ताज़ा खबर
 

कोरोना की दूसरी वेव में लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदने वालों की बढ़ी तादाद, जानिए कितना हुआ इजाफा

कोरोना वायरस की दूसरी वेव के दौरान युवाओं में लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदने वालों की संख्‍या में इजाफा देखने को मिला है। अप्रैल और मई में टर्म इंश्‍योरेंस खरीदने वालों की संख्‍या में 30 फीसदी से ज्‍यादा का इजाफा देखने को मिला है। जानकारों का कहना है कि लोगों में इंश्‍योरेंस  खरीदने को लेकर जागरुकता बढ़ी है।

टर्म इंश्‍योरेंस लेने पहले आपको कोविड वैक्‍सीन लगवाना अनिवार्य हो गया है। कंपनियों ने कुछ इसी तरह के नए नियम तैयार किए हैं। ( Express Photo by Amit Chakravarty )

कोरोना वायरस की दूसरी लहर में देश में मौतों की संख्‍या में लगातार इजाफा देखने को मिला है। मौजूदा समय में रोज 2500 से ज्यादा मौतें देखने को मिल रही है। जिसकी वजह से जिन लोगों ने अभी तक लाइफ इंश्‍योरेंस पॉलिसी नहीं ली थी, उन्‍होंने भी इसके लिए या तो अप्‍लाई कर लिया है या फ‍िर खरीद ली है। युवाओं में लाइफ इंश्‍योरेंस को लेकर क्रेच बढ़ा है। अप्रैल और मई में युवाओं की संख्‍या में 30 फीसदी से ज्‍यादा का इजाफा देखने को मिला है।

आपको बता दें कि देश में कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्‍या 3,80,000 पहुंच गई है। जोकि अमरीका और ब्राजील के बाद सबसे ज्‍यादा है। जानकारों का तो कहना है किे भारत में कोरोना से मौत का आंकड़ा आध‍िकार‍िक आंकड़ों से कहीं ज्‍यादा है। वहीं भारत में कोरोना टेस्‍ट भी काफी कम हो रहे हैं। जिसकी वजह से देश में कोरोना के आंकड़ों में गिरावट देखने को मिल रही है।

ऑनलाइन इंश्योरेंस पॉलिसी एग्रीगेटर पॉलिसीबाजार के अनुसार कोरोना की सेकंड वेव के बाद अप्रैलमई में टर्म इंश्योरेंस खरीदने वाले 25 से 35 उम्र के युवाओं की संख्‍या में बीते तीन महीने मुकाबले 30 फीसदी से ज्‍यादा का इजाफा देखने को मिला है। इंश्योरेंसदेखो के प्लेटफॉर्म पर टर्म इंश्योरेंस की खरीदारी मार्च के मुकाबले अप्रैल के महीने में 70 फीसदी ज्‍यादा रही है।

बिजनेस सिक्रेसी के कारण इंश्‍योरेंस कंपनियां की ओर से पॉलिसी बेचने के आंकड़ों का खुलासा नहीं कर रही हैं। वहीं कुछ कंपनियों ने इतना जरूर कहा है कि उन्‍होंने हजारों की संख्‍या में पॉलिसी बेची हैं। जानकारों की मानें तो मौजूदा कोरोना के दौर में वित्‍तीय सुरक्षा को लेकर जागरुकता बढ़ी है। लोग इंश्‍योरेंस की इंपोर्टैंस को समझने लगे हैं। दूसरी ओर 35 साल से कम उम्र के लोगों में प्रोटेक्शन प्रोडक्ट्स की डिमांड में इजाफा देखने को मिला है। कोरोना महामारी के बाद से लोगों में यह‍ ट्रेंड देखने को मिल रहा है। बीमा कंपनियों के एग्जिक्यूटिव का कहना है कि बीमा प्लान के लिए पूछताछ बहुत ज्यादा बढ़ी है।

Next Stories
1 3 साल पहले मुकेश अंबानी लेकर आने वाले थे जियो क्‍वाइन, क्‍यों रोकना पड़ा अपना प्रोजेक्‍ट?
2 मई के महीने में Gold ETF में 57 फीसदी कम हुआ निवेश, यह है सबसे बड़ी वजह
3 एलन मस्‍क के ट्वीट का असर जारी, 41 हजार डॉलर के पार पहुंचे बिटक्‍वाइन के दाम
यह पढ़ा क्या?
X