Bloomberg Billionaires Index : Elon Musk, Jeff bezos, Bill Gates के 100 अरब डॉलर के क्‍लब शामिल हुए मुकेश अंबानी

Bloomberg Billionaires Index की लिस्‍ट में मुकेश 100 अरब डॉलर की नेटवर्थ रखने के बाद भी दुनिया के 11 वें सबसे अमीर शख्‍स हैं। उनसे ऊपर दुनिया के सबसे मशहूर इंवेस्‍टर वॉरेन बफे है।

Mukesh Ambani
ब्‍लूमबर्ग बिल‍ेनियर्स इंडेक्‍स के अनुसार मुकेश अंबानी की कुल संपत्‍त‍ि 96.8 बिलियन डॉलर हो गई है। (Indian Express Archive)

Bloomberg Billionaires Index के अनुसार, एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी अब जेफ बेजोस और एलन मस्क, मार्क जुकरबर्ग, बिल गेट्स के साथ दुनिया के उस इलीट वेल्थ क्लब में शामिल हो गए हैं जिनके पास कम से कम 100 बिलियन डॉलर की संपत्ति हैं। अब वो दुनिया के 11 वें सबसे अमीर शख्‍स हैं जिनके पास 100 अरब डॉलर या उससे ज्‍यादा की संपत्‍त‍ि है। उनसे पहले वॉरेन बफे दसवे पायदान पर हैं। वहीं एलन मस्‍क की संपत्‍त‍ि 222 अरब डॉलर पहुंच गई हैं। दुनिया के किसी भी शख्‍स के पास इतनी संपत्‍त‍ि कभी नहीं रही। आपको बता दें क‍ि इस साल एलन मस्‍क की संपत्‍त‍ि में 50 अरब डॉलर से ज्‍यादा का इजाफा देखने को मिला है। जबकि मुकेश अंबानी की नेटवर्थ में 23 बिलियन डॉलर की बढ़ोतरी देखने को मिली है।

जानिए किस अरबपति के पास है कितनी संपत्‍त‍ि

अरबपति का नाम कुल संपत्‍त‍ि (बिलियन डॉलर में) इस साल कितना हुआ इजाफा (बिलियन डॉलर में)
एलन मस्‍क 22252.4
जेफ बेजोस 1910.549
बर्नार्ड अरनॉल्‍ट 15641.2
बिल गेट्स 128-3.81
लैरी पेज 12542.1
मार्क जुकरबर्ग 12319.5
सर्जी ब्रि‍न 12040.3
लैरी एलिसन 10828.6
स्‍टीव बॉल्‍मर 10625.3
वॉरेन बफे 10315.7
मुकेश अंबानी 10123.8

16 सालों में कारोबार में किए कई बदलाव
2005 में अपने पिता से विरासत में मिले ऑयल रिफाइनरी और पेट्रोकेमिकल कारोबार को 64 वर्षीय मुकेश अंबानी एक रिटेल, आईटी एंड ई-कॉमर्स टाइटन में बदलने की ओर आगे बढ़ रहे हैं। उनकी टेलीकॉम यूनिट जिसने 2016 में सेवाएं शुरू की थी, अब भारतीय बाजार में प्रमुख कंपनी बन चुकी है। उनके खुदरा और प्रौद्योगिकी सब्‍स‍िडियरीज ने पिछले साल फेसबुक इंक और गूगल से लेकर केकेआर एंड कंपनी और सिल्वर लेक तक के निवेशकों को हिस्सेदारी बेचकर लगभग 27 बिलियन डॉलर जुटाए हैं।

जून में ग्रीन एनर्जी को लेकर किया था ऐलान
अंबानी ने जून में ग्रीन एनर्जी में महत्वाकांक्षी इंवेस्‍टमेंट का ऐलान किया था, जिसमें तीन वर्षों में लगभग 10 बिलियन डॉलर का नियोजित निवेश शामिल था। पिछले कहा था कि उनकी कंपनी सस्ते ग्रीन हाइड्रोजन के प्रोडक्‍शन को आक्रामक रूप से आगे बढ़ाएगी। यह योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जलवायु परिवर्तन से निपटने और ऊर्जा आयात को कम करने के लिए स्वच्छ ईंधन के लिए भारत को वैश्विक विनिर्माण केंद्र में बदलने की महत्वाकांक्षाओं के अनुरूप है।

इंडियन ब‍िलेनियर्स को हुआ सबसे ज्‍यादा फायदा
तेल-से-रसायन कारोबार अब एक अलग इकाई है, और सऊदी अरब तेल कंपनी को निवेशक के रूप में प्राप्त करने के लिए बातचीत चल रही है। भारत के अरबपति दुनिया की वेल्‍थ लिस्‍ट में सबसे बड़े लाभार्थी हैं, क्योंकि इस साल एशिया के सबसे अच्छे प्रदर्शन करने वाले प्रमुख शेयर बाजार को प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकशों में वृद्धि से बढ़ावा मिला है।

अडानी और प्रेमजी की संपत्‍त‍ि में हुआ इजाफा
कोयला-शक्ति और नवीकरणीय ऊर्जा समूह अदानी समूह के संस्थापक गौतम अदानी ने इस साल अपने वेल्‍थ में 39.5 अरब डॉलर जोड़े हैं, जबकि देश के तीसरे सबसे अमीर व्यक्ति, आईटी टाइकून अजीम प्रेमजी ने अपनी संपत्ति में 12.8 अरब डॉलर का इजाफा किया है।

पढें Personal Finance समाचार (Personalfinance News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट