ताज़ा खबर
 

पतंजलि की ई-कॉमर्स वेबसाइट की जोरदार शुरुआत, पहले सप्ताह ही हर दिन मिल रहे 10,000 से ज्यादा ऑर्डर, जियो मार्ट से है मुकाबला

कंपनी ने कहा कि इस दौर में कॉन्टेक्टलेस डिलिवरी नई सच्चाई है और इस लिहाज से हम आने वाले समय में इस पर काम करने वाले हैं। इस नए सिस्टम में फिलहाल देश भर में फैले पतंजलि के 5,000 आउटलेट्स को शामिल किया गया है।

बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि के ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म को हर दिन मिल रहे 10,000 से ज्यादा ऑर्डर

योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि के डिजिटल प्लेटफॉर्म ‘ऑर्डर मी’ को लॉन्चिंग के साथ ही बड़े पैमाने पर ऑर्डर मिलने शुरू हो गए हैं। अमेजॉन और फ्लिपकार्ट जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों की तर्ज पर शुरू हुए इस प्लेटफॉर्म को पतंजलि समेत अन्य स्वदेशी उत्पादों की बिक्री के लिए लॉन्च किया गया है। पिछले सप्ताह ही लॉन्च हुए इस ऐप को शुरुआत से ही अच्छा रेस्पॉन्स मिल रहा है। योग गुरु बाब रामदेव के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने कहा एक वेबसाइट से बताया कि शुरुआती 4 दिनों में ही हमें ग्राहकों से जबरदस्त रेस्पॉन्स मिल रहा है और हर दिन 10,000 से ज्यादा ऑर्डर मिल रहे हैं। तिजारावाला ने कहा कि ‘ऑर्डर मी’ में दोनों अक्षरों की शुरुआत ओ और एम से होती है, जिसका संयुक्त उच्चारण ओम होता है।

कंपनी ने कहा कि इस दौर में कॉन्टेक्टलेस डिलिवरी नई सच्चाई है और इस लिहाज से हम आने वाले समय में इस पर काम करने वाले हैं। इस नए सिस्टम में फिलहाल देश भर में फैले पतंजलि के 5,000 आउटलेट्स को शामिल किया गया है। तिजारावाला ने कहा कि हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि हम विश्वसनीयता के साथ डिलिवरी कर सकें। पतंजलि के इस प्रयास से रोजगार के नए अवसर भी पैदा होने की संभावना है।

नई भर्तियों की भी है तैयारी: कंपनी का कहना है कि डिलिवरी के काम में हम आउटलेट्स के अपने स्टाफ का इस्तेमाल करेंगे, इसके अलावा कुछ और लोगों की भी भर्ती की जाएगी। कंपनी का कहना है कि उसके इस प्लेटफॉर्म से स्वदेशी सामान तैयार करने वाली अन्य संस्थाएं भी जुड़ सकती हैं। इसके अलावा अन्य कई एफएमसीजी कंपनियों के उत्पादों को भी इस प्लेटफॉर्म में शामिल किया जाएगा ताकि लोगों को हर सामान उपलब्ध हो सके।

वोकल फॉर लोकल के नारे को करेंगे साकार: पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण ने इस पोर्टल की लॉन्चिंग के दौरान कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी के वोकल फॉर लोकल के नारे को साकार करने के लिए हमने इसकी शुरुआत की है। दरअसल पतंजलि का लक्ष्य ई-कॉमर्स रिटेल सेक्टर में स्वदेशी कंपनी के तौर पर स्थापित होना है। इस सेक्टर में उसका सीधा मुकाबला अमेजॉन और फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियों से है।

पतंजलि और जियो मार्ट में मुकाबला: दिलचस्प बात यह भी है कि पतंजलि ने ऐसे समय में इस ओर कदम बढ़ाए हैं, जब रिलायंस जियो की ओर से जियो मार्ट की शुरुआत की जा रही है। दोनों ही कंपनियों ने अपनी डिलिवरी चेन में स्थानीय दुकानदारों को भी शामिल करने का फैसला लिया है।

क्‍लिक करें Corona Virus, COVID-19 और Lockdown से जुड़ी खबरों के लिए और जानें लॉकडाउन 4.0 की गाइडलाइंस।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पीएम वय वंदना योजना की तारीख अब 31 मार्च 2023 तक के लिए बढ़ी, 15 लाख जमा करने पर हर महीने मिलेंगे 8 हजार रुपये
2 ओला ने 1,400 कर्मचारियों को नौकरी से हटाया, सीईओ भाविश अग्रवाल बोले- 95 फीसदी तक घटा हमारा रेवेन्यू