतीय स्टेट बैंक, राष्ट्रीय आवास बैंक, ग्रामीण विद्युतीकरण निगम। लिमिटेड, एक्सिस बैंक लिमिटेड के पास है। बैंकिंग और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (पीएसयू) फंड मुख्य रूप से बैंकों, पीएसयू और सार्वजनिक वित्तीय संस्थानों द्वारा जारी बांड में निवेश करते हैं। वे दो से तीन साल के निवेश के साथ-साथ लंबी अवधि के पोर्टफोलियो में एक निश्चित आय अनुपात के लिए उपयुक्त हैं। आप बैंक सावधि जमा से अधिक रिटर्न की उम्मीद कर सकते हैं। फंड का एक्‍सपेंस रेश्‍यो 0.34 फीसदी है, जो कि अधिकांश अन्य बैंकिंग और सार्वजनिक क्षेत्र के यूनियन फंडों के बराबर है।

एसबीआई मैग्नम इनकम फंड : मध्यम से लंबी अवधि के डेट फंड ज्यादातर बांड में निवेश करते हैं क्योंकि वे समान अवधि के बैंक एफडी की तुलना में अधिक रिटर्न देने का प्रयास करते हैं। इन फंडों में निर्दिष्ट समय अवधि के दौरान पैसे डूबने की संभावना कम होती है, लेकिन ब्याज दर में बदलाव के जवाब में उन्हें कुछ अस्थिरता का सामना करना पड़ सकता है। एसबीआई मैग्नम इनकम डायरेक्ट प्लान पर पिछले एक साल का ग्रोथ रिटर्न 5.76 फीसदी था। इसकी स्थापना के बाद से इसका औसत वार्षिक रिटर्न 8.85 फीसदी रहा है। फंड की शीर्ष होल्डिंग्स भारतीय रिजर्व बैंक, इंडियन बैंक, एम्बेसी ऑफिस पार्क्स आरईआईटी, टाटा रियल्टी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड में हैं। SBI मैग्नम इनकम फंड के डायरेक्ट प्लान का एक्सपेंस रेशियो 0.8 फीसदी है।

एसबीआई सेविंग फंड : इसका एयूएम 22,380.83 करोड़ रुपए है, और 17 जुलाई 2021 तक घोषित नवीनतम एनएवी 34.591 करोड़ है। फंड एक्‍सपेंस रेश्‍यो 0.75 फीसदी जो कि अधिकांश अन्य मनी मार्केट फंडों से अधिक है। भारत सरकार, भारतीय रिजर्व बैंक, एक्सिस बैंक लिमिटेड, नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट और आरबीएल बैंक लिमिटेड फंड की शीर्ष होल्डिंग्स में से हैं। इसकी स्थापना के बाद से इसका औसत वार्षिक रिटर्न 7.25 प्रतिशत रहा है। मनी मार्केट डेट फंड एक साल की मैच्योरिटी वाले शॉर्ट टर्म बॉन्ड में निवेश करते हैं। वे बैंक खाते या अल्पकालिक एफडी की तुलना में कुछ अधिक रिटर्न अर्जित करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। इन फंडों के पास निर्दिष्ट अवधि के दौरान पैसे खोने की न्यूनतम संभावना होती है, लेकिन वे रिटर्न या पूंजी सुरक्षा की गारंटी नहीं देते हैं।

एसबीआई क्रेडिट रिस्क फंड : एसबीआई क्रेडिट रिस्क फंड-ग्रोथ अपनी श्रेणी में एक मध्यम आकार का फंड है, जिसका एयूएम 3,473 करोड़ रुपए है। फंड का व्यय अनुपात 1.54 प्रतिशत है, जो कि अधिकांश अन्य क्रेडिट जोखिम फंडों द्वारा लगाए गए व्यय अनुपात से अधिक है। एसबीआई क्रेडिट रिस्क फंड का 1 साल का ग्रोथ रिटर्न 6.98 फीसदी है। इसकी स्थापना के बाद से इसका औसत वार्षिक रिटर्न 7.64 प्रतिशत रहा है। जीओआई, IndInfravit Trust, टाटा इंटरनेशनल लिमिटेड, फ्लोमेटालिक इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, और गोदरेज इंडस्ट्रीज लिमिटेड फंड की शीर्ष होल्डिंग्स में से हैं।

Next Stories
1 इस कंपनी ने 18 साल में 12500 रुपए के बना दिए 7 लाख रुपए से ज्‍यादा, जानिए कैसे
2 तीन महीने में आधी से भी कम रह गई बिटक्‍वाइन की कीमत, जानि‍ए कितने रह गए दाम
3 एटीएम से निकाल सकते हैं फि‍क्‍स्‍ड डिपॉजिट का रुपया, एसबीआई दे रही है खास सुविधा
ये पढ़ा क्या?
X