एफडी, म्‍यूचुअल फंड, पीपीएफ, सुकन्‍या समृद्धि योजना, किसमें जल्‍दी होगा आपका रुपया डबल

रूल 72 आपको बताता है कि आपका पैसा कितनी तेजी से दोगुना होगा। कितना पैसा दोगुना होगा, यह जानने से पहले अपने लक्ष्यों और निवेश की अवधि निर्धारित करना महत्वपूर्ण है।

investment
पीपीएफ, म्‍यूचुअल फंड के अलावा कई जगहों पर आप लांग टर्म इंवेस्‍टमेंट कर रिटर्न पा सकते हैं। (Photo by Indian Express Archive)

सरकार ने बैं‍क डिपॉजिट ब्‍याज दरों में में नरमी के बीच अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के लिए स्‍मॉल सेविंग स्‍कीम पर ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। गिरती ब्याज दरें निवेशकों को बेहतर रिटर्न अर्जित करने के लिए निवेश के दूसरे ऑप्‍शन तलाशने पर मजबूर कर रही हैं। सवाल यह है कि आपको कौन सा निवेश इंस्‍ट्रूमेंट चुनना चाहिए? सबसे पहले अपनी निवेश अवधि और वह लक्ष्य तय करें जिसके लिए आप निवेश करना चाहते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप अपनी बेटी की उच्च शिक्षा के लिए बैंक FD में निवेश कर रहे थे, तो आप सुकन्या समृद्धि योजना या म्यूचुअल फंड में स्विच कर सकते हैं।

ताकि योजना को सलेक्‍ट करने में मिले मदद
एक बार जब आप अपने लक्ष्यों और जोखिम प्रोफाइल के आधार पर योजनाओं को शॉर्टलिस्ट कर लेते हैं, तो आप सबसे अच्छा रिटर्न देने वाले को चुनने के लिए रिटर्न अंतर को भी देख सकते हैं। एक आसान तुलना के लिए, यहां हम यह पता लगाएंगे कि इन निवेश साधनों को आपके निवेश को दोगुना करने में कितना समय लगता है। एक योजना का चयन करना तब आसान हो जाएगा जब आपको पता चल जाए कि कौन सी योजना आपके निवेश को तेजी से दोगुना कर देगी।

रूल 72 बताएगा आपका रुपया कब होगा डबल
यह रूल 72 आपको बताता है कि आपका पैसा कितनी तेजी से दोगुना होगा। कितना पैसा दोगुना होगा, यह जानने से पहले अपने लक्ष्यों और निवेश की अवधि निर्धारित करना महत्वपूर्ण है। आइए अब ’72 का नियम’ का उपयोग करके पता करें कि ये निवेश कितनी तेजी से पैसे को दोगुना कर सकते हैं। हम यह देखने के लिए ‘रूल 72′ का उपयोग करेंगे कि ये निवेश कितनी तेजी आपके धन को दोगुना कर सकते हैं। रूल 72 एक फॉर्मूला है जहां हम ’72’ संख्या को इंवेस्‍टमेंट इंस्‍ट्रूमेंट द्वारा दी जाने वाली ब्याज दर से भाग करते हैं ताकि यह अंदाजा लगाया जा सके कि आप उस विशेष निवेश के साथ अपने पैसे को कितनी जल्दी दोगुना कर सकते हैं।

कौन सा निवेश कब करेगा आपका रुपया डबल

  • बैंक एफडी की करें तो 5.5 फीसदी पर आपका रुपया डबल होने में करीब 13 साल लग जाएंगे।
  • वहीं बात पीपीएफ की करें तो 7.1 फीसदी प्रति वर्ष की ब्याज दर की पेशकश कर रहा है। ब्याज दर 7.1 फीसदी (72/7.1 = 10.14) पर बनी हुई है, तो पीपीएफ को आपके पैसे को दोगुना करने में लगभग 10 साल लग जाएंगे।
  • इसी तरह, सुकन्या समृद्धि योजना में 7.6 फीसदी की मौजूदा ब्याज दर पर आपके पैसे को दोगुना करने में लगभग 9.4 साल लगेंगे।

कर सकते हैं स्विच
ऊपर दी गई कुछ योजनाएं आपको मौजूदा ब्याज दरों पर अपने निवेश को दोगुना करने के लिए लंबी परिपक्वता अवधि प्रदान नहीं कर सकती हैं, लेकिन यह अभ्यास आपको बैंक एफडी का विकल्प चुनने में मदद करेगा और यह भी समझाने का प्रयास करेगा कि आपको निवेश से कितनी उम्मीद है। यदि आप पूरी तरह से स्विच नहीं करना चाहते हैं तो आप अपने निवेश पर बेहतर रिटर्न हासिल करने के लिए अपने पोर्टफोलियो में इन्‍हें एड कर सकते हैं। ध्यान देने वाली बात यह है कि रूल 72 एक अनुमानित आइडिया देता है और इसमें एकमुश्‍त निवेश के पैमाने को मानता है।

पढें Personal Finance समाचार (Personalfinance News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट