ताज़ा खबर
 

इन 5 इक्विटी फंड कैटेगरी ने 10 साल में कराई सबसे ज्‍यादा कमाई

पिछले एक दशक में 15-20 प्रतिशत रिटर्न देने वाली टॉप पांच कैटेगि‍रीज में सेक्टर और थीम-बेस्‍ड म्यूचुअल फंड हावी रहे हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

हमें अक्सर बताया जाता है कि डायवर्सिफाइड म्यूचुअल फंड लंबी अवधि के निवेश के लिए आदर्श होते हैं। लेकिन पिछले 10 वर्षों के अनुभव से पता चलता है कि नैरो से सेक्‍टर्स और थीम फंड ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है। रिटर्न के मामले में स्मॉल और मिडकैप फंड भी बेहतरीन रहे। जिसमें सबसे ज्‍यादा रिटर्न आईटी सेक्‍टर ने दिया है। वहीं दूसरी ओर मिड कैप और स्‍मॉलकैप फंड भी काफी अच्‍छे रहे हैं।

अगर बात फार्मा सेक्‍टर की बात करें तो बीते दस सालों में कुछ ऐसे मौके आए जब उन्‍होंने निवेशकों को काफी निराश किया, लेकिन बीते डेढ़ साल में नि‍वेशकों को काफी कमाई करा रहे हैं। साथ ही कुल्‍ मल्‍टीनेशनल फंड्स भी जिन्‍होंने निवेशकों को निराश नहीं किया है। आइए आपको भी बताते हैं के आखि‍र बीते एक दशक में निवेशकों को किस तरह का फायदा मिला है।

आईटी सेक्‍टर कराई सबसे ज्‍यादा कमाई : वैल्‍यू रिसर्च के आंकड़ों के अनुसार, आईटी सेक्‍टर पर ध्यान केंद्रित करने वाले इक्विटी फंड ने बीते 10 साल की अवधि में सबसे ज्‍यादा कमाई कराई है। इस दौरान इन फंडों ने निवेशकों को 19.7 फीसदी का रिटर्न दिया है। वहीं कोरोना काल में विप्रो, टीसीएस, इंफोसिस, एचसीएल जैसी कंपनि‍यों के शेयरो में जबरदस्‍त तेजी देखने को मिली है।

स्‍मॉल कैप शेयरों से मिला मोटा रिटर्न : स्मॉल-कैप फंड इस लिस्‍ट में दूसरे पायदान पर है। जिसने बीते एक दशक में 17.8 प्रतिशत वार्षिक रिटर्न दिया है। इन फंडों में अधिकांश लाभ मार्च 2020 के निचले स्तर से स्मॉल-कैप स्पेस में शानदार रैली के कारण है। पिछले 16 महीनों में कई स्मॉल-कैप फंडों ने 100 प्रतिशत या उससे अधिक रिटर्न दर्ज किया है।

मिडकैप शेयरों में तेजी : मिड-कैप फंड अपने स्मॉल-कैप कंपैटिटर्स से ज्‍यादा पीछे नहीं हैं। इन्‍होंने पिछले 10 वर्षों में 17.2 प्रतिशत वार्षिक रिटर्न दिया। मार्च 2020 से व्यापक मार्केट रैली ने इस फंड को रिटर्न दिलाने में काफी मदद की है।

फार्मा सेक्‍टर से मिलने वाला रिटर्न : अस्पतालों, डायग्नोस्टिक लैब, दवा निर्माताओं आदि सहित फार्मा शेयरों में विशेष रूप से निवेश करने वाले फंड ने पिछले 10 वर्षों में 16.7 प्रतिशत रिटर्न दिया। पिछले डेढ़ साल में कोविड-19 महामारी के प्रकोप के साथ, ये शेयर कुछ साल पहले की सुस्ती के बाद फिर से आगे की ओर बढ़े हैं।

मल्‍टी नेशनल कंपनीज : भारत में लिस्‍टेड मल्‍टीनेशनल कंपनीज के शेयरों पर केंद्रित फंड ने पिछले 10 वर्षों में 15.6 प्रतिशत रिटर्न दिया। लेकिन हाल के वर्षों में उनका प्रदर्शन उतना अच्‍छा नहीं रहा है। इन शेयरों के बढ़ते मूल्यांकन और घरेलू विकल्पों की उपलब्धता का मतलब है कि इन शेयरों की मांग थोड़ी कम हो सकती है।

क्‍या कहते हैं जानकार : पिछले 10 वर्षों में दिया गया रिटर्न आने वाले दशक में दोहराया नहीं जा सकता है। ये कोई दावा नहीं है। थीम और सेक्टर फंड जोखिम भरे होते हैं। अपनी जोखिम उठाने की क्षमता, लक्ष्य और अधिशेष उपलब्धता के आधार पर फंड चुनें और निवेश करें। यदि आप स्वयं निर्णय नहीं ले सकते हैं तो किसी सलाहकार या विशेषज्ञ की सहायता लें।

 

 

Next Stories
1 एलन मस्‍क के प्रोफाइल पिक बदलने से इस क्रि‍प्‍टोकरेंसी की चमकी किस्‍मत, जानिए कितनी करा रही है कमाई
2 पेंशन से जुड़े नियमों में हो सकता है बड़ा बदलाव, जानि‍ए किस तरह से हो सकेगी कमाई
3 इस सॉफ्टवेयर कंपनी ने निवेशकों को किया मालामाल, एक साल में 500 फीसदी से ज्‍यादा का दिया रिटर्न
ये पढ़ा क्या?
X