वो पांच गलतियां, जिनको करने से रिजेक्ट हो सकती है आपकी होम लोन एप्‍लीकेशन

प्रोपर रिसर्च के बिना लोन लेना आपकी वित्तीय सेहत को बिगाड़ सकता है। होम लोन के लिए आवेदन करते समय, आपको बहुत सावधान रहने की आवश्यकता है, ताकि आप किसी ऐसे लेंडर या प्रोडक्‍ट के साथ ना जाएं जो आपके लिए सही ना हो।

Home Loan
बीते एक साल में औसतन होम लोन की ब्‍याज दरें 8 फीसदी से 6.5 फीसदी पर आ गई हैं। (Photo By Indian Express Archive)

घर खरीदना एक इमोशनल और बड़ा फानेंश‍ियल फैसला होता है। लेकिन क्या हम होम लोन लेते समय पर्याप्त योजना बनाते हैं? क्या हमें पता होता है कि इंडस्‍ट्री में कौन सा होम लोन हमारे लिए सबसे बेहतर है। होम लोन लेने के लिए एनालिसिस और प्‍लानिंग की जरुरत होती है। क्योंकि यह एक लांग टर्म और कॉस्‍टली कमिटमेंट है।

प्रोपर रिसर्च के बिना लोन लेना आपकी वित्तीय सेहत को बिगाड़ सकता है। होम लोन के लिए आवेदन करते समय, आपको बहुत सावधान रहने की आवश्यकता है, ताकि आप किसी ऐसे लेंडर या प्रोडक्‍ट के साथ ना जाएं जो आपके लिए सही ना हो। एक्‍सपेर‍ियन इंड‍िया के एमडी नीरज धवन ने एक लेख में बताया है कि होम लोन का आवेदन करते समय हम सभी किस तरह की सामान्‍य गलतियां कर देते हैं।

साख का सेल्‍फ असेसमेंट ना करना
किसी भी लोन के लिए आवेदन करने से पहले पहला अनिवार्य कदम एक हेल्‍दी क्रेडिट स्कोर होना है। एक क्रेडिट ब्यूरो क्रेडिट रिपोर्ट प्रदान करता है, जो डाउनलोड करने में काफी आसान और सुविधाजनक है। 700 से ऊपर का क्रेडिट स्कोर आपको एक अनुकूल स्‍कीम की ओर ले जा सकता है।

यह आपको सर्वश्रेष्ठ बैंकों के माध्यम से लोन के लिए आवेदन करने की शक्ति भी देगा। लेंडर आपकी साख का मूल्यांकन करेंगे। खराब क्रेडिट/री-पेमेंट हिस्‍ट्री स्कोर को कम कर देगा और उधारकर्ता बेहतर होम लोन स्‍कीम्‍स के लिए पात्र नहीं होगा।

रिसर्च वर्क ना करना
होम लोन काफी आम हो गया है और आसानी से उपलब्ध हो जाता है। बढ़ती मांग के साथ, कई वित्तीय संस्थान किसी की जरूरतों को पूरा करने के लिए अनुकूलित योजनाएं प्रदान करते हैं। इसलिए, किसी विशेष संस्थान से लोन के लिए आवेदन करने से पहले उचित रिसर्च करना बहुत महत्वपूर्ण है।

घर खरीदारों को अपनी आवश्यकताओं की दोबारा जांच करने, अपने फाइनेंस की योजना बनाने, नियमों और शर्तों की जांच करने, छिपे हुए शुल्कों की पहचान करने, प्रोसेसिंग फीस और फ्लेक्सिबल री-पेमेंट ऑप्‍शंस की पहचान करने और उपयुक्त बैंक और योजना का चयन करने की आवश्यकता है। आजकल, कई वेबसाइट्स आपको विभिन्न बैंकों द्वारा दिए जाने वाले होम लोन प्रोडक्‍ट्स की तुलना करने की अनुमति देती हैं। शोध की कमी के कारण आपको अनावश्यक शुल्क या अधिक ईएमआई का भुगतान करना पड़ सकता है।

ऑप्‍टिंग शॉर्ट टेन्‍योर
जहां तक संभव हो, यह सलाह दी जाती है कि शॉर्ट टेन्‍योर के होम लोन का ऑप्‍शन न चुनें। कार्यकाल जितना छोटा होगा, ऋण राशि उतनी ही कम होगी। इससे हाई ईएमआई को देखते हुए ईएमआई के भुगतान में चूक का जोखिम भी बढ़ जाता है। पात्र राशि उम्र, क्रेडिट इतिहास और पुनर्भुगतान क्षमता जैसे विभिन्न कारकों पर निर्भर करेगी।

साथ ही, आपको अधिक राशि प्राप्त करने और अनुकूल नियम और शर्तें प्राप्त करने के लिए एक हाई क्रेडिट स्कोर और अच्छे री-पेमेंट हिस्‍ट्री की आवश्यकता होती है। लंबा कार्यकाल आपकी ईएमआई को आसान करेगा और आपके फाइनेंश‍ियल उद्देश्यों को पूरा करेगा।

चुकौती क्षमता को कम करके आंकना
आम तौर पर लोग जो सबसे बड़ी गलती करते हैं, वह यह है कि अपनी चुकौती क्षमता की गणना करते समय अपने मासिक खर्चों को शामिल नहीं किया जाता है। बैंक आमतौर पर लोन देते समय आपकी देनदारियों को देखता है। यदि आपका मासिक खर्च अधिक है और आप अधिक ईएमआई राशि के साथ होम लोन लेते हैं, तो यह एक बड़ा वित्तीय संकट पैदा कर सकता है।

आपका ईएमआई आउटफ्लो आम तौर पर आपकी आय के 30-40 फीसदी से अधिक नहीं होना चाहिए। आपको अपनी आय में वृद्धि जैसी भविष्य की घटनाओं पर निर्भर नहीं रहना चाहिए और इसके बजाय एक बड़ा लोन चुनने से पहले अपनी वर्तमान वित्तीय स्थिति पर विचार करना चाहिए। वर्तमान स्थिति को देखते हुए, हमेशा सलाह दी जाती है कि लोन के लिए आवेदन करने या महंगी संपत्ति का चयन करने से पहले अपने खर्चों को समझ लें।

कोई बीमा कवर नहीं लेना
होम लोन लेने वालों को अपने परिवार को फानेंश‍ियल क्राइसिस से बचाने के लिए उचित बीमा कवर लेना चाहिए। किसी भी अप्रत्याशित आकस्मिकता के मामले में, होम लोन बीमा परिवार को बकाया राशि का भुगतान करने में मदद कर सकता है। कई बीमा उत्पाद होम लोन को कवर करते हैं। एक राशि के लिए जीवन बीमा लें जिसमें आपकी देनदारियां शामिल हों। अपनी देनदारियों को सुरक्षित नहीं करना एक जोखिम है जिसे अधिकांश उधारकर्ता नहीं पहचानते हैं।

पढें Personal Finance समाचार (Personalfinance News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट