ताज़ा खबर
 

पैन कार्ड और आधार कार्ड में नाम अलग है तो 31 जुलाई से पहले बदलवा लें, नहीं तो होगी ये दिक्कत

नाम में स्पेशल कैरेक्टर्स होने से नहीं हो पा रहा आधार कार्ड से पैन कार्ड लिंक।

नाम के बीच में फुल स्टॉप को पैन कार्ड का डेटाबेस पहचानता है लेकिन आधार कार्ड का नहीं। (Photo: financial express )

आप एक करदाता हैं और अभी तक आपने अपने पैन कार्ड और आधार कार्ड को लिंक नहीं कराया है तो जल्द ही करा लें। अब पैन कार्ड को आधार से लिंक कराए बिना टैक्स जमा नहीं हो पाएगा। टैक्स रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई है। के वेंकटेश एक करदाता हैं और उनको टैक्स रिटर्न फाइल करने में दिक्कत हो रही है क्योंकि उनका पैन कार्ड में नाम अलग है और आधार कार्ड में अलग है। के. वेंकटेश जब टैक्स रिटर्न फाइल करने गए तो उन्हें दिक्कत हुई जिसके बाद उन्होंने अपने अकाउंटेंट से संपर्क किया। तब अकाउंटेंट ने बताया कि पैन कार्ड और आधार कार्ड में नाम अलग होने के कारण टैक्स रिटर्न फाइल नहीं हो पा रही है। दरअसल, वेंकटेश के आगे ‘के’ का मतलब कृष्णास्वामी है जो उनके पिता का नाम है और यह आधार के रिकॉर्ड में है। पैन कार्ड में नाम अलग है इसलिए, सिस्टम ने इसे लिंक करने से इनकार कर दिया। ऐसी ही समस्या देश के लाखों लोगों के साथ हो सकती है क्योंकि टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए सरकार ने 31 जुलाई तक पैन को आधार कार्ड से जोड़ना अनिवार्य कर दिया है।

द टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक किसी भी गड़बड़ी को अब मैनुअली नहीं सुधारा जा सकता है, ऐसे में चार्टर्ड अकाउंटेंट्स से मदद मांगने वालों की भीड़ लगी है। कॉलेज लेक्चरर इगुइनी डी’सिल्वा (D’silva) की चार्टेड अकाउंटेट कोई मदद नहीं कर सके। दिक्कत यह है कि आधार स्पेशल कैरेक्टर्स को नहीं पहचानता है जबकि पैन पहचान लेता है। स्पेशल कैरेक्टर्स वाले सरनेम, मसलन D’Silva या डॉट्स वाले सरनेम की वजह से लिंक करने में दिक्कतें आ रही हैं। ऐसा ही के. एल. श्रीनिवास के साथ भी हुआ। इनके नाम के बीच में फुल स्टॉप है जिसे पैन कार्ड का डेटाबेस पहचानता है लेकिन आधार कार्ड का नहीं। के. एल. श्रीनिवास का पूरा नाम कलाकुरुची सुब्रमण्यन श्रीनिवास है। उन्होंने कहा कि हर जगह हमारे लिए नाम बदलवाना बहुत मुश्किल है तीन सेविंग बैंक अकाउंट, एक डीमेट अकाउंट, पैन कार्ड और लाइफ इंश्योरेंश पॉलिशियों में बदलवाने में बहुत दिक्कत होगी। बैंक अकाउंट के लिए केवाईसी डॉक्यूमेंट्स देने पड़ेंगे।

जो लोग अभी इसी चक्कर में लगे हैं कि टैक्स रिटर्न कैसे फाइल करनी है। उनके लिए मद्रास हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस ने एक सलाह दी है। उन्होंने कहा कि रिटर्न्स को स्पीड पोस्ट से फाइल करें उसके साथ हाल ही में आए सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर की भी कॉपी लगा दें। इसके बाद कोई भी आपकी रिटर्न को फाइल करने से इनकार नहीं कर सकता। पूर्व चीफ जस्टिस ने बताया कि इनकम टैक्स एक्ट में बिना पैन कार्ड के भी टैक्स रिटर्न फाइल करने का प्रावधान है।

 

साक्षी धोनी ने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को घेरा; एमएस धोनी की आधार डिटेल को ट्विटर पर किया गया था सार्वजनिक

पुरुषों के बराबर वेतन पाने में महिलाओं को लग जाएंगे 150 साल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App