कैमि‍कल बनाने वाली कंपनी ने एक साल में दिया करीब चार पांच गुना प्रोफिट, जानिये कैसे

यशो इंडस्ट्रीज के शेयरों में एक साल में 392 फीसदी की तेजी देखने को मिली है। अगर मौजूदा साल की बात करें तो इस कंपनी का स्‍टॉक मल्‍टीबैगर साबित हुआ है। साथ ही 8 महीने 10 दिन यानी 250 दिन में कंपनी के शेयरों ने 300 फीसदी से ज्‍यादा का रिटर्न दिया है।

Stock Market
यशो इंडस्‍ट्रीज ने एक साल में 392 फीसदी का रिटर्न दिया है। (Photo By Indian Express Archive)

भारतीय बाजारों में नई रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने के साथ, इस साल विभिन्न क्षेत्रों के कई शेयरों ने बेहतर प्रदर्शन किया है और मल्टीबैगर रिटर्न दिया है। बेहतर आउटलुक, डिमांड में तेजी के बीच केमिकल में अच्‍छी तेजी देखने को मिला है। केमकिल इंडस्‍ट्री की नामी कंपनि‍यों में यशो इंडस्ट्रीज ने निवेशकों को बीते एक साल में जबरदस्‍त रिटर्न दिया है। आइए आपको भी बताते हैं कि आख‍िर इस कंपनी ने निवेशकों को इस साल और बीते एक साल में कितना रिटर्न दिया है।

बीते एक साल में 392 फीसदी की तेजी
यशो इंडस्ट्रीज के शेयरों में एक साल में 392 फीसदी की तेजी देखने को मिली है। अगर मौजूदा साल की बात करें तो इस कंपनी का स्‍टॉक मल्‍टीबैगर साबित हुआ है। साथ ही 8 महीने 10 दिन यानी 250 दिन में कंपनी के शेयरों ने 300 फीसदी से ज्‍यादा का रिटर्न दिया है। जनवरी की शुरुआत में लगभग 160 रुपए के स्तर पर था जो आज लगभग 645 रुपए प्रति शेयर पर पहुंच गया है।

इन केमिकल्‍स का करती है प्रोडक्‍शन
यशो इंडस्ट्रीज लिमिटेड विभिन्न प्रकार के केमिकल्‍स का प्रोडक्‍शन करती है। जिसमें स्पेशलिटी केमिकल्स, अरोमा केमिकल्स, फूड एंटीऑक्सिडेंट्स, रबर एक्सेलेरेटर्स और लुब्रिकेंट एडिटिव्स प्रमुख हैं। इसकी मैन्‍युफेकचरिंग यूनिट्स 9,200 एमटीपीए की संयुक्त क्षमता के साथ वापी, गुजरात में स्थित हैं।

फूड एंटीऑक्सिडेंट में दबदबा
यशो इंडस्‍ट्रीज फूड एंटीऑक्सिडेंट और अरोमा केमिकल सेक्‍टर में अग्रणी है, और रबड़ और स्पेशलिटी केमिकल्स में एक उभरती हुई कंपनी है। कंपनी ने यूरोप, अमरीका, मध्य पूर्व और एशिया के 42 विभिन्न देशों में व्यापक इंटरनेशनन ऑपरेशंस से डॉमेस्टिक और ग्‍लोबल मार्केट में अपने कारोबार को बढ़ाया है। कंपनी के शेयर एसएमई कैटेगरी के तहत बीएसई पर लिस्टेड हैं।

अगले पांच सालों में और देखने को मिलेगी तेजी
बढ़ती मांग और प्राप्तियों के साथ, स्पेशलिटी केमिकल्स मैन्‍यूफैक्‍चरर पिछले कुछ समय से फोकस में हैं। कंपनियों ने पिछले एक साल में मुनाफे और कमाई में जबरदस्‍त देखने को मिला है। ब्रोकरेज पॉजिटिव आउटलुक के साथ इस सेक्‍टर को लेकर काफी उत्‍साहित हैं। उन्हें उम्मीद है कि अगले पांच वर्षों में स्पेशलिटी केमिकल्स में भारत की हिस्सेदारी दोगुनी हो जाएगी। पिछले पांच वर्षों में रासायनिक क्षेत्र ने निवेशकों के लिए प्रभावशाली संपत्ति बनाई है क्योंकि अधिकांश स्टॉक कई गुना हो गए हैं।

एक लाख के बना दिए करीब 5 लाख रुपए
एक साल पहले यानी 10 सितंबर को कंपनी का शेयर 130 रुपए का था। अगर किसी निवेशक ने 130 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से एक लाख रुपए का निवेश किया होता तो 769 शेयर मिलते। जिनकी वैल्‍यू 645 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से उसकी वैल्‍यू करीब 5 लाख रुपए हो गई होती। वहीं बात मौजूदा साल की बात करें तो 11 जनवरी को कंपनी का शेयर 160 रुपए था। एक लाख के निवेश पर 625 शेयर मिलते। जिनकी वैल्‍यू 4 लाख रुपए से ज्‍यादा हो गए होंगे।

पढें Personal Finance समाचार (Personalfinance News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X