scorecardresearch

इस पोस्‍ट ऑफिस की स्‍कीम में 6.6 फीसद का मिल रहा वार्षिक ब्‍याज, हर महीने आ सकती है मोटी रकम; जानें कैसे?

पोस्‍ट ऑफिस की योजनाओं में निवेश सुरक्षित माना जाता है। डाकघर की छोटी बचत योजना लोगों को निवेश पर बैंक से अधिक रिटर्न देती है। यहां पर इंडिया पोस्ट की एक ऐसी योजना के बारे में जानकारी दी जा रही है, जो 6.6 फीसद का ब्‍याज देती है।

POST office Scheme
पोस्‍ट ऑफिस की एमआईएस स्‍कीम आपको हर महीने रकम देती है (फाइल फोटो)

पोस्‍ट ऑफिस की योजनाओं में निवेश सुरक्षित माना जाता है। डाकघर की छोटी बचत योजना लोगों को निवेश पर बैंक से अधिक रिटर्न देती है। यहां पर इंडिया पोस्ट की एक ऐसी योजना के बारे में जानकारी दी जा रही है, जो 6.6 फीसद का ब्‍याज देती है। इस स्‍कीम के तहत आपके खाते में मंथली अच्‍छी रकम आ सकती है। साथ ही इस योजना में निवेश करने पर टैक्‍स बेनेफिट के साथ कई और फायदा भी दिया जाता है। इस स्कीम के बारे में आप इंडिया पोस्ट की आधिकारिक वेबसाइट indiapost.gov.in देख सकते हैं।

हाल ही में इंडिया पोस्ट ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस बचत योजना के बारे में ट्वीट किया है। ट्वीट में जानकारी दी है कि राष्ट्रीय बचत मासिक आय खाते (एमआईएस) में निवेश करें और हर महीने 6.6% वार्षिक ब्याज दिया जाता है। इस योजना के तहत मासिक निवेश करना चाहते हैं तो उन्‍हें इस योजना के तहत खाता खोलने के लिए न्यूनतम राशि 1000 रुपये है और जमा राशि 1000 रुपये के गुणकों में होनी चाहिए। एक खाते में 4.5 लाख रुपये और संयुक्त खाते में 9 लाख रुपये तक निवेश किया जा सकता है।

खाता कौन खोल सकता है?
खाता एक एकल वयस्क द्वारा खोला जा सकता है, एक संयुक्त खाता अधिकतम तीन वयस्कों (संयुक्त ए या संयुक्त बी), एक नाबालिग की ओर से एक अभिभावक / अस्वस्थ दिमाग के व्यक्ति और एक नाबालिग द्वारा आयोजित किया जा सकता है। एक खाते में मैच्‍योरिटी 10 साल के लिए होता है। ब्याज खोलने की तारीख से एक महीने के पूरा होने पर और इसी तरह परिपक्वता तक देय होगा।

डाकघर या ईसीएस में खड़े बचत खाते में ऑटो क्रेडिट के माध्यम से ब्याज निकाला जा सकता है। सीबीएस डाकघरों में एमआईएस खाते के मामले में, मासिक ब्याज किसी भी सीबीएस डाकघर में बचत खाते में जमा किया जा सकता है। जमाकर्ता के हाथ में ब्याज कर योग्य है।

यह भी पढ़ें: SBI खाताधारकों के लिए राहत! अब इस आसान तरीके से घर बैठे जनरेट कर सकते हैं डेबिट कार्ड PIN व ग्रीन पिन

खाता कब किया जा सकता है बंद
संबंधित डाकघर में पासबुक के साथ निर्धारित आवेदन पत्र जमा करके खाता खोलने की तिथि से 5 वर्ष की समाप्ति पर खाता बंद किया जा सकता है। यदि खाताधारक की परिपक्वता से पहले मृत्यु हो जाती है, तो खाता बंद किया जा सकता है और राशि नामांकित व्यक्ति/कानूनी उत्तराधिकारियों को वापस कर दी जाएगी। पिछले महीने तक ब्याज का भुगतान किया जाएगा, जिसमें धनवापसी की जाती है।

हर महीने मिलेगी रकम
इस योजना के तहत अगर कोई खाताधारक निवेश करता है तो परिपक्‍वता पूरी होने पर हर महीने के हिसाब से रकम दी जाती है। इसके तहत आप जितना निवेश करेंगे, रकम उतनी ही अधिक मिलेगी। इस स्‍कीम के तहत सालाना ब्‍याज 6.6 फीसद है। यानी हर महीने पैसा इसी ब्‍याज के तहत दिया जाएगा।

पढें Personal Finance (Personalfinance News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.