कोरोना के नए रूप से बाजार में दो दिनों से जारी तेजी पर विराम: Omicron केस आने से Sensex 764 अंक टूटा, Nifti भी गिरा

तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 764.83 अंक यानी 1.31 प्रतिशत लुढ़क कर 57,696.46 अंक पर बंद हुआ। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 204.95 अंक यानी 1.18 प्रतिशत टूटकर 17,196.70 अंक पर बंद हुआ।

stock market, bombay stock exchange, corona, corona omocrine variants,
कोरोना के ओमिक्रोन वेरिएंट की वजह से शेयर बाजार में गिरावट दिखी।

शेयर बाजारों में दो दिनों से जारी तेजी पर शुक्रवार को विराम लग गया और बीएसई सेंसेक्स 765 अंक का गोता लगाकर बंद हुआ। देश में कोरोनावायरस के नये स्वरूप ओमीक्रोन का पहला मामला सामने आने के बाद निवेशकों के जोखिम वाले निवेश से दूर हटने की वजह से बाजार में गिरावट आई। केंद्र ने बृहस्पतिवार को कहा था कि कर्नाटक में ओमीक्रोन के दो मामले सामने आए हैं। दोनों संक्रमित पुरूष हैं और उनकी उम्र 66 तथा 46 साल है। उनमें संक्रमण के हल्के लक्षण पाए गए हैं।

हालांकि सरकार ने लोगों से घबराहट में आने का अनुरोध करते हुए कहा है कि वे मास्क लगाने और निश्चित दूरी का पालन करने जैसे कोविड से बचाव के निर्धारित तरीकों का पालन करते रहें। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 764.83 अंक यानी 1.31 प्रतिशत लुढ़क कर 57,696.46 अंक पर बंद हुआ। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 204.95 अंक यानी 1.18 प्रतिशत टूटकर 17,196.70 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स के शेयरों में 4.03 प्रतिशत की गिरावट के साथ सर्वाधिक नुकसान में पावरग्रिड रही। इसके अलावा रिलायंस इंडस्ट्रीज, एशियन पेंट्स, कोटक बैंक, टेक महिंद्रा, भारती एयरटेल और मारुति भी नुकसान में रहें। सेंसेक्स में शामिल केवल चार शेयर- एलएंडटी, इंडसइंड बैंक, टाटा स्टील और अल्ट्राटेक सीमेंट ही लाभ में रहें। इनमें 0.72 प्रतिशत तक की तेजी रही। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘शेयर बाजारों में शुरूआत अच्छी रही लेकिन अगले सप्ताह रिजर्व बैंक की होने वाली मौद्रिक नीति समीक्षा से पहले सूचकांक में मजबूत हिस्सेदारी रखने वाले शेयरों में गिरावट के कारण बाजार नीचे आ गया। इसके अलावा निवेशक भारत में ओमीक्रोन का मामला सामने आने से भी सतर्क हुए।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि दुनिया के प्रमुख शेयर बाजारों में बृहस्पतिवार की गिरावट के बाद आज तेजी रही।’’ नायर के अनुसार, ‘‘आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की बैठक में किए जाने वाले निर्णय से बाजार को दिशा मिलेगी। ऐसी संभावना है कि केंद्रीय बैंक कोरोना वायरस के नये स्वरूप को देखते हुए उदार रुख बनाये रखेगा।’’ इस कारोबारी सप्ताह में सेंसेक्स 589.31 अंक यानी 1.03 प्रतिशत मजबूत हुआ जबकि निफ्टी में 170.25 अंक की तेजी रही।

यह भी पढ़ें: कोरोना के नए स्ट्रेन से बाजार में हाहाकार! एक मिनट में आई पांच लाख करोड़ की कमी, दो दिन के भीतर मार्केट कैप 12 लाख करोड़ रुपए घटा

कैपिटल वाया ग्लोबल रिसर्च के शोध प्रमुख गौरव गर्ग ने कहा कि निवेशक ओमीक्रोन के कारण फैली अनिश्चतताओं को लेकर चिंतित हैं। एशिया के अन्य बाजारों में चीन में शंघाई कंपोजिट सूचकांक, दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और जापान का निक्की लाभ में रहें जबकि हांगकांग के हैंगसेंग में गिरावट रही। यूरोप के प्रमुख बाजारों में दोपहर के कारोबार में सकारात्मक रुख रहा। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 2.38 प्रतिशत मजबूत होकर 71.32 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर 14 पैसे फिसलकर 75.16 पर बंद हुई।
शेयर बाजार में उपलब्ध आंकड़े के अनुसार विदेशी सस्थागत निवेशक बाजार में शुद्ध रूप से बिकवाल बने हुए हैं और उन्होंने बृस्पतिवार को 909.71 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे।

पढें Personal Finance समाचार (Personalfinance News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट