Mutual Fund SIP: रिटायरमेंट के बाद हर महीने 3 लाख रुपए कमाई करने का यह है फॉर्मूला

म्यूचुअल फंड एसआईपी निवेश पर लांग टर्म में कम से कम 10 फीसदी का रिटर्न देते हैं। छोटे निवेशक एसआईपी निवेश के माध्यम से अपनी रिटायरमेंट के बाद इनकम का पता लगाने के लिए म्यूचुअल फंड कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं।

dream interpretation, dreams, sapno ka matlab, money dream, sapne me paisa dekhna,
अगर आपने सपने में बड़ी लॉटरी लगते देखा है तो इसका मतलब है कि असल जिंदगी में आपकी कोई विश पूरी होने वाली है।

सिस्‍टमैटिक इंवेस्‍टमेंट प्‍लान यानी एसआईपी सैलरीड प्रोफेशनल्‍स के बीच काफी लोकप्रिय हो गया है। जिसमें एकमुश्‍त रकम डालने कीप जगह अपनी कमाई का एक छोटा सा हिस्‍सा प्रति माह के हिसाब से निवेश करना होता है। जानकारों की मानें तो म्यूचुअल फंड एसआईपी निवेश पर लांग टर्म में कम से कम 10 फीसदी का रिटर्न देते हैं। छोटे निवेशक एसआईपी निवेश के माध्यम से अपनी रिटायरमेंट के बाद इनकम का पता लगाने के लिए म्यूचुअल फंड कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं।

बहुत से लोग पैसे जमा करने के लिए बचत करते हैं, ताकि उन्हें बुढ़ापे में काम न करना पड़े। एक परिवार जो 40,000 से 45,000 रुपए प्रति माह भेजता है, उसे वर्तमान में मुद्रास्फीति को ध्यान में रखते हुए लगभग 3 लाख रुपए प्रति माह की आवश्यकता होगी। ऐसे में रिटायरमेंट फंड जमा करने के लिए लांग टर्म एसआईपी का प्रयोग किया जा सकता है। आइए समझने का प्रयास करते हैं कि रिटायरमेंट के बाद हर महीने 3 लाख रुपए की कमाई के लिए आपको कितने समय तक कितने रुपए की हर महीने एसआईपी करने की जरुरत है।

कितने रुपए की एसआईपी की जरुरत : यहां हमें इंफ्लेशन को ध्‍यान में रखना काफी जरूरी है। 6 से 6.5 फीसदी के इंफ्लेशन को ध्‍यान में रखते हुए 40 से 45 हजार रुपए के घरेलू खर्च आने वाले कुछ दशकों में 3 लाख रुपए में बदल जाएगा। इसलिए निवेशकों को अपने भविष्य के लिए बचत करते हुए इस मंथली टारगेट को ध्‍यान में रखना काफी जरूरी है। विशेषज्ञों का कहना है कि 25 साल की लाइफ एक्‍सपेक्‍टेंसी और 6 फीसदी की महंगाई को ध्यान में रखते हुए, एक व्यक्ति को रिटायरमेंट के बाद प्रति माह 3 लाख रुपए की इनकम पैदा करने के लिए लगभग 7.2 करोड़ रुपए की जरुरत होगी। इसके लिए, एक निवेशक को सिस्टमैटिक विदड्रॉल प्लान में 7.2 करोड़ रुपए का निवेश करना होगा, जहां उन्हें 8 फीसदी रिटर्न मिलेगा, जो कि 6 फीसदी सालाना महंगाई दर से दो फीसदी ज्‍यादा है।

30 साल के लिए करें एसआईपी : अगर आपकी उम्र 30 साल है तो आपको अपना रिटायरमेंट फंड जमा करने के लिए करीब 30 साल होंगे। हालांकि, ऐसे निवेशक का शुरुआती मासिक एसआईपी अंतिम एसआईपी इंस्‍टॉलमेंट के बराबर नहीं होना चाहिए। क्योंकि समय बीतने के साथ आय में वृद्धि होती है। ऐसे में अपने टारगेट तक जल्‍दी से जल्‍दी पहुंचने के लिए निवेशक को हर साल अपने एसआईपी में 10 फीसदी का इजाफा करना चाहिए।

इनकम टैक्‍स को भी रखें ध्‍यान : किसी के निवेश के लिए एक बड़ा खतरा इनकम टैक्‍स भी है। जिसे रिटायरमेंट की प्‍लानिंग बनाते समय भी ध्यान में रखना होगा। एसआईपी में 30 साल की अवधि के लिए निवेश करने के बाद निवेशक 12 फीसदी ग्रॉस रिटर्न या 10 फीसदी टैक्‍स के बाद रिटर्न मिलने की उम्‍मीद है। 30 साल की मासिक एसआईपी पर 12 फीसदी या 10 फीसदी पोस्ट-टैक्स रिटर्न को ओवरऑल रिटर्न मानते हुए स्टेप अप म्यूचुअल फंड एसआईपी कैलकुलेटर के अनुसार 9.61 करोड़ का फंड क्रिएट करने की जरुरत है। जोकि टैक्‍स के बाद 7.61 करोड़ रुपये हो जाएगा। म्यूचुअल फंड कैलकुलेटर के अनुसार, अगले 30 वर्षों में प्रति वर्ष 3 लाख रुपए की मासिक आय को पूरा करने के लिए प्रति माह 12,000 रुपए का एसआईपी शुरू करने की जरूरत है।

पढें Personal Finance समाचार (Personalfinance News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट