ताज़ा खबर
 

पेंशन से जुड़े नियमों में हो सकता है बड़ा बदलाव, जानि‍ए किस तरह से हो सकेगी कमाई

पीएफआरडीए एक बड़ा फैसला लेने जा रहा है। जल्‍द ही पेंशन फंड को आईपीओ में निवेश करने की मंजूरी मिल सकती है। जिससे पेंशन फंड में निवेश करने वालों को ज्‍यादा से रिटर्न मिल सकता है। आइए आपको भी बताते हैं इसके बारे में.

7th Pay Commission: पूर्व कर्मचारियों ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर पेंशन नियमों में बदलाव पर चिंता जतायी। (express file)

पेंशन फंड रेगुलेटरी डेवलपमेंट अथॉरिटी की ओर से एक बड़ा फैसला लिया जा सकता है। जिससे पेशन फंड के निवेशकों की मोटी कमाई हो सकती है। जानकारी के अनुसार पेंशन फंड रेगुलेटर अथॉरिटी जल्‍द ही पेंशन फंड को आईपीओ में निवेश करने की अनुमति दे सकती है। जिससे पेंशन स्‍कीम में निवेश करने वाले लोगों को ज्‍यादा रिटर्न मिल सकता है। पीएफआरडीए के अधिकारियों के अनुसार ऐसा होने पर रिटर्न बढ़ने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। इसका एक और कारण यह भी है कि बीते काफी समय से आईपीओ का प्रदर्शन काफी शानदार रहा है।

आपको बता दें कि कोरोना काल में जहां एक ओर पेंशन स्‍कीम लेने वालों की संख्‍या में इजाफा देखने को मिला है। वहीं दूसरी ओर कंपनियों के आईपीओ आने का सिलसिला भी जारी है। इस साल वैसे भी क‍ई आईपीओ आने वाले हैं। जिनके शानदार प्रदर्शन की उम्‍मीद की जा रही है। यानी पेंशन फंड में निवेश करने वालों की चांदी होने वाली है।

आखि‍र क्‍या है उद्देश्‍य : पीएफआरडीए के चेयरमैन सुप्रतिम बंद्योपाध्याय के अनुसार कोरोना काल में ब्याज में बढ़ोतरी करने के साथ रिटायरमेंट के लिए पैसा जमा करने वाले निवेशकों की संख्‍या में वित्त वर्ष 2022 तक 1 करोड़ का इजाफा करने का टारगेट रखा है। मौजूदा समय में पेंशन फंड मैनेजर्स कॉर्पस के इक्विटी कंपोनेंट का निवेश केवल ऑप्शंस एंड फ्यूचर्स सेगमेंट वाले शेयरों में कर सकते हैं, जिनकी मार्केट कैप 5000 करोड़ रुपए से ज्यादा की होती है।

नए नियमों का होगा ऐलान : पीएफआरडीए के अनुसार ये फंड मैनेजर्स के लिए मौकों को सीमित करता है, जो नई पेंशन योजना की शुरुआत के बाद से इक्विटी से 11.31 फीसदी का कंपाउंड एन्युअल ग्रोथ रेट देने में सक्षम हैं। बंद्योपाध्याय का कहना है कि दो या तीन दिन में नए नियमों को नोटिफाई कर दिया जाएगा। यह नियम उन कैटेगिरी को बढ़ावा देंगे जहां पर शेयर बाजार में निवेश किया जा सकता है। इस तरह से पेंशन के रुपयों को आईपीओ, एफपीओ और ओएफएस में निवेश किया जा सकेगा। वहीं शेयरों में निवेश की एक बड़ी फेहरिस्‍त होगी। पीएफआरडीए के अनुसार ज्यादा से ज्यादा इक्विटी में निवेश किया जाए क्योंकि यहां रिटर्न अच्छा मिलता है।

नए पेंशन सब्सक्राइबर्स जोड़ने का रखा है टारगेट : मौजूदा समय तक इक्विटी निवेश ने 11.31 फीसदी का रिटर्न दिया है। कॉरपोरेट डेट का रिटर्न 10.21 फीसदी का देखने को मिला है। गवर्नमेंट सिक्योरिटीज की ओर से 9.69 फीसदी का रिटर्न देखने को मिला है। वहीं नेशनल पेंशन स्‍कीम में 4.37 करोड़ लोगों ने निवेश किया हुआ है। जिसमें अटल पेंशन स्‍कीम में निवेश करने वालों की संख्‍या 2.90 करोड़ है। पीएफआरडीए ने इसमें 1 करोड़ नए लोगों को जोड़ने का टारगेट रखा है। आपको बता दें कि कोरोना महामारी के बाद भी पेंशन फंड में निवेश करने वालों की संख्‍या में 1.60 लाख नए लोग जोड़े हैं।

Next Stories
1 इस सॉफ्टवेयर कंपनी ने निवेशकों को किया मालामाल, एक साल में 500 फीसदी से ज्‍यादा का दिया रिटर्न
2 रतन टाटा की इस कंपनी ने एक साल में की निवेशकों पर नोटों की बारिश, 3.40 लाख के बना दिए करीब 13 लाख रुपए
3 नवजोत सिंह सि‍द्धु भी करते हैं पोस्‍ट ऑफ‍िस की इस योजना में निवेश, आप भी कर सकते हैं कमाई
आज का राशिफल
X