एक साल में 22% से अधिक बढ़े पेंशन स्कीम्स के सदस्य- PFRDA डेटा; जानें- किस क्षेत्र से कितने जुड़े हैं सबस्क्राइबर्स?

31 अक्टूबर 2021 तक पीएफआरडीए द्वारा विनियमित विभिन्न पेंशन योजनाओं में 31 अक्टूबर 2021 तक एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) बढ़कर 6,75,925 करोड़ रुपए हो गया, जो कि 31 अक्टूबर 2020 के अंत में 5,12,752 करोड़ रुपए था।

Pension, Utility News, Business News
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

पेंशन फंड रेग्युलेट्री एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (पीएफआरडीए) ने अक्टूबर, 2021 के लिए नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) और अटल पेंशन योजना (एपीवआई) का डेटा जारी किया है।

पीएफआरडीए द्वारा विनियमित विभिन्न पेंशन योजनाओं में सबस्क्राइबर्स की संख्या अक्टूबर 2021 के अंत तक बढ़कर 469.18 लाख हो गई, जबकि यह आंकड़ा पिछले साल यानी अक्टूबर 2020 में 383.12 लाख था। यानी कई पेंशन स्कीम्स के सबस्क्राइबर्स की संख्या में एक साल में 86 लाख से अधिक बढ़ी। प्रतिशत के लिहाज से देखें तो एक साल के भीतर इसमें 22.46 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली।

आंकड़े बताते हैं कि अक्टूबर 2021 तक केंद्र सरकार के तहत आने वाले सबस्क्राइबर्स की संख्या 22.34 फीसदी, राज्य सरकारों के अंतर्गत 54.25 फीसदी, कॉरपोरेट सेक्टर में 12.83 प्रतिशत, ऑल सिटिजन सेक्टर में 18.75 फीसदी, एनपीएस लाइट के तहत 41.94 प्रतिशत और अटल पेंशन योजना के तहत 319.07 थी। इनमें क्रमशः 4.54 फीसदी, 10.11 फीसदी, 21.38 प्रतिशत, 34.80 फीसदी, – और 30.31 फीसदी की वृद्धि देखने को मिली

वहीं, 31 अक्टूबर 2021 तक पीएफआरडीए द्वारा विनियमित विभिन्न पेंशन योजनाओं में 31 अक्टूबर 2021 तक एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) बढ़कर 6,75,925 करोड़ रुपए हो गया, जो कि 31 अक्टूबर 2020 के अंत में 5,12,752 करोड़ रुपए था। इस चीज में 31.82 फीसदी की वर्ष-दर-वर्ष वृद्धि दिखी है। देखें, टेबल:

आधार KYC के जरिए भी APY से जुड़ सकते हैं: अपने ग्राहक आधार का विस्तार करने और ऑन-बोर्डिंग प्रक्रिया को और सरल बनाने के लिए पेंशन फंड नियामक पीएफआरडीए ने हाल ही में आधार ईकेवाईसी को अपनी प्रमुख पेंशन योजना अटल पेंशन योजना के तहत ग्राहकों को जोड़ने के लिए एक अतिरिक्त विकल्प के रूप में अनुमति दी।

पीएफआरडीए मौजूदा समय में भौतिक नेट बैंकिंग और बाकी डिजिटल मोड से ग्राहकों के नामांकन की अनुमति दे रहा है। पीएफआरडीए के बयान के मुताबिक, “सदस्यता की प्रक्रिया सरल बनाने के लिए सीआरए (सेंट्रल रिकॉर्डकीपिंग एजेंसी) आधार ईकेवाईसी के माध्यम से एक अतिरिक्त विकल्प के रूप में डिजिटल ऑन-बोर्डिंग प्रदान करेगा। ये प्रक्रियाएं पेपरलेस हैं।”

पढें Personal Finance समाचार (Personalfinance News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी को आरोपों की जांच करने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशSupreme Court, Army, Army shoot crowd, Delhi
अपडेट