अनिल अंबानी को मिली राहत, रिलायंस कैपिटल के कर्ज में आई 50 फीसदी की कमी

रिलायंस कैपिटल के एजीएम में अनिल अंबानी ने जानकारी दी कि रिलायंस कमर्शियल फाइनेंस और रिलायंस होम फाइनेंस की रिजॉल्‍यूशन प्रोसेस पूरा होने के बाद रिलायंस कैपिटल के कुल कर्ज में 50 फीसदी की कमी आएगी।

Anil Ambani, anil ambani, anil ambani led reliance infra, reliance infra, reliance infra wins, Delhi Metro, reliance infra delhi metro, reliance infra share price, reliance infra, Business News In Hindi, Business News,अनिल अंबानी, रिलायंस इन्फ्रा, अनिल अंबानी रिलायंस समूह,Hindi News, News in Hindi, jansatta
रिलायंस कैपिटल के कर्ज में करीब 50 फीसदी तक की कमी देखने को मिलेगी। (Photo By Indian Express Archive)

रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी ने मंगलवार को कहा कि रिलायंस कमर्शियल फाइनेंस (आरसीएफ) और रिलायंस होम फाइनेंस (आरएचएफ) की समाधान प्रक्रिया के सफलतापूर्वक पूरा होने से रिलायंस कैपिटल को अपने कुल कर्ज में 50 प्रतिशत यानी 20,000 करोड़ रुपए की कमी लाने में मदद मिलेगी। उल्लेखनीय है कि कर्जदाताओं ने इस साल की शुरुआत में आरसीएफ और आरएचएफ का अधिग्रहण करने के लिए ऑथम इन्वेस्टमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (ऑथम) को सफल बोलीदाता के रूप में चुना था।

रिलायंस कैपिटल पर 40 हजार करोड़ रुपए का कर्ज
रिलायंस कैपिटल की रिलायंस कमर्शियल फाइनेंस (आरसीएफ) में 100 प्रतिशत हिस्सेदारी है। जबकि रिलायंस होम फाइनेंस में वह मज्‍योरिटी स्‍टेक होल्‍डर है। अंबानी ने कहा कि रिलायंस कैपिटल के ऊपर एकीकृत रूप से 40,000 करोड़ रुपए का कर्ज है। दो वित्त संस्थानों…आरसीएफ और आरएचएफ…के समाधान की प्रक्रिया के पूरी होने से रिलायंस कैपिटल के कर्ज में कमी आएगी।

20 हजार करोड़ से ज्‍यादा की कमी
उन्होंने रिलायंस कैपिटल की सालाना आम बैठक में कहा कि इन दो कंपनियों (आरसीएफ और आरएचएफ) के बीच 20,000 करोड़ रुपए से अधिक का कर्ज था और ये अब रिलायंस कैपिटल के बही खाते से हट जाएंगे। यानी आरएचएफ और आरसीएफ के केवल दो सौदों से हमारे कर्ज में 50 प्रतिशत यानी 20,000 करोड़ रुपए की कमी आएगी।

इस तरह से डील हुई
उन्होंने कहा कि इसके बाद रिलायंस कैपिटल पर गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर के जरिए मोटे तौर पर 15,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। इसके अलावा करीब 5,000 करोड़ रुपये मूल्य का असुरक्षित और गारंटी वाला कर्ज है। अंबानी ने कहा कि ऑथम आरसीएफ के लिए 2,200 करोड़ रुपए और आरएचएफ के लिए 2,900 करोड़ रुपए देगी। उन्होंने कहा कि हमने अब इस सौदे को पूरा कर लिया है। हमें नियामक और अन्य अनुमोदनों के आधार पर विश्वास है कि ये दोनों कंपनियां प्रबंधन और नियंत्रण में बदलाव के तहत आगे बढ़ेंगी।

रिलायंस कैपिटल की यह भी हैं कंपनियां
ऑथम ने कहा है कि वह आरसीएफ और आरएचएफ के कर्मचारियों को बनाए रखेगी। उन्होंने कहा कि इन दोनों कंपनियों के बीच 20,000 डिबेंचरधारक हैं और निवेशकों को उनका पूरा बकाया मिलेगा। अंबानी ने शेयरधारकों से कहा कि रिलायंस कैपिटल के तहत आने वाली रिलायंस निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस, रिलायंस जनरल इंश्योरेंस, रिलायंस सिक्योरिटीज अच्छा काम कर रही हैं और वित्तीय क्षेत्र के समक्ष जो चुनौतियां हैं, उससे वे प्रभावित नहीं हुई हैं। उन्होंने कहा कि इन कंपनियों में पर्याप्त पूंजी है और अलग से पैसा लगाने की जरूरत नहीं है।

पढें Personal Finance समाचार (Personalfinance News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट