PM Jan Dhan Yojana में बैलेंस जानने के लिए बस एक मिस कॉल से मिलेगी पूरी जानकारी

PM Jan Dhan Yojana में अपने अकाउंट के बैलेंस के बारे में दो तरीकों से पता लगा सकते हैं। पहला तरीका है मिक्‍स्‍ड कॉल के माध्‍यम से जिस पर कॉल करने से आप अपने अकाउंट का बैलेंस पता कर सकते हैं। दूसरा तरीका है पीएफएमएस पोर्टल पर जाकर। जहां से आपका बैलेंस पता चल सकता है। आइए आपको भी बताते हैं तरीका।

Smatphone battery saving tips, how to increase battery life, phone battery saving tips,
मोबाइल फोन की ऐसे बढ़ाएं बैटरी लाइफ। फाइल फोटो

PM Jan Dhan Yojana जिसे प्रधानमंत्री जनधन योजना भी कहा जाता है एक ऐसी योजना है जिससे देश के गरीबों का जीरो बैलेंस पर खोला जाता है। यह खाता देश के किसी भी पोस्‍ट ऑफ‍िस, सरकारी बैंक और प्राइवेट बैंक में खोला जा सकता है। इस बैंक खाते में कई तरह की सुविधाएं मिलती हैं। जिसमें बिना बैंक जाए सिर्फ एक मिस्‍ड कॉल से आप अपने खाते का बैलेंस तक‍ जान सकते हैं। वहीं एक पोर्टल के माध्‍यम से भी अपने बैलेंस को जाना जा सकता है।

इस पोर्टल का नाम है पीएफएमएस। जिसमें आराम से लॉगइन किया जा सकता है। जानकारी के अनुसार पहले आपको https://pfms.nic.in/NewDefaultHome.aspx# पर जाना होगा और नो योर पेमेंट पर क्लिक करना होगा। जिसके बाद अकाउंट नंबर एंटर करना होगा । अकाउंट नंबर को दो बार अपडेट करना होगा। जिसके बाद आपको एक कैप्‍चा कोड मिलेगा जो आपको सावधानी के साथ एंटर करना होगा। जिसके बाद आपका बैलेंस आपके सामने आ जाएगा।

मिस्‍ड कॉल से जाने अपना बैलेंस: आप मिस्‍ड कॉल के जरिए भी अपने बैलेंस के बारे में जान सकते हैं। अगर आपका स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया में जनधन अकाउंट है तो आपको इसके लिए 18004253800 या फिर 1800112211 नंबर पर मिस्ड कॉल देना होगा। ध्‍यान देने वाली बात यह है कि आपको अपने रजिस्‍टर्ड मोबाइल नंबर पर ही मिस्‍ड कॉल देना होगा। जिसके बाद आपको बैलेंस का मैसेज आ जाएगा।

अकाउंट खोलने के लिए ये डॉक्‍युमेंट्स हैं जरूरी : प्रधानमंत्री जनधन योजना में अकाउंट खुलवाने के लिए आपके पास आधार कार्ड, पासपोर्ट या ड्राइविंग लाइसेंस या PAN कार्ड, वोटर कार्ड, अथॉरिटी से जारी लेटर, जिसमें नाम, पता और आधार नंबर लिखा हो, गजेटेड ऑफिसर द्वारा जारी लेटर होना चाहिए, जिस पर अकाउंट खुलवाने का अटेस्टेड फोटो लगा हो।

नया अकाउंट खुलवाने का प्रोसेस : आप नया जनधन अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो अपने पास बैंक में जाएं और फॉर्म भर दें। जिसमें आपको नाम, मोबाइल नंबर, बैंक ब्रांच का नाम, आवेदक का पता, नॉमिनी, व्यवसाय/रोजगार और एनुअल इनकम व आश्रितों की संख्या, एसएसए कोड या वार्ड नंबर, विलेज कोड या टाउन कोड आदि की डिटेल में जानकारी देनी होगी।

पढें Personal Finance समाचार (Personalfinance News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
एलआईसी का आईपीओ आते ही मुकेश अंबानी की रिलायंस नहीं रहेगी देश की सबसे बड़ी कंपनी, आखिर क्या कहते हैं आंकड़ेंlic news, lic latest news
अपडेट