Home Loan : गिरती ब्‍याज दरों से आप इस तरह उठा सकते हैं फायदा

बीते एक साल में होम लोन की ब्‍याज दरों में काफी गिरावट देखने को मिली है। मौजूदा समय में सबसे कम ब्‍याज दर 6.50 फीसदी के साथ कोटक महिंद्रा बैंक दे रहा है। मौजूदा और नए होम लोन कस्‍टमर्स इन गिरती ब्‍याज दरों का फायदा ले सकते हैं।

Home Loan
बीते एक साल में औसतन होम लोन की ब्‍याज दरें 8 फीसदी से 6.5 फीसदी पर आ गई हैं। (Photo By Indian Express Archive)

कोटक महिंद्रा बैंक ने हाल ही में अपने होम लोन की दरों को 6.65 फीसदी से घटाकर 6.50 फीसदी कर दिया है, जो त्योहारी सीजन के दौरान सीमित अवधि के लिए स्‍पेशल इंट्रस्‍ट रेट है। यह स्‍पेशल इंट्रस्‍ट रेट 10 सितंबर से शुरू होकर 8 नवंबर 2021 तक जारी रहेगी। बैंक का दावा है कि यह होम लोन उद्योग में सबसे कम इंट्रस्‍ट रेट है। पिछले साल से होम लोन की ब्याज दरें 7 फीसदी से नीचे आ गई हैं। इसका कारण भी भारतीय रिज़र्व बैंक देश के विकास के लिए बड़ी मात्रा में लिक्विडिटी मार्केट और बैंकों में डाला है। कोटक महिंद्रा बैंक के अलावा भारतीय स्टेट बैंक और एचडीएफसी जैसे अन्य बैंकों की ब्‍याज दरें 6.7 फीसदी हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि आप इन ब्‍याज दरों का फायदा किस तरह से उठा सकते हैं।

क्या आप अभी भी अपने होम लोन पर 7 फीसदी से अधिक ब्याज का भुगतान कर रहे हैं? यदि हां, तो आपको अपने बैंक से पूछने का यही सही समय है कि क्या वो कम ब्‍याज दरों के लिए एलिजिबल हैं या नहीं। वास्‍तव में अधिकतर बैंक और लेंडर्स उन उधारकर्ताओं को कम ब्‍याल दर ऑफर करते हैं जिनका आउटस्‍टैंडिंग एवं नई लोन राशि 30-35 लाख रुपए तक है। उदाहरण के तौर पर भारतीय स्टेट बैंक 30 लाख रुपए तक के आउटस्‍टैंडिंग लोन अमाउंट पर 6.7 फीसदी की सबसे सस्ती होम लोन दर प्रदान करता है। आईसीआईसीआई बैंक 35 लाख रुपए तक के आउटस्‍टैंडिंग लोन अमाउंट पर 6.75 फीसदी ब्‍याज दर पेश कर रहा है।

वहीं दूसरे पैरामीटर भी हैं। सैलरीड लोगों को सेल्‍फ इंप्‍लॉयड के मुकाबले कम दरों पर होम लोन मिलता है। उदाहरण के लिए, आईसीआईसीआई बैंक सेल्‍फ इंप्‍लॉयड के लिए 6.9 फीसदी की न्यूनतम दर प्रदान करता है, जबकि वेतनभोगी व्यक्ति 6.75 फीसदी पर लाभ उठा सकते हैं। हालांकि, होम लोन की ब्याज दर तय करने वाला सबसे महत्वपूर्ण कारक आपकी क्रेडिट हि‍स्‍ट्री है।

उदाहरण के लिए, कोटक महिंद्रा नए ग्राहकों को 6.5 फीसदी पर लोन तभी देगा जब उनका क्रेडिट स्कोर 800 या अधिक हो। बैलेंस ट्रांसफर के मामले में, कोई व्यक्ति 6.5 फीसदी का लाभ तभी उठा सकता है, जब उसका क्रेडिट स्कोर 750 या उससे अधिक हो। एक क्रेडिट स्कोर आपकी साख और भविष्य में कर्ज का भुगतान करने की क्षमता को बताता है।

आमतौर पर, बैंक आपके होम लोन की ब्याज दर कम करने के लिए प्रोसेसिंग शुल्क लेते हैं। यह वह जगह है जहां आपको जांचना होगा कि क्या ब्याज दर कम करने के लिए शुल्क का भुगतान करना उचित है। यदि पेशकश की जा रही कम दर 0.05-0.20 फीसदी की सीमा में है, तो आपको यह देखना चाहिए कि क्या यह आपके द्वारा भुगतान किए जा रहे शुल्क से अधिक पैसा बचाता है।

यदि आपका बैंक आपको कम दर की पेशकश नहीं कर रहा है, तो आप मौजूदा बैंक को बंद करके अपने ऋण को एक नए बैंक में ट्रांसफर कर सकते हैं। यहां भी, आपको लागत-लाभ का असेसमेंट करना होगा। यह तय करना होगा कि लोन को दूसरे बैंक में ट्रांसफर करने का पेन लेना सही है या नहीं। जानकारों की मानें तो सवाल यह है कि ओरिजनल टेन्‍योर के आधार पर लोन चुकाने के लिए कितना समय बचा है। यदि यह एक पुराना लोन है तो 0.2 फीसदी कम दर आपको ज्यादा बचत नहीं कराएगी। साथ ही, आपको नए लेंडर को प्रोसेसिंग फीस और दूसरी फीस का भी भुगतान करना होगा। एनबीएफसी अभी भी फोरक्‍लोजर फीस लेते हैं।

पढें Personal Finance समाचार (Personalfinance News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट