scorecardresearch

इक्विटी में निवेश की है प्‍लानिंग, इन तरीकों से पा सकते हैं बेहतर रिटर्न; जानिए डिटेल

Stock Investment Planning: अगर आप भी इक्विटी निवेश की प्‍लानिंग कर रहे हैं तो कुछ तरीकों से आप अपने इक्विटी निवेश पर अच्‍छा मुनाफा कमा सकते हैं।

इक्विटी में निवेश की है प्‍लानिंग, इन तरीकों से पा सकते हैं बेहतर रिटर्न; जानिए डिटेल
जानिए कैसे करें इक्विटी में निवेश की प्‍लानिंग (फोटो-Freepik)

भविष्‍य की चिंताओं और पैसे की जरूरत को लेकर लोग तरह-तरह के निवेश की प्‍लानिंग करते हैं। कोई सरकारी योजनाओं में पैसा निवेश करता है तो वही कोई शेयर मार्केट में पैसा लगाता है। साथ ही इक्विटी निवेश की भी तैयारी लोगों की ओर से की जाती है। अगर आप भी इक्विटी निवेश की प्‍लानिंग कर रहे हैं तो कुछ तरीकों से आप अपने इक्विटी निवेश पर अच्‍छा मुनाफा कमा सकते हैं।

फंड की अनिश्चितता

निवेश करने पर भविष्‍य में बेहतर रिटर्न मिलता है, इस कारण मुनाफे का एक अनुमान लगाया जा सकता है। खासकर इक्विटी फंड में निवेश की निश्चितता नहीं है। इसलिए सलाह दी जाती है कि बेहतर इक्विटी फंड का चयन करके ही निवेश करना चाहिए।

एक अच्‍छा प्रॉसेस

उन प्रॉसेस पर आपको विशेष ध्‍यान देना चाहिए, जिन्हें आप इक्विटी फंड चुनने के लिए अपनाते हैं। वह समय बिंदु जिस पर आप निवेश करते हैं और वह अवधि जिसके लिए आप निवेश करते हैं। आप एक अच्छे प्रॉसेस का उपयोग करके अपने निवेश को उच्च जोखिम से बचा सकते हैं और निवेश पर मार्केट लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।

ऐतिहासिक रिटर्न

ऐतिहासिक रिटर्न को देखना सबसे आसान काम है। जब इक्विटी की बात आती है, तो रिटर्न बहुत अस्थिर हो सकता है। आप ऐसे फंड का चयन करें, जो मार्केट में अच्‍छा वैल्‍यू रखता हो और जिसपर आपको अच्‍छा रिटर्न मिलने का अनुमान हो। हालाकि इसके बारे में आपको अच्‍छे से जानकारी ले लेना चाहिए।

ज्‍यादा फंड रखना

यदि आप अपने निवेश में विविधता लाते हैं तो आपके पास इक्विटी शेयरों का एक समूह होगा। आप जितना अधिक निवेश करते हैं, आपको उतना ही अधिक मुनाफा मिलने की उम्‍मीद होती है।

लंबी अवधि के लिए एसआईपी का चयन

अगर आप एक समय में बहुत अधिक पैसा लगाए बिना लगातार निवेश करते हैं और यह सुनिश्चित करते हैं कि यह बाजार चक्रों में लंबी अवधि के लिए निवेशित रहता है, तो आपका रिटर्न लंबी अवधि के औसत के करीब होने की संभावना है। ऐसे निवेश के लिए एसआईपी का उपयोग करके हासिल किया जा सकता है।

लंबे समय तक टिके रहना

अगर आपका इक्विटी शेयर मजबूत है और आगे रिटर्न मिलने के चांस अ‍च्‍छे हैं तो इक्विटी निवेश से लंबी अवधि का रिटर्न मुद्रास्फीति के आंकड़ों को मात दे सकता है। इसमें आपको अच्‍छा रिटर्न मिल सकता है, साथ ही लंबे समय तक टिके रहने पर परिसंपत्तियों में निवेश करने और अधिक रिटर्न अर्जित करने में सक्षम बनाती है। इस व्यवसाय जोखिम की भरपाई इक्विटी निवेश पर जोखिम प्रीमियम द्वारा की जाती है।

स्थिर रिटर्न की उम्मीद न करें

भारत में व्यवस्थित रूप से निवेश करने से औसत लंबी अवधि का रिटर्न लगभग 14-16% रहा है। अगर भविष्य में महंगाई कम होती है तो इसमें कमी आएगी। यह भी गंभीर अल्पकालिक उतार-चढ़ाव के अधीन होगा। इसलिए, हर साल एक स्थिर रिटर्न कमाने की उम्मीद न करें बल्कि उतार-चढ़ाव की उम्मीद करें, जो समय के साथ औसत हो जाते हैं।

पढें Personal Finance (Personalfinance News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट